केवल शारीरिक मजबूती ही नहीं, आपके मानसिक विकास के लिए भी महत्वपूर्ण है विटामिन डी

Published on: 23 January 2022, 21:00 pm IST

विटामिन डी की कमी (Vitamin D deficiency) न केवल आपकी हड्डियों को कमजोर करती है, बल्कि आपके मानसिक विकास को भी प्रभावित कर सकती है।

vitamin D aur obesity
पतली महिलाओं को ज़्यादा विटामिन डी की ज़रूरत नहीं होती है। चित्र:शटरस्टॉक

आपके पूरे नर्वस सिस्टम में विटामिन डी रिसेप्टर्स का स्थान है। इसके कारण, शोधकर्ताओं ने जाना है कि विटामिन डी का संज्ञानात्मक बुद्धि, याद्दाश्त और यहां तक ​​​​कि मूड पर भी एक दशक से अधिक समय से प्रभाव पड़ता है। हालांकि, व्यक्तियों पर किए गए कई अध्ययनों के अनुसार पर्याप्त विटामिन डी मानसिक विकास के लिए महत्वपूर्ण है। यहां जानिए विटामिन डी की कमी (Vitamin D deficiency) कैसे आपकी मेंटल हेल्थ को प्रभावित कर सकती है।

विटामिन डी और मानसिक स्वास्थ्य (Vitamin D and mental health) 

इंटरनेशनल जर्नल ऑफ एनवायरनमेंटल रिसर्च एंड पब्लिक हेल्थ में प्रकाशित एक अध्ययन में देखा गया कि स्वस्थ रूप से बढ़ने वाले वयस्कों में संज्ञानात्मक कार्य और पर्याप्त विटामिन डी के स्तर के बीच सकारात्मक संबंध मिले है।

पिछले 20 वर्षों के दौरान, मस्तिष्क स्वास्थ्य संबंधी बहुत सारे शोधों ने विटामिन डी और संज्ञानात्मक कार्य पर ध्यान केंद्रित किया है। इन अध्ययनों के माध्यम से, शोधकर्ताओं ने पाया है कि इस आवश्यक फैट सॉल्युबल पोषक तत्व का स्वस्थ स्तर न्यूरॉन्स के बीच जानकारी ट्रांसफर करने में मदद करते हैं।

Sahi diet ke saath vitamin D bhi jaroori hai
सही आहार के साथ विटामिन डी भी महत्वपूर्ण है। चित्र:शटरस्टॉक

यह ब्रेन के सेल्स की इम्युनिटी को भी बढ़ाते हैं। यहां तक ​​​​कि न्यूरॉन्स की संरचना और कार्य की रक्षा करता है विटामिन डी। यह विशेष रूप से अच्छी स्मृति के लिए महत्वपूर्ण है। विज्ञान भी इस विषय में स्पष्ट है कि जब नर्वस सिस्टम के दैनिक कार्य की बात आती है तो विटामिन डी एक प्रमुख खुराक होता है।

विटामिन डी और मानसिक स्वास्थ्य के बीच के संबंध का परीक्षण

अध्ययन के अनुसार जिन लोगों ने विटामिन डी की पर्याप्तता हासिल की है उनमें संज्ञानात्मक कार्य का विश्लेषण करने की क्षमता अधिक होती है। इसलिए, इंटरनेशनल जर्नल ऑफ एनवायर्नमेंटल रिसर्च एंड पब्लिक हेल्थ स्टडी ने स्वस्थ मध्यम से वृद्ध वयस्कों में संज्ञानात्मक प्रदर्शन और विटामिन डी के स्तर के बीच संबंधों का पता लगाया।

इस अध्ययन में पुरुष एवं महिलाओं के मौजूदा विटामिन डी स्टार का डाटा लिया गया। इसके बाद उन्हें एक हफ्ते तक रोजाना के मुकाबले अधिक विटामिन डी की खुराक दी गई। यह बढ़ते विटामिन डी के स्तर के साथ मानसिक परेशानियों को कम करने के रूप में भी देखा गया।

विटामिन डी के बढ़े हुए (यानी, पर्याप्त) स्तर वाली महिलाओं में बेहतर वैश्विक अनुभूति (यानी, समग्र संज्ञानात्मक कार्य) और लंबे समय तक ध्यान देने की अवधि थी। पुरुषों में, पर्याप्त विटामिन डी स्तर भी बेहतर ध्यान सटीकता से जुड़े थे।

Mental health ke liye vitamin D
मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है विटामिन D। चित्र : शटरस्टॉक

इस अध्ययन ने संज्ञानात्मक प्रदर्शन और विटामिन डी की स्थिति के बीच संबंध बताया। शोधकर्ताओं ने निर्धारित किया कि विटामिन डी का एक सप्लीमेंट या रोजाना 1 घंटे सुबह की धूप बेहतर संज्ञानात्मक कार्य को बढ़ावा देने और संरक्षित करने में मदद करता है। यह महिलाओं को खासकर प्रभावित करता है।

तो लेडीज, जीवन भर विटामिन डी की पर्याप्तता बनाए रखना मस्तिष्क स्वास्थ्य का समर्थन करने के लिए महत्वपूर्ण है।

ये खाद्य पदार्थ हो सकते हैं विटामिन डी के बेहतरीन स्रोत

विटामिन डी प्रदान करने वाले खाद्य पदार्थों में शामिल हैं:

  1. वसायुक्त मछली, जैसे टूना, मैकेरल, और सैल्मन (Fatty fish)
  2. कुछ डेयरी उत्पाद, जैसे पनीर, दूध, दही (Milk products)
  3. संतरे का रस (Orange juice)
  4. कोड लीवर ऑयल (Cod liver oil)
  5. अंडे (Eggs)
  6. सोया दूध (Soy milk)
  7. चीज (Cheese)
  8. साबूत अनाज (Whole grains)

यह भी पढ़ें: संतोष सबसे बड़ा धन है, इसे पाने में आपकी मदद करेंगे ये 6 मंत्र

अदिति तिवारी अदिति तिवारी

फिटनेस, फूड्स, किताबें, घुमक्कड़ी, पॉज़िटिविटी...  और जीने को क्या चाहिए !

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें