फॉलो

आपकी मेंटल हेल्‍थ के बारे में क्‍या कहते हैं सुबह के सपने, आइये जानें

Published on:8 October 2020, 09:30am IST
आपके सपने आपके अंतर्मन में चल रहे विचारों का ही परिदृश्य होते हैं, इसलिए आप क्या सपने देखते हैं यह आपके मानसिक स्वास्थ्य के बारे में बहुत कुछ कहता है।
विदुषी शुक्‍ला
  • 83 Likes
आपके मानसिक स्वास्थ्य के बारे में क्या कहते हैं आपके सपने?चित्र- शटरस्टॉक

सोते वक्त हमारा शरीर आराम कर रहा होता है, लेकिन दिमाग चलता रहता है, यही कारण है कि हमें सपने दिखाई पड़ते हैं। यह सपने किसी भी विषय पर हो सकते हैं, अच्छे-बुरे, खूबसूरत-डरावने कुछ भी। अक्सर हमें यह सपने याद भी नहीं रहते या बस झलकियों में याद रहते हैं।

क्यों आते हैं हमें सपने?

सपनों के पीछे एक साधारण सा वैज्ञानिक कारण है। हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के रिसर्च पेपर के अनुसार सपने देखते वक्त हमारा दिमाग एक कलीनिंग प्रोसेस कर रहा होता है। हम जो भी देखते, सुनते या महसूस करते हैं हमारे सब कॉन्शियस दिमाग में रहता है, लेकिन हमें याद नहीं आता। दिमाग सब कॉन्शियस माइंड में मौजूद जानकारी में से काम की बातें छांट लेता है, जिसे हम याद रख पाते हैं।

मानसिक स्वास्थ्य और सपनों में क्या सम्बन्ध है। चित्र- शटरस्टॉक

यह सबकुछ आपके सपनों के दौरान ही होता है। इसलिए वैज्ञानिक मानते हैं कि आप जो भी सपने देखते हैं, वह कहीं ना कहीं आपके अनुभव में हो चुका होता है।
आपके लिए 7 से 9 घण्टे की नींद आवश्यक होती है और इसमें से सिर्फ 90 मिनट या उससे कम ही हम सपने देखते हैं।

स्ट्रेस और एंग्जायटी का असर आपके सपनों पर पड़ता है

अगर आपको बुरे सपने आते हैं, तो यह संकेत है कि आप किसी तनाव से गुजर रहे हैं। बुरे सपने याद रहना जरूरी नहीं है, लेकिन अगर आप सुबह डर के या परेशान उठें तो यह बुरे सपने के कारण ही होता है।

तनाव, खासकर कोई ताजा अनुभव जैसे किसी प्रिय की मृत्यु, ब्रेक अप, एक्सीडेंट या सेक्सुअल एब्यूज जैसी तनावपूर्ण घटनाएं बुरे सपनों का प्रमुख कारण होती हैं।

हर समय अपने आप को दूसरों से अलग-थलग महसूस करना संकेत है कि आपके दिमाग को आराम की जरूरत है। चित्र: शटरस्‍टॉक

एंग्जायटी और सपने

एंग्जायटी के शुरुआती स्टेज का भी पता सपनों से लगाया जा सकता है। एंग्जायटी की समस्या को लोग अक्सर गंभीरता से नहीं लेते या इसे चिंता और नर्वसनेस बोल कर टाल देते हैं, लेकिन एंग्जायटी उससे कहीं अधिक खतरनाक है। अगर आपको लगातार ऐसे सपने आ रहे हैं जो डरावने हैं और आपको सुबह याद रहते हैं, तो एंग्जायटी की समस्या हो सकती है।

यह भी पढ़ें-  यह स्‍टडी बताती है कि आपके सपनों को भी प्रभावित कर रहा है कोरोनावायरस, जानिए कैसे

स्लीप डिसॉर्डर

अगर आपको नींद से जुड़ी कोई भी समस्या है जैसे अनिद्रा या नारकॉलेप्सी तो आपको स्पष्ट सपने आने लगते हैं। नींद की कमी होने पर भी आपको स्पष्ट मगर बुरे सपने आते हैं जो याद रहते हैं और सच्चाई से जुड़े होते हैं। इसका कारण यह है कि दिमाग को आराम नहीं मिल पा रहा होता है जिससे दिमाग हाल फिलहाल की बातो को ही सोच रहा होता है।

अकेलापन तनाव की ओर धकेलता है। Gif: giphy

प्रेगनेंसी की शुरुआत में भी आते हैं बुरे सपने

प्रेगनेंसी में शरीर में हॉर्मोन्स का संतुलन बिगड़ जाता है जिससे नींद का पैटर्न और भावनाओं पर भी असर पड़ता है। यही कारण है कि प्रेगनेंसी के शुरुआती हफ्तों में आपको बुरे या डरावने सपने आते हैं।

अच्छे सपनों का मतलब अच्छा स्वास्थ्य हो, ऐसा जरूरी नहीं है

हालांकि अगर आपको खुशनुमा सपने आते हैं, जो सुबह तक याद नहीं रहते या आप सुबह उठकर फ्रेश महसूस करती हैं तो यह अच्छे स्वास्थ्य का परिचायक है।
अमेरिकन फ्रंटियर ऑफ साइकोथेरेपी के अनुसार अगर आपको कोई अच्छा सपना आया जो आपको सुबह तक ठीक से याद है तो यह डिप्रेशन या स्चरिज़ोफ्रेनिया जैसी मानसिक समस्याओं के भी लक्षण हो सकते हैं।

आपके सपने आपके स्वास्थ्य के बारे में बहुत कुछ कहते हैं, बस आपको उन्हें समझने की जरूरत होती है। कई बार आपके सपने आपके दिमाग का मदद मांगने का तरीका होता है। अगर लगातार बुरे सपने आ रहे हैं या सुबह उठकर बेचैनी होती है तो किसी स्लीप डॉक्टर या थेरेपिस्ट से मिलें।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

विदुषी शुक्‍ला विदुषी शुक्‍ला

पहला प्‍यार प्रकृति और दूसरा मिठास। संबंधों में मिठास हो तो वे और सुंदर होते हैं। डायबिटीज और तनाव दोनों पास नहीं आते।