जानिए कैसे आध्यात्मिकता आपको स्वस्थ बना सकती है, हम बता रहे हैं इसके 5 तरीके

Published on: 19 February 2022, 16:30 pm IST

आध्यात्मिकता के फायदों के बारे में सब कुछ जानें और यह भी कि कैसे यह आपको एक स्वस्थ और सुखी जीवन जीने में मदद कर सकता है, दुख और भय से मुक्त।

hamare jeevan mein spirituality ka mehtwa
हमारे जीवन में आध्यात्मिकता के 5 लाभ. चित्र ; शटरस्टॉक

अध्यात्म आत्मा का विज्ञान है। यह ये महसूस करने की क्षमता है कि हम वह शरीर नहीं हैं जो शारीरिक पीड़ा को झेलता है; वह मन नहीं जो भय और चिंता के साथ जीता है; वह अहंकार नहीं जो क्रोध, घृणा, प्रतिशोध और ईर्ष्या की पीड़ा को झेलता है। इसलिए, जब कोई अध्यात्म के मार्ग पर जाता है, तो वह इन प्रकार के दुख से मुक्त हो जाता है जो हमें पीड़ित देते हैं। जाहिर है, यह हमें स्वस्थ, खुश और अधिक शांतिपूर्ण बनाता है। तो आइए जानते हैं अध्यात्म के सभी फायदों के बारे में।

जानिए 5 तरीके जिनसे आध्यात्मिकता आपको स्वस्थ बना सकती है

अध्यात्म के लाभ:

1. समझें कि हम शरीर नहीं हैं

हम शरीर नहीं हैं। इस दुनिया में शरीर को लगातार दर्द और पीड़ा का अनुभव होगा। रोग और विकार का अनुभव किसे नहीं होता? जब तक हम सोचते हैं कि हम शरीर हैं, तब तक हमें शारीरिक पीड़ा भोगनी ही पड़ती है। यह आध्यात्मिकता है जो हमें यह एहसास कराती है कि हम पीड़ित शरीर नहीं हैं, हम दिव्य आत्मा हैं। तो, अध्यात्म का पहला लाभ यह है कि यह हमें शरीर, मन और अहंकार के दुखों से मुक्ति दिलाने में सक्षम बनाता है।

2. बिना डरे जिएं

दूसरा विशिष्ट तरीका है कि आध्यात्मिकता हमें कैसे खुश और स्वस्थ बना सकती है, यह महसूस करना कि हम मन नहीं हैं। आज दुनिया मानसिक स्वास्थ्य के लिए अस्पतालों और उपचारों से भरी पड़ी है। लोग अवसाद, चिंता और यहां तक ​​कि आत्महत्या करने के बारे में भी सोच रहे हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि मन में भय और चिंता रहती है और इसलिए हम आनंद और शांति का जीवन नहीं जी पाते हैं। मगर जब हम आध्यात्मिक हो जाते हैं, तब हमें एहसास होता है कि हम मन नहीं हैं। अध्यात्म की खोज करने वालों को पता चलता है कि जब हम मन को खोजने की कोशिश करते हैं, तो हम उसे नहीं पा सकते।

silence apko atmik shanti de sakta hai
मौन आपको आत्मिक शांति दे सकता है। चित्र: शटरस्टॉक

3. अहंकार से ऊपर उठना

अध्यात्म का तीसरा लाभ है अहंकार का अतिक्रमण। जब तक हम अहंकार के साथ जीते हैं, हम क्रोध, घृणा, प्रतिशोध और ईर्ष्या से पीड़ित होते रहेंगे। अध्यात्म ही इस पीड़ा से मुक्त करता है। अहंकार आपके जीवन को प्रभावित कर सकता है। इसलिए, जब हमें पता चलता है कि हम ईश्वरीय आत्मा हैं, तो हमें पता चलता है कि हमारा कुछ भी नहीं है।

4. शक्तिशाली महसूस करें

आध्यात्मिकता का चौथा लाभ दिव्य आत्मा के रूप में जीना है। यह अनुभूति हमें भीतर के परमात्मा का अनुभव कराती है। हम शक्तिशाली महसूस करते हैं क्योंकि हमें एहसास होता है कि हम सर्वोच्च अमर शक्ति हैं। हम जन्महीन और मृत्युहीन हैं। आध्यात्मिकता हमें एहसास कराती है कि हम ईश्वर की अभिव्यक्ति हैं।

5. मुक्ति

अध्यात्म का पांचवां और सबसे महत्वपूर्ण लाभ मृत्यु और पुनर्जन्म के निरंतर चक्र से मुक्त होकर हमें खुश और स्वस्थ बनाना है जो हमें बार-बार पृथ्वी पर लौटने और पीड़ित होने के लिए प्रेरित करेगा। पृथ्वी पर दुखों से मुक्ति तो मिलती ही है, पुनर्जन्म से भी मुक्ति मिलती है।

सारांश

यह सरल विचार कि आध्यात्मिकता हमें दुखों से और पुनर्जन्म से मुक्त कर देगी, हमारे जीवन को शांतिपूर्ण और आनंदमय बनाने के लिए पर्याप्त है।

दुर्भाग्य से, अधिकांश दुनिया आध्यात्मिकता को नहीं समझती है और हम खुश और स्वस्थ रहने के तरीकों का पीछा कर रहे हैं जबकि वास्तव में आध्यात्मिकता ही एकमात्र समाधान है।

यह भी पढ़ें : सप्ताह भर की थकान, तनाव और पाचन संबंधी गड़बड़ियों से छुटकारा पाना है, तो सहेलियों के साथ खाएं गोल गप्पे

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें