गहन शांति प्रदान कर आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं मेडिटेशन के ये 6 तरीके

तनाव दूर करने कर लिए मेडिटेशन करना एक ईजी और बेस्ट प्रैक्टिस है। तो चलिए जानते हैं मेडिटेशन के अन्य तरीकों के बारें में।
यह एक ऐसी क्रिया है, जो आपके समग्र स्वास्थ्य में सकारात्मक्ता लाती है. चित्र : शटरस्टॉक
ईशा गुप्ता Published: 5 Feb 2023, 11:00 am IST
ऐप खोलें

बिजी लाइफस्टाइल और बढ़ते स्ट्रेस लेवल का सबसे ज्यादा असर हमारी मेंटल हेल्थ पर पड़ता है। हम तनाव महसूस करते है, जिससे सुकून और शांति की कमी महसूस होने लगती है। माइंड को रिलेक्स करने के लिए लाइफस्टाइल से थोड़ा स्पेस लेना जरूरी है, लेकिन कई बार समय की कमी के कारण बिजी लाइफ से ब्रेक लेना मुश्किल हो जाता है। ऐसे में सबसे बेस्ट ऑपशन होता है किसी शांत जगह बैठकर मेडिटेशन करना। क्योंकि इस दौरान आप जीवन के तनाव और बिजी लाइफ से हटकर कुछ समय खुद के साथ बिताते हैं।

मेडिटेशन के दौरान सही फोकस करना और अपने विचारों पर कंट्रोल कर पाना सबसे मुश्किल होता है। इसलिए आज इस लेख में हम मेडिटेशन के कई तरीकों पर बात करेंगे और जानेंगे मेडिटेशन हमारी लाइफ को किस तरीके से बेहतर बना सकता है।

स्ट्रेस को दूर करने के लिए अपनाएं ये 6 मेडिटेशन तकनीक

1. माइंडफुलनेस मेडिटेशन

माइंडफुलनेस मेडिटेशन उन लोगों के लिए बेहतर तरीका है, जिनके पास सिखाने के लिए कोई टीचर नही है। मेडिटेशन के इस तरीके में आपको अपने मन के विचारों पर ध्यान देना होता है। इस दौरान आपको सिर्फ विचारों के पैटर्न को समझना होता है। लेकिन किसी भी विचार में खोना नही होता। माइंडफुलनेस मेडिटेशन से आपको फोकस बढ़ाने के साथ जागरूक होने के मदद मिलती है।

हमारे जीवन में आध्यात्मिकता के लाभ. चित्र ; शटरस्टॉक

2. स्पिरिचुअल मेडिटेशन

स्पिरिचुअल मेडिटेशन आप अपने घर या किसी भी स्पिरिचुअल प्लेस में कर सकती है। मेडिटेशन का यह तरीका उन लोगों के लिए बेहतर है, जिन्हें स्पिरिचुअल ग्रोथ करनी है। साथ ही स्पिरिचुअल पॉवर के साथ डीप कनेक्शन बनाना है।

बायोमेड सेंट्रल की 2016 की रिसर्च के मुताबिक स्पिरिचुअल मेडिटेशन स्पिरिचुअल के साथ डीप एनर्जी का संबंध समझने की शक्ति विकसित करता है।

3. ट्रान्सेंडैंटल मेडिटेशन

मेडिटेशन का यह तरीका उन लोगों के लिए फायदेमंद है, जो मेडिटेशन की गहराईयों को समझना चाहते हैं।

ट्रान्सेंडैंटल मेडिटेशन की स्थापना महर्षि महेश योगी ने की थी। मेडिटेशन का यह तरीका मन को शांत करने और शांति की स्थिति को बनाए रखने के लिए बनाया गया है। इसमें आप मंत्र का उपयोग भी कर सकते हैं, जो टीएम व्यवसायी द्वारा सिखाया जाता है।

यह भी पढ़े – Obsessive love disorder : जानिए क्या है प्यार करने का ये तरीका, जो किसी भी रिश्ते के लिए घातक है

4. फोकस मेडिटेशन

फोकस मेडिटेशन की मदद से नेचुरल तरीके से अपना फोकस और अटेंशन बढ़ाया जा सकता है। इसमें अपने पांचो इंद्रियों पर ध्यान लगाना होता है। साथ ही किसी बाहरी चीज की मदद से अपनी सांस पर ध्यान लगाना होता है। जैसे कि माला जपना, किसी चीज पर लगातार ध्यान लगाना, अपनी सांस को काउंट करना आदि।

5. विजुअलाइजेशन मेडिटेशन

यह मेडिटेशन का सबसे आसान और आरामदायक तरीका है, जो आपको अंदर से खुश होने में मदद कर सकता है। विजुअलाइजेशन मेडिटेशन मूड बूस्ट करने के साथ स्ट्रेस लेवल कम करने और मन की शांति पाने के लिए किया जाता है। इसमें आपको उन चीजों को गहनता से सोचना होता है। जिनसे आपको खुशी और मन की शांति मिल सकती है। इसमें लक्ष्यों का पूरा होना या मनपसंद व्यक्ति की तरह बनना शामिल हो सकता है।

विजुअलाइजेशन मेडिटेशन में आपको चीजों को ठीक उसी प्रकार सोचना होता है, जैसे आप उन्हें पाना चाहती है।

हेल्थ के लिए जरूरी है नियमित तौर पर मेडिटेशन करना| चित्र : शटरस्टॉक

6. मंत्रा मेडिटेशन

मंत्रा मेडिटेशन धार्मिक लोगों में सबसे प्रसिद्ध प्रकार का ध्यान है। इसमें आपको किसी मंत्र या किसी शब्द को बार-बार चेंट करते हुए ध्यान लगाना होता है। यह गहन ध्यान प्राप्त करने के लिए लाभदायक माना जाता है। इसमें मंत्र का जाप करते हुए सभी इंद्रियां काम करने लगती है। आप पहले से ज्यादा फोकस और रिलेक्स महसूस करते हैं। साथ ही एक शब्द पर गहन देते हुए आप वातावरण से भी सम्बन्ध महसूस कर पाएंगी।

यह भी पढ़े – डियर लेडीज, वर्कआउट के दौरान इन 5 चीजों की चिंता करना बिल्कुल छोड़ दें

लेखक के बारे में
ईशा गुप्ता

यंग कंटेंट राइटर ईशा ब्यूटी, लाइफस्टाइल और फूड से जुड़े लेख लिखती हैं। ये काम करते हुए तनावमुक्त रहने का उनका अपना अंदाज है। ...और पढ़ें

Next Story