अगर आप भीतर से स्वस्थ नहीं हैं, तो बाहर से भी अच्छी नहीं दिखेंगी, कहती हैं सोनाक्षी सिन्हा

बॉडी शेमिंग का सामना कर चुकीं सोनाक्षी सिन्हा इस बात पर जोर देती हैं कि अंदर से स्वस्थ महसूस करना आपके फिटनेस लक्ष्यों का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होना चाहिए।
samagr swaasthy ke baare mein baat kar rahi hain sonakshi sinha
समग्र स्वास्थ्य पर सोनाक्षी सिन्हा का मंत्र। चित्र : Sonakshi Sinha
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published: 7 Jan 2022, 04:33 pm IST
  • 141

फिटनेस सिर्फ आपके शरीर के बारे में नहीं है, यह आपके मन की स्थिति के बारे में भी है। बॉलीवुड एक्ट्रेस सोनाक्षी सिन्हा, जिन्होंने फिल्म इंडस्ट्री में आने से पहले लगभग 30 किलो वजन कम किया था, इस बात से सहमत हैं।

फीवर एफएम और हेल्थशॉट्स द्वारा आयोजित एक डिजिटल कार्यक्रम बाउंस बैक भारत – द आयुर्वेद प्रोजेक्ट के लिए एक साक्षात्कार में, सोनाक्षी कहती हैं, “यदि आप अंदर से स्वस्थ नहीं हैं तो एक अच्छा शरीर होने का क्या मतलब है?”

सोनाक्षी ने लोगों से मानसिक और शारीरिक रूप से फिट रहने की अपील की

वह कहती हैं कि एक फिट शरीर के लिए मानसिक रूप से स्वस्थ रहना बहुत ज़रूरी है।

“आपको अपने सभी शारीरिक कार्यों को करने में सक्षम होना चाहिए। आपमें सहनशक्ति होनी चाहिए, आपमें ताकत होनी चाहिए और अपना और अपने आस-पास के लोगों का ख्याल रखना चाहिए … मुझे लगता है कि इसे ही हम समग्र रूप से स्वास्थ्य कहते हैं। जिस पर हमें ध्यान देना चाहिए।”

सोनाक्षी कभी भी यह स्वीकार करने से नहीं कतराती कि कैसे उन्हें सालों तक उनके वजन और बॉडी टाइप के लिए ट्रोल किया जाता रहा है। समय के साथ, उन्होंने सीखा है कि बॉस लेडी की तरह कैसे प्रतिक्रिया देनी है, लोगों को खुद से प्यार करने के लिए एक या दो सबक देने हैं।

वजन कम करना आसान नहीं है – उन लोगों से पूछें जो इसे कर चुके हैं। लेकिन हार मान लेना कभी समाधान नहीं होगा। आपको इसमें निरंतरता, दृढ़ता और अनुशासन के साथ रहना होगा। इसके अलावा, सोनाक्षी का सुझाव है कि एक ट्रायल एंड एरर मेथड आपको यह समझने में मदद करेगा कि वास्तव में आपके लिए क्या काम करता है।

“मैं जिम जाती थी, वेट लिफ्टिंग करती थी, लेकिन कभी भी संतोषजनक परिणाम नहीं मिला। फिर मैंने योग और कार्डियो की तरफ शिफ्ट किया ”। अभिनेत्री साझा करती हैं, कि जब वह कार्डियो करती थीं, तब भी उन्होंने, नृत्य और ट्रेडमिल पर दौड़ने जैसी विविधताओं की कोशिश की। लेकिन यह सब व्यर्थ था।

सोनाक्षी की वेट लॉस जर्नी में वास्तव में क्या काम आया?

पिलाटीज! यह एक स्वस्थ कसरत व्यवस्था है, जो न केवल आपके शारीरिक शरीर बल्कि आपके मानसिक स्वास्थ्य को भी लाभ पहुंचाती है। पिलाटीज के कई फायदे हैं और कई बॉलीवुड सेलेब्स इस पर भरोसा करते हैं।

Pilates karne ke fayde
फिटनेस को बरकरार रखने के लिए पिलाटीज करें। चित्र : शटरस्टॉक

जहां वर्कआउट और जिम रूटीन एक चीज थी, वहीं एक फिटनेस मंत्र जिसने सोनाक्षी के लिए अद्भुत काम किया, वह था उनका ‘कभी हार न मानने’ का जज़्बा। उन्होंने अपने उद्देश्य को पूरा करने के लिए हर संभव कसरत की कोशिश की और परिणाम संतोषजनक थे।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

वह आगे कहती हैं “मैं बहुत खुश थी, आप जब परिणाम देखते हैं, तो प्रेरित होते हैं। और जब कोई चीज आपको प्रेरित करती है, तो आप उस चीज से अपने आप जुड़ जाते हैं। इसलिए, आप इसके बारे में सकारात्मक महसूस करते हैं और अपने वांछित परिणाम प्राप्त करते हैं।”

ये फिटनेस पर दिलचस्प सबक हैं जो सोनाक्षी ने हमारे साथ साझा किए हैं। हम आशा करते हैं कि आप इस ज्ञान का उपयोग अपने दैनिक जीवन में जरूर करेंगे।

यह भी पढ़ें : रोज के फिटनेस रूटीन में बदलाव चाहिए, तो फंक्शनल ट्रेनिंग है इसका विकल्प

  • 141
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख