दूर होने का डर भी बढ़ा सकता है रिश्तों में दूरियां, जानें सेपरेशन एंग्जायटी डिसऑर्डर से कैसे उबरना है

मन ही मन अपने पार्टनर से दूर होने का डर अगर आपको भी सता रहा है, तो ये सेपरेशन एंग्जाइटी की ओर इशारा करता है। जानते हैं सेपरेशन एंग्जाइटी के बढ़ने के कारण और इससे बाहर आने के उपाय भी।

Separation anxiety se kaise deal karein
सेपरेशन एंग्जाइटी से कैसे डील करें। चित्र : शटरस्टॉक
ज्योति सोही Published: 7 Sep 2023, 18:30 pm IST
  • 141

जब दो लोग एक रिलेशनशिप में होते हैं, तो वे अधिकतर समय एक दूसरे के साथ बिताना चाहते हैं। खाने पीने से लेकर झामने फिरने तक हर वक्त वे दूसरे के साथ रहना चाहते हैं। इसके चलते बहुत से लोगों में सेपरेशन एंग्जाइटी(Separation anxiety) बढ़ने लगती है। अब उन्हें मन ही मन अपने पार्टनर से दूर होने का डर सताने लगता है। जो रिश्ते में कई तरह की समस्याओं को पैदा कर सकता है। जानते हैं सेपरेशन एंग्जाइटी के बढ़ने के कारण और इससे बाहर आने के उपाय भी (tips to deal with separation anxiety) ।

सेपरेशन एंग्जायटी डिसऑर्डर क्या है

सेपरेशन एंग्जायटी डिसऑर्डर एक ऐसी स्थिति है, जिसमें आपके अंदर अपने साथी से दूर होने का डर सताने लगता है। तीव्र गति से मन में उभरने वाले इस डर से आप हर वक्त चिंतित और परेशान रहने लगती हैं। इसमें आप हर वक्त अकेले रहने लगती है। साथ ही बार बार साथी से संपर्क साधने की काशिश करती हैं। इस डर के चलते कई बार रिश्तों में दूरियां भी बढ़ने लगती है। जानते हैं इस समस्या से बाहर निकलने के आसान उपाय।

Sepration anxiety ke lakshan
सेपरेशन एंग्जायटी डिसऑर्डर में आपके अंदर अपने साथी से दूर होने का डर सताने लगता है।

जानें सेपरेशन एंग्जायटी के लक्षण

हर पल चिंतित रहना
स्वभाव में झुंझलाहट महसूस होना
साथी से दूर होने का डर सताना
कॉल या मैसेज के ज़रिए संपर्क में बने रहना
अन्य लोगों के साथी से बातचीत करने पर परेशान हो जाना

जानते हैं सेपरेशन एंग्जायटी डिसऑर्डर को ओवरकम करने की टिप्स

1. मार्निंग वॉक के लिए जाएं

माइंड को रिलैक्स रखने के लिए कुछ वक्त प्रकृति के नज़दीक बिताना बहुत ज़रूरी है। सुबह जल्दी उठकर वॉक के लिए निकलें और रोज़ाना नया रास्ता चुनें। इससे आपका मन रिलैक्स होने लगेगा। इसके अलावा आप रोज़ाना नए दृश्यों का आनंद ले पाएंगे, जो आपकी मेंटल हेल्थ को बूस्ट करने का काम करता है।

Kuch der walk karna jaruri hai
माइंड को रिलैक्स रखने के लिए कुछ वक्त प्रकृति के नज़दीक बिताना बहुत ज़रूरी है। चित्र: शटरस्टॉक

2. हॉबी क्लासिस ज्वाइन करें

अपनी मन पसंद एक्टीविटी को अपनी लाइफ का हिस्सा बनाएं। इसके लिए दिनभर का कुछ वक्त हॉबी क्लासिस के लिए निकालें। इससे न केवल आप कुछ नया सीख पाएंगे बल्कि आपका माइंड भी दूसरी ओर डायवर्ट होने लगेगा। आप चाहें, तो पेंटिंग, सिंगिग और डांसिग में हिस्सा ले सकते हैं। इसके अलावा आप कोई प्रोफेशनल कोर्स भी कर सकते हैं।

3. बात करने के लिए समय निकालें

इस समस्या से बाहर आने के लिए कुछ वक्त एक दूसरे के लिए तय करें। इसमें आप अपनी सुविधा के मुताबिक एक दूसरे को वक्त दे सकते है। अगर आप लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में हैं, तो विडियोकॉल के ज़रिए। अगर आप एक ही ऑफिस या घर के पास है, तो दिनभर में कुछ वक्त एक दूसरे को दें। इससे आपकी बॉडिंग मज़बूत होने लगती है।

4. बार बार फोन या मैसेज करने से बचें

दिनभर में बहुत सा वक्त अगर आप एक दूसरे से कनेक्ट रहेंगे, तो उससे रिश्ते में मिसअंडरस्टैण्डिंग बढ़ने का खतरा बना रहता है। ऐसे में हर वक्त एक दूसरे को मैसेज और कॉल करना बंद करें। इससे आपके अंदर मानसिक तनाव बढ़ने लगता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

5. कुछ वक्त दोस्तों के लिए निकालें

अगर आप खुद को तनाव में महसूस कर रही है और बार बार अपने डेटिंग पार्टनर के बारे में सोच रही हैं, तो ऐसे में खुद को इस समस्या से बाहर निकालने के लिए कुछ वक्त अपने दोस्तों के साथ गुज़ारें। उनके साथ आउटिंग प्लान करें और वीकएण्ड के लिए बाहर जाएं।

ये भी पढ़ें- स्ट्रेस और एंग्जाइटी से परेशान हैं तो दवाइयों के सेवन से पहले आजमाएं ये 6 प्रभावी टिप्स

  • 141
लेखक के बारे में
ज्योति सोही ज्योति सोही

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख