वैलनेस
स्टोर

Parental burnout 101: जानिए क्‍या है यह और आप इससे कैसे निपट सकती हैं

Updated on: 15 June 2021, 13:40pm IST
पेरेंटल बर्नआउट निरंतर चलने वाली एक भावना है, जो बच्चों की देखभाल करने की आपकी क्षमता में बाधा उत्पन्न कर सकती है। यहां बताया गया है कि इससे कैसे निपटा जाए।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 78 Likes
पेरेंट्स अपना खयाल रखें. चित्र : शटरस्टॉक

यदि आप किसी बच्चे के माता-पिता या होने वाले माता-पिता हैं, तो आपने शायद पहले ही सुना होगा कि बच्चे की एक मुस्कान बेहद संतोषजनक और खूबसूरत होती है। कहा जाता है कि बच्चों को पालना इतना आनंददायक होता है कि मुश्किलें नजर नहीं आती हैं। खैर, यह केवल आधा सच है! पेरेंटिंग एक ऐसा कार्य है जिसकी कोई समाप्त होने की तिथि नहीं होती है, जहां फिनिश लाइन हमेशा बदलती रहती है, और काम से आप बच नहीं सकते। अब, यह बर्नआउट का कारण भी हो सकता है।

माता-पिता के रूप में, हम जीवन में हर चीज से ऊपर अपने बच्चों की जरूरतों को प्राथमिकता देते हैं। कुछ माता-पिता अपने बच्चों के साथ इस कदर जुड़ जाते हैं कि वे अपनी जरूरतों को नजरअंदाज कर देते हैं। जिसका परिणाम पेरेंटल बर्नआउट है, एक ऐसी स्थिति जिसमें आप इस हद तक थक जाते हैं कि आपको लगता है कि आपके पास अपने बच्चे को देने के लिए कुछ नहीं बचा है।

पेरेंटल बर्नआउट क्या है

यह केवल तनाव महसूस करने से कहीं अधिक है। यह थकान की निरंतर भावना है। पेरेंटल बर्नआउट शारीरिक, भावनात्मक और मानसिक थकावट का परिणाम है जो किसी के बच्चों

से जुड़ी मांग की स्थितियों के निरंतर संपर्क में आने के कारण होता है। यह उन माता-पिता में आम है जिनके बच्चे लंबी बीमारी या व्यवहार संबंधी मुद्दों समस्याएं हैं, लेकिन यह तनाव अपने बच्चे को अकेले पालने से भी शुरू हो सकता है।

पेरेंटल बर्नआउट के साथ समस्या यह है कि ज्यादातर लोग सोचते हैं कि यह पालन-पोषण का एक सामान्य हिस्सा है। इससे भी बदतर यह है कि तनाव युक्त माता-पिता यह स्वीकार करने से इनकार करते हैं कि वे थके हुए हैं। अब बात यह है कि जो हमारे पास नहीं है वह हम नहीं दे सकते।

अगर हम खुद से अलग हो गए हैं, तो हम अपने बच्चों को लगाव, प्यार और पोषण नहीं दे सकते। यदि हम तनाव में हैं, तो हम चुनौतियों का सामना करने के लिए धैर्य नहीं रख सकते। चूंकि हम माता-पिता हैं, इसलिए यह जानना हमारे ऊपर है कि बर्नआउट कब गंभीर स्तर पर पहुंच रहा है, और इसके बारे में क्या करना है।

पेरेंटल बर्नआउट की सबसे बड़ी चुनौती यह है कि हम इससे ठीक होने के लिए छुट्टी नहीं ले सकते। पेरेंटल बर्नआउट से निपटने का सबसे अच्छा तरीका आत्म-देखभाल का अभ्यास करना है। माता-पिता के रूप में अपनी देखभाल करने का तरीका खोजना एक चुनौती हो सकती है, लेकिन यह संभव है।

जानिये खुद की देखभाल करने का तरीका. चित्र: शटरस्टॉक

यहां आप क्या कर सकती हैं:

1. खुद पर ध्यान दें

हर दिन, कुछ समय निकालें (जितना आप कर सकते हैं) और केवल अपने आप पर ध्यान दें। अपने पसंदीदा शौक का अभ्यास करें, भले ही वह 10 मिनट का ही क्यों न हो। उन चीजों पर ध्यान केंद्रित करना जो आपको व्यक्तिगत रूप से खुश करती हैं, आपके आत्म-सम्मान को बढ़ाने में मदद कर सकती हैं।

2. अपनी जिम्मेदारियों को बांटें

जब पालन-पोषण की बात आती है, तो माताएं अक्सर अधिकांश जिम्मेदारियों से घिर जाती हैं। काम के बोझ को बांटने से तनाव कम करने और काम को आसान बनाने में मदद मिल सकती है।

3. अवास्तविक लक्ष्य निर्धारित करना बंद करें

माता-पिता के रूप में, हम अपने बच्चों के लिए सबसे अच्छा करने की कोशिश करते हैं। अब समय आ गया है कि आप ऐसा करना बंद कर दें और उन चीजों पर ध्यान केंद्रित करें जो वास्तव में मायने रखती हैं।

4. सहज हो जाएं

परफेक्ट बनने की कोशिश न करें। यह ठीक है अगर आप कभी-कभी गड़बड़ करते हैं क्योंकि हर कोई करता है! अपना सर्वश्रेष्ठ दें, लेकिन अपनी क्षमता से अधिक न करें क्योंकि यह केवल आपको तनाव देगा।

5. एक दोस्त के साथ मिलें

समय-समय पर अपने सबसे अच्छे दोस्त से मिलें और पुराने समय की तरह उनके साथ समय बिताएं। अपने दैनिक अनुभव उनके साथ साझा करें, यहां तक ​​कि सबसे छोटे अनुभव भी। संवाद करना और किसी ऐसे व्यक्ति के साथ रहना जो परिवार का हिस्सा न हो, लेकिन आपके जीवन का एक बड़ा हिस्सा तनावपूर्ण स्थितियों में बहुत मददगार हो सकता है।

6. मदद मांगें

पेरेंटल बर्नआउट एक गंभीर स्थिति है जिसे अनदेखा नहीं किया जाना चाहिए। बिना किसी झिझक के मदद और मार्गदर्शन लें।

तो, डियर पेरेंट्स, अपने बच्चों की देखभाल करने के लिए अपना ख्याल रखें।

यह भी पढ़ें : आइये जानते हैं कि आप अपनी बेटी को पहले पीरियड के लिए कैसे तैयार कर सकती हैं

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।