ब्रेन पावर और फोकस बढ़ा सकते हैं ये 5 माइंड गेम्स, बच्चों से लेकर बड़ों तक के हैं काम के

शार्टटर्म मेमोरी एक ऐसी समस्या है, जिससे अब कम उम्र के लोग भी जूझने लगते है। हर वक्त किसी न किसी कारण तनाव में रहने के चलते उसका प्रभाव याददाश्त पर दिखने लगता है। आइए जानते है, इस समस्या से निपटने के लिए ब्रेन गेम

Brain games ke fayde
जानते हैंए दिमाग की मज़बूती और फोकस बढ़ाने के लिए कुछ नायाब खेलों के बारे में। चित्र: अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Published: 27 Feb 2023, 18:17 pm IST
  • 141

फिज़िकल हेल्थ को बेहतर बनाने के लिए हम जिम (Gym), एरोबिक्स (Aerobics)और कई तरह की एक्सरसाइज को अपने डेली रूटीन में शामिल करते हैं। वहीं मेंटल हेल्थ (mental health) का ध्यान रखे बगैर हम खाली वक्त गैजेटस (Gadgets) में बिताने लगते है। इन्ही गेजेक्ट में कुछ ऐसे गेम्स भी है, जो आपकी मेंटल हेल्थ का सुधारने में कारबर साबित होते है। आइए जानते हैं, दिमाग की मज़बूती और फोकस बढ़ाने (Enhance focus) के लिए कुछ नायाब खेलों (Brain games) के बारे में ।

रिसर्च क्या कहता है

हार्वर्ड एजुकेशन के मुताबिक साल 2015 की एक स्टडी में पाया गया कि 20 मिनट की मोडरेट एक्सासाइज ने नॉन एथलेटिक लोगों के काग्नीटिव स्किल्स (Cognitive skills) को बढ़ावा दिया। वहीं जनवरी 2021 जर्नल ऑफ स्पोर्ट्स साइंस के एक रिसर्च में पाया गया कि ट्रेन्ड साइकिल चालक और ट्रायथलेट्स के लिए 45 मिनट एक्सरसाइज ज़रूरी है। ब्रॉडी मैगिड कहते हैं सप्ताह में पांच दिन कम से कम 30 मिनट का मध्यम तीव्रता वाली एक्साइज़ ज़रूरी है।।

एनसीबीआई के मुताबिक न्यूरोडीजेनेरेटिव रोगों के बारे में 65 वर्ष और उससे ज्यादा उम्र के लोगों के 15 से 20 फीसदी लोगों में माइल्ड कॉगनिटिव इंम्पूयमेंट का खतरा रहता है। इन आंकड़ों में से एक तिहाई लोगों में 5 साल के अंदर लक्षणों के बढ़ने की उम्मीद जताई जाती है। साल 2018 में 5ण्8 मिलियन अमेरिकियों में डिमेंशिया के मामले सामने आए। इन मामलों की संख्या का साल 2050 तक दोगुना होने का क्यास लगाया जा रहा है।

सुडोकू

छोटी सी स्कवेयर शेप गेम खेलने में दिलचस्प और ब्रेन स्ट्रॉमिंग है। इस नंबर पज़ल गेम में स1 से 9 के नंबर तक एक ग्रिड फिल करना होता है। इस गेम में एक नंबर या संख्या उस पूरी लाइन में एक बार दिखाई देना चाहिए। इस गेम को नियमित तौर पर खेलने से न केवल आपका फोकस बढ़ता है बल्कि याददाश्त में भी सुधार होने लगता है। अखबार में आमतौर पर दिखने वाली इस गेम को आप पेन पेपर की मदद से या ऑनलाइन भी खेल सकते है।

रिसर्च की मानें, तो 50 से 93 वर्ष की आयु के लोगों पर किए गए एक रिसर्च के मुताबिक इस उम्र के लोगों के मानसिक स्तर पर इस गेम का गहरा प्रभाव पड़ा है। एक अध्ययन में पाया गया कि दिनभर की थकान के बाद सुडोकू का अभ्यास आपको रिलैक्स करने का काम करता है। का इस आबादी में संज्ञानात्मक कार्य की गुणवत्ता के साथ एक मजबूत संबंध है।

brain game
माइंड बूस्टिंग गेम है चेस. चित्र अडोबी

लूमोसिटी

मांइड एक्सरसाइज़ में अहम रोल अदा करने वाली लूमोसिटी एक इंटरस्टिंग गेम है। ऑनलाइन खेली जाने वाली इसे गेम को खेलने के लिए रोज़ाना 3 खेलों को प्ले कर सकते हैं। अकाउंट ओपन करने के बाद रोज़ाना खेलने के लिए आप मेंबरशिप भी ले सकते है। लूमोसिटी की एक एप्प भी है। इसको खेलने से दिमागी एक्साइज होती रहती है और मेंटल फिटनेस बनी रहती है। 13 साल से अधिक उम्र के लोग इस गेम को खेल सकते है। एक अध्ययन में पाया गया है कि सप्ताह में पांच बार 15 मिनट के लिए खेलने से दिमाग रिलैक्स फील करता है।

स्किल्ज़

स्किल्ज़ एक ऑनलाइन मोबाइल गेम है। इस मल्टीप्लेयर गेम में पजल्स को हल करना पड़ता है। इसे आप दुनिया के किसी भी कोने में बैठे प्लेयर के साथ खेल सकते हैं। इस गेम के ज़रिए आपके दिमाग का हर हिस्सा रिचार्ज होने लगता है। इसका प्रभाव आपकी एकाग्रता शक्ति से लेकर लर्निंग पावर तक हर चीज़ पर दिखता है। मेंटल सिकल्स को बेहतर बनाने वाली इस गेम को सिंगल प्लेयर भी खेल सकता है। गेम के आखिर में रैकिंग के ज़रिए आप जान सकते है, कि विजेता कौन है। इस गेम को साल्व करने में यूटयूब आपकी मदद कर सकता है।

रिवर्सी गेम

ये एक तरह की बोर्ड गेम है। ऑनलाइन एप्प के जरिए खेली जाने वाली इस गेम में दो प्लेयर एक साथ खेलते है। फर्स्ट प्लेयर आप और सेकिंड प्लेयर कम्प्यूटर होता है। ब्लैक एंड व्हाइट कॉइंस के साथ खेली जाने वाली इस गेम जिसके पास अंत में कॉइन्स ज्यादा रहते हैं, वो ही विनार कहलाता है। दिमाग को मज़बूती प्रदान करने वाले इस खेल को दिन में 15 से 12 मिनट खेलना आपके माइंड को रिलैक्स रखने का काम करता है।

Brain-exercise
मेंटल इलनेस के कारण मेमोरी लॉस और कंसंट्रेशन खोना बिल्कुल आम है। चित्र शटरस्टॉक।

क्रासवर्ड
बच्चे अक्सर अखबार में क्रॉसवर्ड खेलते हुए नज़र आते हैं। वर्टिकल और हॉरिजॉन्टल लाइन्स में शब्दों की जुगलबंदी से नए वर्डस को तैयार किया जाता है। मनोरंजन के साथ साथ आपकी वकेब्लरी को बढ़ाने का काम करने वाले क्रासवर्ड से तर्कशीलता बढ़ती है। कई बार घंटों तक हम इस गेम को बिना किसी बोरियत के खेलते रहते है। इससे हमारे दिमाग को विकास होता है और हमारा माइंड 10 साल यंग हो जाता है। याददाश्त बढ़ने लगती है और तनाव संबधी समस्याओं से भी मुक्ति मिलती है।

ये भी पढ़ें- World Chess Day 2022 : ब्रेन बूस्ट कर आपको डिमेंशिया से भी बचाता है शतरंज खेलना

  • 141
लेखक के बारे में
ज्योति सोही ज्योति सोही

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें