और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

इन दिनों नींद न आना हो सकता है कोविडसोमिया का लक्षण, जानिए क्‍यों बढ़ रहा है ये

Published on:2 May 2021, 16:00pm IST
अधिकांश लोग सोने के लिए संघर्ष कर रहे हैं, विशेष रूप से महामारी की दूसरी लहर के दौरान, चिंता का स्तर बढ़ता ही जा रहा है। अपनी नींद के रूटीन को पटरी पर लाने के लिए विशेषज्ञ द्वारा दिए गए इन सुझावों को आज़माएं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 90 Likes
कोविड की बढ़ती चिंताओं के कारण आजकल लोगों को नींद नहीं आ रही। चित्र: शटरस्‍टाॅॅक
कोविड की बढ़ती चिंताओं के कारण आजकल लोगों को नींद नहीं आ रही। चित्र: शटरस्‍टाॅॅक

पिछले साल कोविड -19 हमारे जीवन में आया था, इसलिए सब कुछ उल्टा हो गया। हमारी दिनचर्या बदल गयी, और हम में से अधिकांश पर्याप्त नींद पाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। ये समस्याएं दूसरी लहर के दौरान और बढ़ गयी हैं। चिंता का स्तर आसमान छू रहा है, और लोगों के लिए भावनाओं को संभालना कठिन हो रहा है।

इस तरह के बदलावों के कारण, नींद में कमी आ गई है, भले ही हर कोई इसके लाभों को जानता है। यह न केवल शारीरिक स्वास्थ्य के लिए, बल्कि मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य के लिए भी महत्वपूर्ण है।

यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि लाखों लोग पहले से ही इन्सोमनिया से पीड़ित थे, लेकिन महामारी ने इसे और बढ़ा दिया है। अब यह कोविड सोमिया या कोविडसोमिया के नाम से जाना जा रहा है। नींद की समस्या अब और अधिक प्रमुख हो गई है, इसके कई कारण हैं – घर से काम करना, दिनचर्या में कमी और तनाव का उच्च स्तर।

ऐसा क्यों होता है

फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट, गुरुग्राम के मानसिक स्वास्थ्य और व्यवहार विज्ञान की विभागाध्यक्ष, कामना छिब्बर, का कहना है, “अगर हम वर्तमान परिदृश्य को देखें, तो चिंता, भय, आशंका और पूर्वाग्रह काफी बढ़ गया है।

इसका प्रमुख कारण तनाव है। चित्र- शटरस्टॉक।
इसका प्रमुख कारण तनाव है।
चित्र- शटरस्टॉक।

यह पूर्वाग्रह अतिरिक्त सोच की ओर जाता है। जो न केवल मूड और विचार प्रक्रियाओं को प्रभावित करता है, बल्कि नींद पर भी नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। ”

इस महामारी के दौरान बढ़ती हुई अनिश्चिता के कारण कई शारीरिक लक्षण देखने को मिल रहे हैं, जैसे – सिरदर्द, मेमोरी लैप्स और पाचन समस्याएं।

इसे कैसे ठीक किया जाए

1. एक दिनचर्या स्थापित करें

अनिश्चित परिस्थितियों में भी, एक नियमित दिनचर्या का होना महत्वपूर्ण है। एक ही वेक-अप, विंड-डाउन और बेड टाइम रूटीन सुनिश्चित करें।

“ऐसी दिनचर्या बनाएं जो आपके लिए सुविधाजनक हो जिसमें आप काम और आराम दोनों कर सकें। आप रात में मीडिया और सोशल मीडिया से दूर रहने का प्रयास करें, ताकि आपको आस-पास के सभी समाचारों से मानसिक विराम मिल सके। यह डिजिटल डिटॉक्स भी बेहतर नींद की सुविधा प्रदान करेगा।

2. सोने के लिए अपना बिस्तर आरक्षित करें

विशेषज्ञों के अनुसार, केवल नींद और सेक्स के लिए अपने बिस्तर का इस्तेमाल करना चाहिए। इसका मतलब है कि घर से काम करना आपके बिस्तर पर नहीं होना चाहिए। इसके अलावा, अपनी चादर और तकिए को बदलना, और अपने बिस्तर को नियमित रूप से बनाने से नींद में सुधार करने में मदद मिलेगी।

बिस्‍तर का इस्‍तेमाल सिर्फ सोने के लिए करें। चित्र: शटरस्‍टॉक
बिस्‍तर का इस्‍तेमाल सिर्फ सोने के लिए करें। चित्र: शटरस्‍टॉक

3. बहुत अधिक जानकारी का उपभोग न करें

छिब्बर कहती हैं – बहुत अधिक जानकारी या न्यूज़ आपके लिए नकारात्मकता का कारण बन सकती है, इसलिए इसे सिर्फ जानकारी के रूप में जानें। इसके बजाय, संगीत सुनना या ऐसी गतिविधियों को शामिल करें जो आपको ख़ुशी दें। और जो अनुभव हो रहे हैं, उनके बारे में दोस्तों और परिवार के साथ साझा करते रहें। सामाजिक समर्थन स्थितियों का सामना करने में सक्षम होने में एक लंबा रास्ता तय करेगा।”

4. पर्याप्त प्रकाश प्राप्त करें

कोशिश करें और कुछ समय प्राकृतिक प्रकाश में बिताएं, जो आपके सर्कैडियन लय पर सकारात्मक प्रभाव डालता है। दिन के दौरान अपने घर में रोशनी आने देने के लिए खिड़कियां खोलें। रात में गैजेट के उपयोग में कटौती करें।

कमरे में रोशनी की व्‍यवस्‍था भी होनी चाहिए। चित्र: शटरस्‍टॉक
कमरे में रोशनी की व्‍यवस्‍था भी होनी चाहिए। चित्र: शटरस्‍टॉक

ऐसा इसलिए है क्योंकि इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों, जैसे कि मोबाइल फोन, टैबलेट और कंप्यूटर द्वारा उत्पादित नीली रोशनी शरीर की प्राकृतिक नींद को बढ़ावा देने वाली प्रक्रियाओं में हस्तक्षेप करती है।

इसके अलावा, कोशिश करें और यथासंभव शारीरिक रूप से सक्रिय रहें, एक पौष्टिक आहार का सेवन करें, और अगर कुछ भी काम नहीं करता है तो, अपने चिकित्सक से संपर्क करें ।

यह भी पढ़ें – कोविड -19, सोशल मीडिया और मेंटल हेल्थ : जानिए इस समय क्‍या अच्छा है और क्या बुरा

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।