जानिए क्या है ट्रिप्टोफैन, जो तनाव दूर करने से लेकर अच्छी नींद देने तक में हो सकता है मददगार

Updated on: 24 February 2022, 17:16 pm IST

हर कोई जानता है कि रात में ली गयी अच्छी नींद आपको अगले दिन के लिए तैयार करती है। लेकिन अगर आपका स्लीपिंग पैटर्न बिगड़ गया है, तो एक्सपर्ट के पास इसका उपाय है।

high fibar food sabhi ke liye nahi hota
हाई फाइबर फूड की मात्रा सीमित रखनी चाहिए। चित्र : शटरस्टॉक

सोने से पहले हाथ-मुंह धोना, ध्यान करना, कमरे का वातावरण सही रखना – अच्छी नींद पाने के कई तरीके हो सकते हैं। मगर हर बार बाहरी बदलाव से आप स्लीपिंग पैटर्न को नहीं सुधार सकते हैं। कभी-कभी आपको अपने अंदर बदलाव करने की जरूरत होती है। जबकि निश्चित रूप से इसका कोई इलाज नहीं है। लेकिन सही सप्लीमेंट रात की स्वस्थ आदतों के साथ जोड़े जाने पर उच्च गुणवत्ता वाली नींद का समर्थन कर सकता है।

कई पोषक तत्व अच्छी नींद की गुणवत्ता को बढ़ावा देते हैं और आपके मूड का समर्थन करते हैं। ऐसे ही एक खास पोषक तत्व के बारे में बता रहीं हैं हमारी एक्सपर्ट। फिसिको डाइट क्लिनिक की संस्थापक और आहार विशेषज्ञ विधि चावला ने हेल्थशॉट्स को बताया कि ट्रिप्टोफैन आपकी नींद की गुणवत्ता को बढ़ाने में सक्षम है।

पहले समझिए क्यों जरूरी है अच्छी और गहरी नींद 

विधि कहती हैं, ” यह कोई रहस्य नहीं है कि एक उचित स्लीपिंग पैटर्न की कमी से जीवनशैली से जुड़ी कई बीमारियां हो सकती हैं। तकनीकी उपयोग के वर्तमान रुझानों के साथ-साथ आहार संबंधी कमियों की वजह से अच्छी और गहरी नींद एक सपने की तरह लगती है। आपके शरीर को सभी कार्यों के लिए ऊर्जा की आवश्यकता होती है, और इसमें स्वयं को अच्छी नींद देना भी शामिल है। शरीर में कुछ पोषक तत्वों और खनिजों की कमी से सोना मुश्किल हो सकता है।”

और ट्रिप्टोफैन क्या है?

ट्रिप्टोफैन, एक अमीनो एसिड है, जो कई खाद्य पदार्थों और सप्लीमेंट डाइट में पाया जाता है। यह आपके शरीर में प्रोटीन और अन्य महत्वपूर्ण अणु बनाने के लिए आवश्यक है। इनमें कुछ ऐसे भी हैं, जो इष्टतम नींद और मनोदशा के लिए आवश्यक हैं।

आपके शरीर में, अमीनो एसिड का उपयोग प्रोटीन बनाने के लिए किया जाता है, लेकिन ट्रिप्टोफैन अन्य कार्यों को भी पूरा करता है। उदाहरण के लिए, वे कई महत्वपूर्ण मॉलिक्यूल का उत्पादन करने के लिए आवश्यक हैं, जो सिग्नल को प्रसारित करने में मदद करते हैं।

विशेष रूप से, ट्रिप्टोफैन को 5-HTP (5-हाइड्रॉक्सीट्रिप्टोफैन) नामक मॉलिक्यूल में परिवर्तित किया जा सकता है। इसका उपयोग सेरोटोनिन और मेलाटोनिन बनाने के लिए किया जाता है।

yh hormone aapko sone mein madad karta hai
ट्रिप्टोफैन आपको सोने में मदद करता है। चित्र : शटरस्टॉक

सेरोटोनिन मस्तिष्क और आंतों सहित कई अंगों को प्रभावित करता है। मस्तिष्क में विशेष रूप से, यह नींद, अनुभूति और मनोदशा को प्रभावित करता है। इस बीच, मेलाटोनिन एक हार्मोन है, जो आपके स्लीपिंग साइकिल में विशेष रूप से शामिल है।

कुल मिलाकर, ट्रिप्टोफैन और इससे बनने वाले मॉलिक्यूल आपके शरीर के जरूरी कामकाज के लिए आवश्यक हैं।

एक्सपर्ट से जानिए क्या है ट्रिप्टोफैन और एक अच्छी नींद का कनैक्शन

विधि चावला कहती हैं, “जबकि बहुत सारे खनिज मौजूद हैं, जो शरीर को रिलैक्स करने में सहायता करते हैं। ट्रिप्टोफैन एक ऐसा खनिज है, जो शरीर को बहुत आसानी से आराम देता है।”

एनसीबीआई पर मौजूद कई अध्ययनों से पता चला है कि आहार में ट्रिप्टोफैन बढ़ाने से मेलाटोनिन को बढ़ाकर नींद में सुधार किया जा सकता है। एक अध्ययन में पाया गया कि नाश्ते और रात के खाने में ट्रिप्टोफैन-समृद्ध अनाज खाने से वयस्कों को तेजी से सोने और लंबे समय तक सोने में मदद मिली।

डिप्रेशन और एंग्जाइटी के लक्षण भी कम हो गए थे, और यह संभावना है कि ट्रिप्टोफैन ने सेरोटोनिन और मेलाटोनिन दोनों को बढ़ाने में मदद की।

अन्य अध्ययनों से यह भी पता चला है कि मेलाटोनिन को सप्लीमेंट के रूप में लेने से नींद की मात्रा और गुणवत्ता में सुधार हो सकता है

इन खाद्य पदार्थों से ली जा सकती है ट्रिप्टोफैन की दैनिक खुराक

चावला कहती हैं, “आपने देखा होगा कि कैसे बहुत अधिक मांस या मछली खाने के बाद भी आप सुस्त महसूस करते हैं। इसलिए पोल्ट्री, डेयरी उत्पाद, बीज, नट्स आदि जैसे भोजन का सेवन शरीर में ट्रिप्टोफैन को प्रेरित करता है। जिससे आपको बेहतर नींद में मदद मिलती है।”

तो लेडीज, क्वालिटी स्लीप के लिए डाइट ट्रिप्टोफैन समृद्ध भोजन का सेवन करें।

यह भी पढ़ें: Gender No bar : भले ही प्याज काटकर रोएं, आप दोनों की सेहत के लिए फायदेमंद है रोना

अदिति तिवारी अदिति तिवारी

फिटनेस, फूड्स, किताबें, घुमक्कड़ी, पॉज़िटिविटी...  और जीने को क्या चाहिए !

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें