मेडिटेशन से आपके रिश्तों में भी सुधार हो सकता है, एक्सपर्ट बता रहे हैं कैसे

Published on: 29 April 2022, 18:05 pm IST

ध्यान आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार कर सकता है। यह तो आप जानती ही हैं, पर क्या आप जानती हैं कि ये आपकी बॉन्डिंग को भी मजबूत बना सकता है!

meditation apnane se kayi fayde hote hn
शांत रहें और ध्यान करें । चित्र : शटरस्टॉक

मेडिटेशन यानी ध्यान एक तरह की तकनीक है। जिसके अभ्यास से हम अपने जीवन में महत्वपूर्ण सुधार ला सकते हैं। हम में से ज्यादातर लोग यही सोचते हैं कि मेडिटेशन सिर्फ योगी-महात्मा, साधु-संत और भिक्षु करते हैं या फिर यह सिर्फ उनके लिए है। जबकि सच यह है कि मेडिटेशन हम में से कोई भी कर सकता है। इसके अनगिनत फायदे हैं। मेडिटेशन करने से खराब लाइफस्टाइल संबंधित या तनाव सहित अन्य कारणों से होने वाली बीमारियों के लक्षणों को कम करने में मदद मिलती है। पर इसका एक अनदेखा लाभ यह भी है कि ये आपको एक बेहतर रिश्ते के लिए तैयार करता है। जानना चाहती हैं कैसे? तो बस इसे पढ़ती रहिए।

ध्यान या मेडिटेशन हमारे स्वास्थ्य में सुधार कर जिम्मेदारियों के बेहतर निर्वहन में मदद कर सकता है। यह हमारी इमोशनल और मेंटल हेल्थ दोनों को सुधारने में मदद करता है। साथ ही यह जाने-अनजाने हमारे आपसी रिश्तों में मिठास भरने का काम करता है।

यह भी पढ़ें :- जानिए कैसे ध्यान या मेडिटेशन हो सकता है आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद

पहले समझिए मेडिटेशन क्या है ?

मेडिटेशन प्रैक्टिस में मन को स्थिर करने की जरुरत पड़ती है। इस प्रैक्टिस में मन को मौन और शांत चित्त करना शामिल है। इसकी प्रैक्टिस करने वाले शख्स गहरी चिंतन की अवस्था को धारण कर लेते हैं। जेसे बंदरिया कभी इस डाल कभी उस डाल उछलकूद करती है, ठीक वैसे ही हमारा मन भी कभी ये तो कभी वो सोचता रहता है।

दरअसल हमारे दिमाग में हर पल कोई न कोई विचार आता रहता है या यू कहें कि विचारों का प्रवाह लगातार जारी रहता है। इसलिए हम एक मिनट में 50 नए विचारों को जन्म दे सकते हैं और हर दिन 50 हजार। इसी दर (MTR, Mental Thought Rate) को कम करने की जरुरत है, जिससे खुद को एक मिनट में 50 से एक विचार पर सीमित किया जा सके। एक के बाद बचे बाकी विचारों को मन से हटाने के बाद ही हम खुद को बिल्कुल शांत महसूस कर सकते हैं।

ऐसा करने के लिए हमें खुद के मन का ठीक ढंग से निरीक्षण करना होगा। दरअसल जब कभी भी हमारा मन इधर-उधर भटकता है, तो हमें उसे वापस लाना पड़ता है। इसलिए हमें अपने मन की निगरानी करनी होगी। इसे पकड़ कर रखना होगा और उसका दरवाजा बंद करके रखना होगा। जैसे ही उसके दरवाजे पर कोई विचार आए उस पर नजर गड़ाए रखनी होगी। ठीक वैसे ही जैसे हम समुद्र में तैरती हुई मछलियों को देखते हैं।

यह भी पढ़ें :- अपनी मेंटल हेल्थ के लिए संगीत के साथ मेडिटेशन करती हैं रकुल प्रीत सिंह

आपके आपसी रिश्तों को सुधारने में कैसे मददगार है मेडिटेशन

1 मेडिटेशन से मूड को कंट्रोल किया जा सकता है

मेडिटेशन की प्रैक्टिस करने से हमारा मन शांत रहता है। अब हम स्थितियों या परिस्थितियों को भाप कर प्रतिक्रिया देना शुरु कर देते हैं। जिससे खासतौर पर हमारे रिश्तें और निखरने लगते हैं। पहले की तरह अब हमें छोटी-छोटी परेशानियां न के बराबर लगती हैं। ऐसा करने से हम अपने गुस्से पर काफी काबू पा लेते हैं। इन्हीं सब वजहों से हमारा मूड व भाव काफी स्थिर बना रहता है।

2 यह तनाव और चिंता को कम करने में मददगार है

मेडिटेशन न सिर्फ हमें शांत रखती है, बल्कि इसे नियमित करने से हम काफी खुश भी रहते हैं। खुश रहने वाले लोगों के जीवन का नजरिया औरों की तुलना में अलग होता है। मेडिटेशन अपनाने से खुद के अंदर सकारात्मक भाव बढ़ते हैं, क्योंकि इस दौरान हम अपने मन को वश में कर पाते हैं। सकारात्मक भाव और सोच में बढ़ोतरी के चलते हम अपने कई रिश्तों को सफल बना पाते हैं। ऐसा रवैया अपनाने से हमारे खुद के रिश्तों में मिठास और सौहार्द बढ़ता है। हम मिलनसार और कम तनाव में रहने लगते हैं।

यह भी पढ़ें :- तेलुगु अभिनेत्री लक्ष्मी मांचू बता रहीं हैं, कैसे मेडिटेशन ने बदला उनका जीवन

3 मेडिटेशन हमें दूसरों से कनेक्ट करने में मदद करती है

इसकी वजह से हम शांत और काफी खुश रहते हैं। इसलिए लोगों के बीच हमारी स्वीकार्यता और बढ़ जाती है। वैसे कोई नही चाहता कि वह चिड़चिड़े, मूडी या सनकी शख्स के साथ रहे। वहीं दूसरी ओर अच्छे व सकारात्मक लोग, हंसमुख लोग, लोगों को काफी पसंद आते हैं। ऐसे लोग जहां भी जाते हैं अपनी अच्छाईयां लोगों के बीच फैलाने का काम करते हैं।

तनाव और चिंता के कारण हमारे शरीर में कई बीमारियां बढ़ जाती है। मेडिटेशन उन्हें कम करने का काम करती है। जब हमारा स्वास्थ्य बेहतर होता है तो आपसी रिश्ते भी बेहतर होते हैं। यानी पारस्परिक संबंधों की गतिशीलता हमारे स्वास्थ्य पर निर्भर करती है।

4 मेडिटेशन हमें सजग बनाए रखती है

मेडिटेशन की प्रैक्टिस करने से हम काफी सजग और चौकन्ने रहते हैं। हमें पता होता है, हम क्या कर रहे हैं, हम कहां हैं, हमारे आसपास क्या हो रहा है और हमें किस पल कैसी प्रतिक्रिया देनी है। दरअसल ऐसा करने से हम हमेशा चेतना की स्थिति में होते हैं और यही चेतना हमारी आध्यात्मिक और व्यक्तिगत वेलनेस को बढ़ाती है।

हम अपने आप और अपनी आदतों के बारे में काफी सजग रहते हैं। हम अपने असफल होने के कारणों को निष्पक्ष रुप से देख पाते हैं। उदाहरण के लिए, अगर हम कभी भावुक हो जाते हैं या फिर जल्दी गुस्से में हो जाते हैं तो हमें इस बात का एहसास होता है। इन्हीं कमियों को पहचान कर हम इसमें बदलाव करने की कोशिश करते हैं या बुरी आदतों को छोड़ देते हैं। ऐसा करके हम लोगों से और बेहतर ढंग से जुड़ पाते हैं और उनसे अच्छे से बातचीत कर पाते हैं।

यह भी पढ़ें :- शराब, कैफीन या निकोटीन की लत को काबू कर सकती है 2 मिनट की ये मेडिटेशन तकनीक

मेडिटेशन से न सिर्फ हमें खुद के बारे में जागरुक होने में मदद मिलती है, बल्कि यह अन्य चीजों और लोगों के बारे में भी हमें काफी जागरुक करता है। इससे हम और अधिक स्वीकार करने वाले हो जाते हैं। हम वास्तव में परिस्थितियों को महसूस कर पाते हैं और जुड़ पाते हैं। हम लोगों और परिस्थितियों के प्रति काफी उदार, संवेदनशील और दयालु हो जाते हैं।

और भी हैं मेडिटेशन के फायदे

मेडिटेशन हमारी डेली लाइफ में सुधार कर सकती है। इससे हमारी प्रोडक्टिविटी और हैप्पीनेस में बढ़ोतरी होती है। इसकी वजह से जीवन में हो रहे बदलावों का असर हमारे व्यवहार, जीवन के नजरिए और रिश्तों में झलकता है। इसका मकसद ही है कि प्रैक्टिस करने वाले को चेतना की स्थिति में ले जाना जहां वह यह महसूस कर पाए कि आखिर वह कौन है।

वह खुद से और बाकीयों से जुड़ पाए। इस अवस्था को हासिल करने के बाद हम असीमित लोगों से जुड़कर जीने लगते हैं। हमें महसूस होता है कि ये सभी रिश्ते क्षणिक हैं। और ठीक इसी अवस्था में हम दुनिया, ब्रह्माण्ड और लोगों के साथ एकता की भावना को महसूस करते हैं। हमें सभी जगह भाईचारा और लोगों के बीच आपसी जुड़ाव व रिश्ते का भाव महसूस होने लगता है।

यह भी पढ़ें :- क्या मेडिटेशन आपके मूड स्विंग्स में सुधार कर सकता है? चलिये पता करते हैं

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें