ऐप में पढ़ें

रिश्ते को नुकसान पहुंचा सकती है संवाद की कमी, जानिए इसे बेहतर बनाने के उपाय

Published on:5 October 2021, 17:41pm IST
एक अच्छा संवाद सफल संबंधों की आधारशिला माना जाता है। यहां बताया गया है कि ब्रेकडाउन की स्थिति में आपको क्या करना चाहिए।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 123 Likes
Relation ko harm karta hai stress
रिश्ते को नुकसान पहुंचा सकता है तनाव। चित्र : शटरस्टॉक

रिश्तों में टकराव कई कारणों से हो सकता है। मगर ऐसा देखा गया है कि संवाद की कमी ‘टॉक्सिक’ या अनहेल्दी रिलेशन्स के पीछे का मुख्य कारण होती है। रिश्ते में संवाद की कमी उसके अस्तित्व को खतरे में डाल सकती है। आमतौर पर, बातचीत नहीं होने के दो कारण होते हैं – दोनों भागीदारों ने महत्वपूर्ण चीजों के बारे में पूरी तरह से बात करना बंद कर दिया है या दोनों भागीदारों के बीच एक सामान्य चर्चा नहीं हो सकती है, क्योंकि यह लड़ाई में बदल जाती है।

ऐसे जोड़े जो जान बूझकर एक-दूसरे के साथ संवाद नहीं कर पाते हैं, उनमें अक्सर इंटीमेसी की कमी होती है। कई पार्टनर्स को यह बकवास लग सकता है, मगर वास्तव में यह रिश्तों को बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण है।

क्यों हो जाती है रिश्तों में संवाद की कमी

1 भरोसे की कमी

पारदर्शिता और विश्वास एक सफल रिश्ते के आधार स्तंभ हैं। जब वे गायब हो जाते हैं, तो बातचीत में कमी आ सकती है। रिश्तों में पारदर्शिता अच्छे संवाद की कुंजी है।

 rishte mein tanaav laa sakti hai samvaad ki kami
संवाद की कमी रिश्ते में तनाव ला सकती है। चित्र : शटरस्टॉक

2 व्यस्त जीवनशैली

एक-दूसरे के लिए समय निकालना मुश्किल हो सकता है, जब दोनों साथी हर समय काम करने में व्यस्त हों। वक़्त न मिलना, काम का स्ट्रेस, यहां तक कि अपनी टीम या मैनेजर के साथ कठिन संबंध भी एक अंतरंग संबंध को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकते हैं।

ऐसी स्थितियों में, लोग रिश्ते में दूसरे व्यक्ति को बोझ के रूप में देखने लगते हैं। इससे रिश्तों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है।

3 एक दर्दनाक घटना

एक बाहरी झटका या आघात किसी रिश्ते की गतिशीलता को तेजी से बदल सकता है। आघात या बाहरी झटके में शामिल हो सकते हैं:

हानि या शोक
अचानक बेरोजगारी
स्वास्थ्य समस्याएं या बीमारी
दुर्घटना

अचानक हुई दर्दनाक घटना व्यक्ति को बदल सकती है। यह किसी व्यक्ति के अपने जीवनसाथी, परिवार और दोस्तों के साथ संचार को भी प्रभावित कर सकता है।

4 अनहेल्दी पैटर्न

रिश्तों में संवाद तब भी टूट सकता है जब एक या दोनों साथी व्यवहार के अनहेल्दी पैटर्न में संलग्न हों। इसमें शामिल हो सकते हैं:

दैनिक बातचीत में हमेशा साथी को चोट पहुंचाने की कोशिश करना
व्यक्तित्व की लगातार आलोचना
वाद-विवाद में रक्षात्मक होना
एक-दूसरे के साथ खुलने या स्पष्ट रूप से बोलने से इनकार करना
रिश्तों में अनुचित संचार के प्रभाव
अकेलापन
पार्टनर का नेगेटिव नजरिया बनाना
अंतरंगता की कमी
खोया या अनदेखा महसूस करना
लक्ष्य तक पहुंचने में कठिनाई

जरूरत से ज्‍यादा निर्भरता आपको परेशान कर सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक‍

रिश्तों में बातचीत की कमी को ठीक करने के तरीके

1 अधिक सुनें, कम बोलें:

जब भावनाएं तेज हो रही हों, तो हर व्यक्ति अपनी बात व्यक्त करना चाहता है, जिससे ऐसी स्थिति पैदा हो जाती है, जहां किसी को वास्तव में बातचीत में कोई दिलचस्पी नहीं होती है। बातचीत में लगातार रुकावट एक संकेत है कि दोनों में से कोई यह नहीं सोचता है कि दूसरे व्यक्ति के पास कुछ खास है। रिश्ते को बेहतर बनाए रखने के लिए अपनी राय रखने के साथ-साथ दूसरे व्यक्ति की राय को भी अहमियत दें।

2 पिछले मुद्दों को संबोधित करें:

जोड़ों के ठीक से संवाद करने में विफल होने के सामान्य कारणों में से एक यह है कि उनके रिश्ते में कुछ दर्दनाक या पीड़ादायक घटा है, जिसका अभी तक समाधान नहीं हो सका है। इस तरह की आहत करने वाली घटनाओं पर बात करना ज़रूरी है। फिर से एक-दूसरे को क्षमा करना भी महत्वपूर्ण है।

3 अनुचित टिप्पणियों से बचें:

प्रभावी संचार आसानी से समाप्त हो जाता है जब किसी रिश्ते में एक व्यक्ति अनुचित टिप्पणी करता है। खासकर ऐसी स्थितियां जिन्हें कभी हल नहीं किया गया था। जोड़ों को प्यार से अपना पहला नाम पुकारकर एक-दूसरे को संबोधित करने का प्रयास करना चाहिए। क्रोध को कम करने की यह एक कारगर तकनीक है।

यह भी पढ़ें : आपके सोने का अंदाज बताता है कि कैसा है पार्टनर के साथ आपका रिश्ता

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।