ऐप में पढ़ें

यह मेरे भीतर के दर्द को खत्म करने के बारे में था” एक लेखक आत्मघाती विचारों के बारे में बात कर रहीं हैं

Published on:12 November 2021, 14:42pm IST
खुद को नुकसान पहुंचाने के विचार से कोई भी गुजर सकता है। पर अच्छी बात यह है कि इनसे बाहर आने का रास्ता भी हे। एक लेखक और प्रेरक वक्ता आत्मघाती विचार पर काबू पाने के अपने अनुभव की समीक्षा कर रहीं हैं।
andheree surang ke ant mein hamesha ujaala hota hai... bas kuchh hee dooree par chalo.
अँधेरी सुरंग के अंत में हमेशा उजाला होता है... बस कुछ ही दूरी पर चलो।

एक ऐसे व्यक्ति के रूप में जिसने खुद को नुकसान पहुंचाने और आत्मघाती विचारों का अनुभव किया है, मुझे पता है कि इस बारे में बात करना बहुत मुश्किल है। हालांकि, मैं इस विषय पर अपनी कठिनाई साझा करने के लिए पूरी तरह से तैयार हूं। क्योंकि मुझे पता है कि यह किसी ऐसे व्यक्ति की मदद करेगा जो इसका अनुभव कर रहा है।

चिकित्सक के साथ हुआ वार्तालाप 

देविना: “आज से पहले मैं खुद को मारना चाहती थी।”

डॉ जेनी: “तो तुमने क्या किया?”

देविना: “मैंने जाना कि मैं क्या कर रही थी। इसलिए मैंने भोजन किया, खुद को धन्यवाद दिया, और रोते हुए सो गई।”

डॉ जेनी: “यह अच्छी बात है, देविना। मुझे उम्मीद है कि आप पहचान सकती हैं कि आप केवल अपने एक हिस्से को मारना चाहती थी, जो आपको पसंद नहीं था और ना कि खुद को।”

Self-harm is NEVER your ONLY solution
खुद को नुकसान पहुंचाना कभी भी आपका एकमात्र समाधान नहीं है चित्र : शटरस्टॉक

आत्मघाती विचारों को खत्म करना 

डॉ जेनी के साथ मेरा सत्र सबसे अधिक चिकित्सीय साबित हुआ। मुझे यह पसंद नहीं आया कि मैं खुद के प्रति बहुत निर्दयी थी। मैं खुद से नफरत करती थी और उससे भी ऊपर, मुझे अपने दर्द को खत्म करने की इच्छा के बारे मे बहुत  शर्म आती थी। परिस्थितियां बहुत बुरी थी। मैं सोचती थी कि मेरे जैसा कोई कैसे हो सकता है, जो खुद को मारने पर विचार करना चाहता है?

ये सब विचार आते भी कहां से हैं? क्या वे पुरानी यादें हैं? क्या वे हमारे अवचेतन मन का हिस्सा हैं?

सच कहूं तो मुझे अब ‘क्यों’ के सवालों का जवाब नहीं पता। मैं बस इतना करना चाहती हूं कि मैं उन बातों को भुलाकर ठीक हो जाऊं। 

आत्मघाती विचारों को दूर करने के लिए दूसरों की मदद करना

मेरे दिमाग में इन सभी वर्जित विचारों के चलने के साथ, मैंने अपने भीतर से एक आवाज भी सुनी। मेरा अंतर्ज्ञान मुझे दूसरों की मदद के लिए एक किताब लिखने को कह रहा था। यह उन सभी व्यक्तियों की मदद करेगा, जो मेरी तरह नकारात्मक विचारों से लड़ रहे हैं। 

हमारा अंतर्ज्ञान एक बहुत शक्तिशाली उपकरण है जो हम में से प्रत्येक के भीतर मौजूद है! जितना अधिक हम इसे सुनते हैं, यह उतना ही मजबूत और कमनीय होता जाता है। आंतरिक ज्ञान को सुनने से हमारा आध्यात्मिक आत्मविश्वास तेजी से बढ़ता है। 

मेरे साथ ऐसा ही हुआ था! 2020 में मेरी पहली किताब ‘टू फैट टू लाउड, टू एम्बिटियस’ प्रकाशित हुई और sexybrilliant.com एक गैर-लाभकारी संगठन बन गया। संगठन में, हम विषाक्त शर्म को दूर करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। इसमें अच्छा नहीं होने की शर्म, अपने शरीर से प्यार न करने की शर्म और मानसिक स्वास्थ्य के साथ संघर्ष करने की शर्मिंदगी शामिल है। कुछ भी जो आपको शानदार ढंग से सेक्सी महसूस करने से रोकता है।

apane aap ko aatmaghaatee vichaaron ke changul se mukt karen, chaahe kuchh bhee ho jae!
अपने आप को आत्मघाती विचारों के चंगुल से मुक्त करें, चाहे कुछ भी हो जाए! चित्र : शटरस्टॉक

सारांश 

मुझे इस बात का अहसास हो गया है कि ऐसा कोई तरीका नहीं है जिससे मैं वास्तव में अपना जीवन समाप्त करना चाहती हूं। किसी और को भी ऐसा नहीं करना चाहिए। सभी भावनाओं का सम्मान करके हम जीवन में और अधिक संतुलन ला सकते हैं। भावनाओं का संतुलन हमे यह समझने में मदद करता है कि हम कहां हैं और हमें खुद को फिर से खोजने के लिए क्या ठीक करने की आवश्यकता है। याद रखें कि आपका कोई भी हिस्सा आपका अपना दुश्मन नहीं है।

जब हम जानते हैं कि हम कौन हैं, और खुद की परिस्थिति की आत्म-स्वीकृति का अभ्यास करते हैं, तो हम इस जागरूकता में जी सकते हैं कि ऐसा क्या है जो हमें फिर से संपूर्ण महसूस कराता है। आत्म-ज्ञान अधिक आत्म-स्वीकृति की ओर ले जाता है, और आत्म-स्वीकृति अधिक आध्यात्मिक आत्मविश्वास की ओर ले जाती है।

चाहे हम किसी भी परिस्थिति से गुजरें, यह आत्मविश्वास हमारे आंतरिक धन को बढ़ाता है जो हमें सेक्सी और शानदार महसूस करने की अनुमति देता है। 

यह भी पढ़े : इन 5 तरीकों से बनें बेहतर ऑर्गनाइज़र और काम के तनाव को कहें बाय-बाय

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।