वैलनेस
स्टोर

आयुर्वेदिक हर्ब ब्राह्मी के ये 5 अद्भुत लाभ, नहीं होने देंगे मेमोरी लॉस

Updated on: 10 December 2020, 11:51am IST
अगर आपको ऐसा लगा रहा है कि इन‍ दिनों आपका मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य कुछ गड़बड़ा रहा है, तो आपको इस आयुर्वेदिक हर्ब ब्राह्मी पर भरोसा करना चाहिए।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 77 Likes
ब्राह्मी आपके मेमोरी सेल्‍स को दुरुस्‍त रखती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

इन दिनों हर व्यक्ति जीवन की एकरसता से त्रस्त है। आपका मन और शरीर दोनों ही एक ब्रेक चाहते हैं। अफसोस रियल लाइफ में ऐसा होता नहीं है। हम हर काम छोड़ कर छुट्टी पर नहीं जा सकते, इस समय तो बिल्कुल भी नहीं।

लेकिन अच्छी बात यह है कि आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं है। आपकी मेंटल हेल्थ का इलाज आयुर्वेद के पास है। हम बात कर रहे हैं आयुर्वेदिक औषधि ब्राह्मी की।

ब्राह्मी के शारीरिक लाभ तो आप जानते ही होंगे, लेकिन मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी ब्राह्मी का बहुत महत्व है। तनाव, अवसाद और एंग्जायटी दूर करने में ब्राह्मी बहुत असरदार है।

फ्रंटियर्स ऑफ़ फार्माकोलॉजी जर्नल की स्टडी के अनुसार ब्राह्मी मस्तिष्क के सेल्स को रिवाइव करती है। ब्राह्मी का मेंटल हेल्थ पर लॉन्ग टर्म लाभ होता है, और इसका नियमित सेवन करने से वृद्धावस्था तक मस्तिष्क एकदम स्वस्थ रहता है।

इस स्टडी में पाया गया है कि ब्राह्मी में मौजूद केमिकल नर्व ट्रांसमिशन को इम्प्रूव करते हैं।

1. तनाव दूर करती है ब्राह्मी

आजकल की जीवनशैली में तनाव तो जैसे परमानेंट हो गया है। अक्सर हम समझ ही नहीं पाते कि हमारी चिंता कब तनाव का रूप ले चुकी होती है। बेवजह के मूड स्विंग, उलझन महसूस होना, चिड़चिड़ापन जैसे लक्षण दिखें, तो समझ जाइये की स्थिति हाथ से निकल रही है। और ऐसी स्थिति में ब्राह्मी अपने जीवन में शामिल कर लीजिए। ब्राह्मी में एंटीडिप्रेसेंट और एन्टी एंग्जायटी प्रोपर्टी होती हैं तो स्ट्रेस खत्म करके आपका मूड ठीक करती हैं।

अगर लगातार तनाव महसूस कर रहीं हैं तो ब्राह्मी का सेवन शुरू कर सकती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

2. अल्ज़ाइमर्स के रिस्क को कम करती है ब्राह्मी

बुजुर्गों में अल्ज़ाइमर एक खतरनाक समस्या है। चिंताजनक बात यह है कि इसका कोई इलाज नहीं है। अल्ज़ाइमर्स में मरीज़ की याददाश्त कमजोर हो जाती है, कई बार तो मरीज अपने परिवार तक को नहीं पहचान पाते।

ब्राह्मी इस बीमारी को दूर रखने में कारगर है। एविडेंस बेस्ड कॉम्ली ब मेंट्री और अल्टरनेटिव मेडिसिन जर्नल में प्रकाशित एक स्टडी में पाया गया कि रोजाना ब्राह्मी खाने से मेमोरी लॉस की समस्या पर लगाम लगाया जा सकता है।

3. मेमोरी और अटेंशन बढ़ाती है

अगर आपको बातें याद नहीं रहतीं, तो यह गिरते मानसिक स्वास्थ्य के लक्षण हैं। ब्राह्मी अपनी दैनिक डाइट में शामिल करने से आपकी मेमोरी बूस्ट होगी। ब्राह्मी मेमोरी सेल्स को स्वहस्थि रखती है जिससे आपकी मेमोरी शार्प होती है।

एपिलेप्‍सी में भी ब्राह्मी राहत देती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

4. एपिलेप्सी यानी मिर्गी में देती है राहत

मिर्गी दिमाग के ठीक तरह से काम न कर पाने के कारण होती है। इसके दौरे गम्भीर भी हो सकते हैं। फ्रंटियर इन फार्माकोलॉजी की ही एक स्टडी में पाया गया कि ब्राह्मी मिर्गी के दौरों को नियंत्रित करती है। मिर्गी के मरीजों को रोज़ाना ब्राह्मी दी जाये तो दौरे कम होंगे।

5. दिमाग को शांत करती है ब्राह्मी

ब्राह्मी हमारे मस्तिष्क को शांत रखती है। ब्राह्मी दिमाग तक ज्यादा ऑक्सीजन पहुंचाने में सहायता करती है, हार्ट रेट को संतुलित रखती है और ब्लड में भी ऑक्सीजन का स्तर बढ़ाती है। इससे आपका दिमाग शांत रहता है और मूड भी अच्छा रहता है।

पर इसे लेने से पहले आपको अपने डॉक्टभर से सलाह लेना जरूरी है। इसकी डोज आपकी मेंटल हेल्थ और आयु के हिसाब से निर्धारित होती है।

यह भी पढ़ें- प्रोबायोटिक्‍स का सेवन अवसाद में भी देता है राहत, ये हम नहीं वैज्ञानिक कह रहे हैं

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।