वैलनेस
स्टोर

मास्क पहनने में क्या आपको भी संकोच या शर्म महसूस होती है? तो जानिए इसे कैसे छोड़ना है

Published on:23 July 2021, 18:00pm IST
मास्क इस समय की सबसे बड़ी जरूरत है। यही एक सुरक्षात्मक उपाय है जो आपको कोरोनावायरस और कई अन्य संक्रमणों से बचा सकता है। इसलिए मास्क न पहनने की भावना से उबरना जरूरी है।
मोनिका अग्रवाल
  • 92 Likes
कभी-कभी अपने आसपास के लोगों को देखकर भी आप मास्क एंग्जायटी की शिकार हो सकती हैं। चित्र: शटरस्टॉक
कभी-कभी अपने आसपास के लोगों को देखकर भी आप मास्क एंग्जायटी की शिकार हो सकती हैं। चित्र: शटरस्टॉक

हम एक अजीब समाज में रहते हैं। जहां चीजें सही या गलत नहीं होतीं, बल्कि भीड़ कुछ चीजों को सही और कुछ को गलत साबित कर देती है। ऐसे समय में जब मास्क पहनना आपकी सुरक्षा का एकमात्र विकल्प है, कुछ लोग आपको मास्क पहनने पर भी बुली कर सकते हैं। जब झुंड के झुंड लोग बिना मास्क के बाजारों, धार्मिक अनुष्ठानों और पार्टियों में नजर आएं, तब भी आपको शर्मा कर या झिझक कर मास्क उतारने की जरूरत नहीं है। ऐसी स्थिति को कैसे डील करना है, हम आपको बता रहे हैं।

मास्क और मानसिकता 

मास्क लगाकर घूमने में वैसे तो कोई शर्म नहीं लेकिन अक्सर ऐसा होता है कि हमारे आसपास जब लोग बिना मास्क के घूमते हैं, तो मन में थोड़ी हिचक और शर्म महसूस हो सकती है। कुछ लोगों को लगता है कि वैक्सीन लेने के बाद वे सुरक्षित हैं और उन्हें मास्क की जरूरत नहीं। जबकि कुछ इसे आत्मीयता में दखल मान लेते हैं और एक-दूसरे से मिलते समय मास्क उतार देते हैं। 

कंडीशन कोई भी हो, फिलहाल मास्क उतारना आपकी सेहत के लिए कहीं से भी अच्छा नहीं है। कोविड अभी पूरी तरह से गया नहीं है और डेल्टा वेरिएंट से अभी भी लोगों के मन में दहशत बनी हुई है। 

कभी-कभी स्किन संबंधी परेशानियां भी आपको मास्क से दूर कर सकती हैं 

रीजेंसी सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल, लखनऊ में क्रिटिकल केयर, एनेस्थीसिया और इमरजेंसी मेडिसिन, डॉ यश जावेरी के अनुसार जब हम सांस छोड़ते हैं, तो हवा में नमी होती है। इसलिए, जब आप मास्क लगाती हैं, ये नमी, पसीना और शरीर का तापमान, ये तीनों मिलकर बैक्टीरिया के पनपने के लिए एक अनुकूल वातावरण बना देते हैं। 

बाहर निकलते वक्‍त मास्‍क पहनना न भूलें। चित्र: शटरस्‍टॉक
बाहर निकलते वक्‍त मास्‍क पहनना न भूलें। चित्र: शटरस्‍टॉक

वैसे तो बैक्टीरिया हमारी त्वचा में हमेशा मौजूद रहते हैं, लेकिन जब ये त्वचा में प्रवेश करते हैं तो संक्रमण का कारण बनते हैं। जिससे 

एलर्जी : बहुत से मास्क में एक लेयर प्लोप्रोपीलीन की होती है और इसका प्रयोग अगर आप लंबे समय तक करती हैं, तो आपको इसके द्वारा स्किन एलर्जी भी हो सकती है।

बैक्टीरियल इंफेक्शन : मास्क का प्रयोग अधिक देर तक करने पर आपकी स्किन पर पिंपल्स आदि का रिस्क बढ़ जाता है। क्योंकि यह आपकी स्किन को बैक्टेरियल इंफेक्शन प्रोन बना देते हैं।

यह भी पढ़ें-क्या आपको नीचे गीलापन महसूस होता है? जानिए योनि में गीलापन होने के 4 कारण

फ्रिक्शनल मेलानोसिस : मास्क के बंधे होने के कारण आपके कानों के पिछले भाग में एलर्जी और दर्द का रिस्क बढ़ जाता है। इससे आपको नाक और कान पर अधिक पिगमेंटेशन होने का खतरा रहता है।

डॉ. यश कहते हैं, इन समस्याओं से बचने के लिए मास्क छोड़ देना कुछ छोटी समस्याओं से बचकर दूसरी बड़ी समस्या से घिर जाना है। इसलिए इनसे बचने के लिए आप सूती मास्क पहनें। 

त्वचा संबंधी समस्याओं से बचने के लिए फॉलो करें ये गाइडलाइंस 

यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (सीडीसी) के अनुसार, मेडिकल मास्क की जगह 100% कॉटन मास्क का इस्तेमाल करना स्किन संबंधी समस्याओं से बचा सकता है। सूती मास्क पसीने को अवशोषित कर सकता है।

इसके बावजूद अगर आपको मास्क पहनने से कोई स्किन संबंधी समस्या होती है, तो आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। आप अपनी स्किन पर केमिकल पील या अच्छे एक्सफोलिएट का प्रयोग भी कर सकती हैं।

जानिए क्यों अब भी जरूरी है मास्क का प्रयोग करना?

1 नए वेरिएंट से खुद को बचाने के लिए

यह मानिए कि अभी कोविड गया नहीं है और अगर आप लापरवाही करेंगी तो अन्य लहरें भी आ सकती हैं। हर रोज हम नए नए वेरिएंट मिल रहे हैं। जोकि बहुत हानिकारक हैं। इसलिए मास्क का प्रयोग करना अब भी बहुत जरूरी है।

यह भी पढ़ें-डेल्टा वेरिएंट से बचाव के लिए वैक्सीन लगवाना है जरूरी, भले ही आपको कोविड हो चुका हो

मास्क पहनने के क्या फायदे।चित्र- शटरस्टॉक
मास्क पहनने के क्या फायदे।चित्र- शटरस्टॉक

2 स्वास्थ्य समस्याओं से बचने के लिए

मास्क केवल हमें कोविड से ही नहीं, बल्कि वातावरण में फैले हुए अधिक प्रदूषण के कारण जो समस्याएं हो रही हैं, उनसे भी बचाता है। अगर आप को पहले से ही अन्य कोई क्रोनिक समस्या है तो आपके लिए मास्क लगाना बहुत ही आवश्यक हो जाता है।

3 अब भी 100% प्रभावी इलाज नहीं है 

अगर आपने वैक्सीन लगवा भी ली है तो इसका अर्थ यह नहीं है कि आप पूरी तरह से सुरक्षित हैं। कोई भी वैक्सीन पूरी 100% प्रभावी नहीं होती। लेकिन यह हमारे पास इस वक्त का सबसे बेहतर इलाज उपलब्ध है। हो सकता है कि मानसून के दिनों में आप को मास्क लगाने से कुछ स्किन संबंधी निम्न परेशानियों का सामना करना पड़ जाए। ऐसे में क्या कहते हैं एक्सपर्ट जानें।

किसी भी प्रकार के खतरे से बचना चाहती हैं, तो मास्क लगाने में लापरवाही न बरतें। आपको अभी घर से बाहर कम से कम निकलना है और कोशिश करें कि जरूरी चीजों की शॉपिंग आप ऑनलाइन ही करें।

मोनिका अग्रवाल मोनिका अग्रवाल

स्वतंत्र लेखिका-पत्रकार मोनिका अग्रवाल ब्यूटी, फिटनेस और स्वास्थ्य संबंधी विषयों पर लगातार काम कर रहीं हैं। अपने खाली समय में बैडमिंटन खेलना और साहित्य पढ़ना पसंद करती हैं।