Space vs Cheating : जानिए आप ये कैसे तय करेंगी कि आपका पार्टनर स्पेस ले रहा है या चीटिंग कर रहा है

Published on: 25 June 2022, 19:30 pm IST

जितना दो अलग-अलग व्यक्तियों की पसंद का अलग होना सामान्य है उतना ही उनके दोस्त, शौक और प्रायोरिटीज़ का अलग होना भी सहज है।

चीटिंग और पर्सनल स्पेस के बीच का अंतर समझना है जरूरी, चित्र: शटरस्टॉक

 

रिश्ते में होना एक बेहद खूबसूरत एहसास है। एक दूसरे के लिए  समय निकालना, किसी का सब कुछ आपसे बेहिचक साझा करना और छोटी से छोटी बात शेयर करने के लिए आपके पास एक कम्पैनियन का होना आपको एक अलग स्पेशल फीलिंग देता है। पर बात तब बिगड़ने लगती है, जब दो लोगों को ये लगने लगे कि वे एक ऐसे अलिखित समझौते में आ गए हैं जिसमें आपको एक-दूसरे के साथ हर समय चिपके रहना चाहिए। और जब कोई एक ऐसा नहीं कर पाता, तो दूसरा खुद को ठगा हुआ महसूस करता है। पर क्या ये वाकई चीटिंग है? क्या है रिश्ते में चीटिंग या स्पेस (Cheating vs Personal space) के बीच की सीमा रेखा? आइए समझने की कोशिश करते हैं।  

आत्मीयता के बावजूद स्पेस है जरूरी 

आपको यह याद रखने की जरूरत है कि एक कपल होने के अलावा आप दो अलग-अलग व्यक्ति भी हैं, जिनकी अलग-अलग प्राथमिकताएं, आकांक्षाएं  और डिमांड्स हैं। ऐसे में ज़रूरी है एक-दूसरे को स्पेस देना और समझना कि यह एक हेल्दी रिश्ते के लिए कैसे और कितना ज़रूरी है। ऐसे में एक सवाल यह भी है कि रिलेशनशिप में कितनी स्पेस नॉर्मल है।

एक रिश्ते में पर्सनल स्पेस के महत्व को अक्सर नजरअंदाज कर दिया जाता है। जबकि अलग-अलग समय बिताना कभी-कभी उतना ही महत्वपूर्ण होता है, जितना कि एक साथ समय बिताना। किसी एक पार्टनर को यह लग सकता है कि आपको उसे सारी बातें बतानी चाहिए। आपका सारा हंसी-मज़ाक, मदद की अपेक्षा सब उससे ही होनी चाहिए। अधिकांश जोड़ों को यह नहीं पता कि एक रिश्ते में पर्सनल स्पेस के साथ क्या करना है और इसी के बारे में हम बात करेंगे।

रिलेशनशिप में कितनी स्पेस नॉर्मल है? 

जब तक दो लोगों को अपने-अपने काम करने को मिलते हैं, जो करना उन्हें अच्छा लगता है, एक रिश्ते में वह पर्सनल स्पेस सामान्य है।

जयपुर की क्लिनिकल साइकोलॉजिस्ट सुनीता पाण्डेय की मानें तो एक साथी को पढ़ने में मज़ा आ सकता है और दूसरे साथी को फ़ुटबॉल देखना पसंद हो सकता है। तो रात के खाने के बाद अगर कोई पढ़ता है और दूसरा फुटबॉल देखता है तो यह बिल्कुल ठीक है। यह मी टाइम के साथ रिलैक्स करने का एक शानदार तरीका है। रिश्ते में किसी को स्पेस देना बहुत जरूरी होता है।

emotional cheating
क्या पार्टनर के अलावा किसी अन्य सीक्रेट शेयर करना चीटिंग है?चित्र : शटरस्टॉक

क्या आजादी का मतलब चीटिंग है? 

रिश्ते में स्पेस देना या पाना अच्छा होता है, जब यह आपको एक हेल्दी रिश्ते की सीमा को बनाए रखने में मदद करता है और आप व्यक्तिगत तौर पर और एक जोड़े के रूप में भी विकसित हो सकते हैं। ऐसे में यह ज़रूरी है कि रिश्ते में मौजूद दोनों पक्ष यह समझें कि सीमा रेखा कहां तय की जानी चाहिए। 

पर इसी आज़ादी का नाजायाज इस्तेमाल कभी-कभी चीटिंग तक पहुंच जाता है। अकसर, सेक्स और सेक्सटिंग दो ऐसे मुद्दे हैं जो जोड़ों के बीच विवाद का कारण बनते हैं। 

क्या, कितना, कैसे और किससे, कहा जाए इसकी सीमा तय होनी चाहिए। पर अगर दोनों पार्टनर किसी भी मुद्दे पर सहमत हों, तो यह चीटिंग नहीं रह जाती। हेल्दी और पब्लिक प्लेस पर किसी की तारीफ़ करना या पार्टनर के अलावा किसी अन्य के साथ पर्सनल स्पेस शेयर करना चीटिंग नहीं है।

यह भी ध्यान रखें 

पार्टनर आपका दोस्त होना चाहिए। पर यह बिलकुल ज़रूरी नहीं कि सिर्फ पार्टनर ही आपका दोस्त हो। दोनों बिलकुल अलग-अलग बातें हैं और पार्टनर और दोस्त या बेस्ट फ्रेंड अलग-अलग हो सकते हैं। 

दूसरी तरफ अगर लाइन क्रॉस हो रही, और कपल के तौर पर आप दोनों की पर्सनल स्पेस में अगर घुसपैठ हो रही हो, आपका पार्टनर इग्नोर हो रहा हो या उसकी भावनाओं को ठेस पहुंच रही हो, तो पार्टनर को समझाने, उनकी भावनाओं को बेहतर तरीके से समझने और रिश्ते में ट्रांसपेरेंसी लाने की कोशिश ज़रूर करें।

एक रिश्ते में स्पेस के साथ डील करना कुछ ऐसा है, जो एक कपल समय के साथ सीखता है और अंत में इस निष्कर्ष पर पहुंचने में कुछ महीने और साल भी लग जाते हैं कि उनके लिए कितनी पर्सनल स्पेस काम करती है। लेकिन इस मुकाम पर आने के लिए सबसे पहले रिश्ते में स्पेस की अहमियत को स्वीकार करना होगा।

यह भी पढ़ें:हार्ट हेल्थ से लेकर वज़न कम करने तक, आपके समग्र स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं भांग के बीज

 

शालिनी पाण्डेय शालिनी पाण्डेय

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें