और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

क्‍या आप हर काम जल्‍दबाजी में करती हैं, तो जानिए क्‍या होता है आपके मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य पर इसका असर

Published on:10 April 2021, 13:30pm IST
बहुत तेज चलना, जल्‍दी खाना खत्‍म करना, तुरंत ईमेल या मैसेज का जवाब देना आपकी स्‍पीड को दर्शाता है, पर लंबे समय तक ये आपके मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत सकारात्‍मक साबित नहीं होता है।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 85 Likes
हर बात में जल्‍दबाजी मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छा संकेत नहीं है। चित्र: शटरस्‍टॉक
हर बात में जल्‍दबाजी मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छा संकेत नहीं है। चित्र: शटरस्‍टॉक

अध्ययन के अनुसार, हम अपने माता-पिता या दादा-दादी की तुलना में तेजी से चलना शुरू करते हैं। अब दस साल से भी कम उम्र के बाद हम 18 मीटर की यात्रा बस एक सेकंड में कर लेते हैं। हालांकि पैदल चलना आमतौर पर स्वास्थ्य से जोड़ कर देखा जाता है। मगर यह आपकी मन:स्थिति के बारे में भी बहुत कुछ कहता है।

हम जीवन शैली के रूप में तेज चलने के दूसरे पक्षों के बारे में जानने को लेकर उत्सुक रहते हैं। इसके लिए हमने विभिन्न शोधों का अध्ययन किया और एक विश्‍लेषणात्‍मक जानकारी प्राप्त की। जिसके आधार पर यहां हम आपके साथ साझा कर रहे हैं कि निरंतर जल्द-बाजी में रहना और तेज चलना कैसे आपके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है।

जल्दबाजी में रहना हमारे स्वास्थ्य के लिए बुरा हो सकता है

पैदल चलना और एक सक्रिय जीवन शैली हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छी है, वहीं इसका एक और पहलू भी है। एक सर्वेक्षण ने 32 देशों में लोगों के चलने की गति की जांच की और पाया कि आधुनिक जीवन हमें तेज और जल्दी चीजों को करने की ओर धकेल रहा है।

जल्‍दबाजी में काम करने से आपके मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य को नुकसान पहुंचता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
जल्‍दबाजी में काम करने से आपके मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य को नुकसान पहुंचता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

विशेषज्ञों का कहना है, कि यह बहुत तनावपूर्ण हो सकता है। ये हमारे हृदय की स्थिति पर कुछ नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है।

प्रोफेसर रिचर्ड वाइसमैन ने एक दिलचस्प प्रयोग किया। उनकी टीम ने उस समय को मापा, जिसमें 35 पुरुषों और 35 महिलाओं को हाथ में एक सेल फोन पकड़े हुए और शॉपिंग बैग से जूझते हुए चलना पड़ा।

वे कहते हैं, बात यह है कि जब आप किसी व्यक्ति को गति देते हैं, तो वे खुद की देखभाल करना बंद कर देते हैं। उन सभी कॉल्स और ई मेल्स के चलते, हमें यह पता नहीं चल सकता है कि हमारे आसपास क्या चल रहा है। और अगर कोई 20 मिनट में आपको जवाब नहीं देता है, तो आप सोचना शुरु कर सकते हैं “यह क्‍यों हुआ?”

अच्‍छे मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए इन संकेतों को पहचान कर धीमा करने की है जरूरत 

  1. आप बहुत तेज बोलते हैं
  2. आपको ऐसा महसूस होता है कि कोई व्यक्ति जल्दी से आपके पास आने वाला है। जबकि उसे बिंदु पर पहुंचने में लंबा समय लगता है।
  3. आप अपना भोजन सबसे पहले खत्म करते हैं
  4. सड़क पर चलते हुए जब दूसरे लोगों के पीछे फंस जाते हैं, तो आप निराश हो जाते हैं।
  5. अगर आप एक घंटे तक बैठकर कुछ न करें, तो आप चिढ़ जाते हैं।
  6. भीड़ होने पर आप रेस्तरां या दुकान छोड़ देते हैं, भले ही वहां सिर्फ दो-चार लोग ही हों।

आप क्रोनिकली मल्टीटास्किंग के भी हो सकते हैं परिणाम 

मल्टीटास्किंग में कुछ भी गलत नहीं है, लेकिन मनोवैज्ञानिक कहते हैं कि जब इसकी गुणवत्ता पुरानी हो जाती है, तो यह हर बार समय का कुशलता से उपयोग नहीं कर पाती।

मल्टीटास्किंग मानसिक स्वास्थ्य पर बहुत गहरा प्रभाव डाल सकती है। चित्र-शटरस्टॉक।
मल्टीटास्किंग मानसिक स्वास्थ्य पर बहुत गहरा प्रभाव डाल सकती है। चित्र-शटरस्टॉक।

आप बस करने के लिए चीजों से अभिभूत हो जाते हैं और गलतियां कर सकते हैं। हम अपने खुद की समय सीमा से मिलते हैं और फिर हम दौड़ते हैं।

परिणामस्वरूप, हम तेजी से चलते हैं और तेजी से बोलते हैं। इस तनाव का भावनात्मक प्रभाव भारी हो सकता है, जिससे निराशा और उदासी हो सकती है।

यदि आप एक ही समय में कई कार्यों में शामिल हो जाते हैं, तो विशेषज्ञ कुछ तकनीकों का सुझाव देते हैं, जो आपको अधिक आराम देने में मदद कर सकती हैं:

अगर आपको देर होने पर बहुत तनाव महसूस होता है, तो जल्दबाजी छोड़ने की आदत डालें।

अपने कार्यों को प्राथमिकता दें।

अपने यूसेज टाइम (usage time) को सीमित करें और याद रखें कि थोड़ी देर बाद जवाब देना ठीक है। आपको हर समय तुरंत जवाब देने की आवश्यकता नहीं है।

यह भी पढ़ें – वर्क फ्रॉम होम से परेशान हो गईं हैं, तो जानिए इसे बेहतर और अनुशासित बनाने के 6 उपाय

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।