और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

जी हां तनाव से छुटकारा दिलाने में भी मददगार है पान, जानिए क्‍या कहते हैं अध्‍ययन

Published on:16 February 2021, 09:00am IST
पान खाना भारतीय परंपरा और मेहमाननवाजी का हिस्‍सा है। आप जिसे माउथ फ्रेशनर के तौर पर चबा रहीं हैं, वह असल में आपको तनाव से भी छुटकारा दिला सकता है।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 82 Likes
आपको तनाव मुक्त रखता है पान. चित्र : शटरस्टॉक
आपको तनाव मुक्त रखता है पान. चित्र : शटरस्टॉक

भारत मे पान खाने और खिलाने का रिवाज सदियो पुराना है। पुराने समय से खाना खाने के बाद पान परोसना एक रिवायत रही है। राजाओं के समय से ही भोजन तभी सम्पूर्ण माना जाता था जब, भोजन के उपरान्त स्वादिष्ट पान भी हो। लोग इसको माउथफ्रेशनर के तौर पर इस्तेमाल करते हैं। मगही और बनारसी पान विशेष रूप से।

पर क्‍या आप जानती हैं कि यह सिर्फ मुंह का जायका ही नहीं बदलता, बल्कि आपको तनाव से भी राहत दिलाता है। जी हां.. आपने बिल्‍कुल सही पढ़ा। ये हम नहीं कह रहे, बल्कि कई अध्‍ययनों में इस बात को साबित किया जा चुका है।

पान के बारे में क्‍या कहते हैं अध्‍ययन

बाली मेडिकल ऑर्गनाइजेशन (Bali Medical Organization) द्वारा किये गए एक परीक्षण के मुताबिक पान का पत्ता शरीर में तनाव कम करने में कारगर है। पान के पत्ते में एंटी-हाइपरयुरीसेमिया गुण होते हैं, जो बॉडी में यूरिक एसिड लेवल और ऑक्सिडेटिव स्‍ट्रैस को कम करने में मदद करते हैं।

पान का पत्ता तनाव को 5% तक कम कर सकता है । चित्र: शटरस्‍टॉक
पान का पत्ता तनाव को 5% तक कम कर सकता है । चित्र: शटरस्‍टॉक

इस परीक्षण में चूहों को पान के पत्ते के कुछ कण खिलाए गए। इसके बाद उनके खून में एमडीऐ (Mascular Dystrophic Association, MDA) और एसओडी (Sphincter Oddi Dysfuntion, SOD) की मात्रा देखी गयी, जो अक्सर तनाव होने पर बढ़ जाती है। परीक्षण में देखा गया कि पान के पत्ते ने बढ़ते तनाव को 5% तक कम किया।

आइए जानते हैं कि पान कैसे करता है तनाव से लड़ने में आपकी मदद

आंकड़े बताते हैं कि ऐसा सामने आया है कि दुनिया का हर सातवां व्यक्ति किसी न किसी तरह के तनाव या अवसाद से पीड़ित है। ऐसे में रोज़ पान का पत्ता चबाना इससे निकलने में मदद कर सकता है।

पान या पान के पत्ते की खुशबू हमारे सेंट्रल नर्वस सिस्टम को एक्टिवेट करती है और हमें त्वरित सुकून या राहत का एहसास करवाती है। इसके साथ ही पान के पत्ते में एरोमेटिक फेनोलिक कंपाउंड मौजूद होते हैं, जो अवसाद के जोखिम को कम कर सकते हैं। इसलिए, हर रोज़ पान खाना एक अच्छा उपाय हो सकता है।

पान में एंटी-डायबिटिक गुण भी मौजूद होते हैं. चित्र : शटरस्टॉक
पान में एंटी-डायबिटिक गुण भी मौजूद होते हैं. चित्र : शटरस्टॉक

एंटी डायबिटिक भी है पान

ऐसे ही एक अन्‍य अध्‍ययन में पान के पत्तों को सुखा कर, पीसा गया। इस पाउडर की जब जांच की गयी तो पाया गया कि पान के पत्ते में एंटी-कार्सिनोजेनिक, एंटी-डायबिटिक (anti-diabetic), एंटी-इंफ्लेमेटरी (anti-inflammatory) और एंटी बैक्टीरियल (anti-bacterial) गुण भी मौजूद होते हैं, जो तनाव के साथ-साथ अन्य शारीरिक बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं। पर ध्‍यान रहे कि पान में किसी तरह की मिठास न शामिल की जाए।

पान के पत्ते में मौजूद अन्य पोषक तत्व

85% से 90% पान का पत्ता पानी होता है, जिसका मतलब है कि ये लो कैलोरी कंपाउंड आपको हायड्रेटेड रखता है।
पान का पत्ता लो फैट और हाई प्रोटीन होता है।
पान के पत्ते में आयोडीन, पोटैशियम, विटामिन-A, B1 और B2 मौजूद होता है।
इसके अलावा पान के पत्ते से कई तरह के एसेंशियल ऑयल्स निकाले जाते हैं, जो कई रोगों से छुटकारा पाने में मदद करते हैं।
पान औषधीय गुणों से भरपूर है इसलिए पान खाना एक अच्छी आदत हो सकती है!

तो लेडीज इस बार फायरी या चॉकलेट पान की बजाए देसी पान ट्राय करें। पर सुपारी से बचकर, क्‍योंकि ये आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए जोखिमकारक हो सकती है।

यह भी पढ़ें : जी हां, हेल्‍दी फ्लर्टिंग आपको कर सकती है तनाव मुक्त, हम बता रहे हैं इसके फायदे

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।