कोरोनावायरस कर रहा है आपके रिश्ते को खराब? तो साइकोलोजिस्ट के ये सुझाव हैं आपके लिए

Updated on: 10 December 2020, 11:17 am IST

कोरोना वायरस ने वाकई हमारे रिश्तों में बहुत तनाव बढ़ाया है। अगर आप भी इस बात से परेशान हैं तो एक्सपर्ट के ये सुझाव आपकी मदद जरूर करेंगे।

आपसी संवाद बनाए रखना जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक
आपसी संवाद बनाए रखना जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक

कोविड -19 महामारी ने हमारे जीवन को पूरी तरह से बदल कर रख दिया है। इसमें संदेह की कोई गुंजाइश ही नहीं है कि इसका प्रभाव हमारे रिश्तों पर बहुत नकारात्मक रहा है। कुछ लोगों में लॉन्ग डिस्टेन्स रिलेशनशिप यानी दूर रहकर रिश्ते निभाने की समस्या है। वहीं कुछ कपल्स में हमेशा साथ होने के कारण लड़ाईयां बढ़ गईं हैं। यह तो स्पष्ट है कि कोरोना वायरस के कारण बढ़े तनाव का असर हमारे रिश्तों पर हो रहा है।

दिल्ली की जानी मानी क्लीनिकल मनोवैज्ञानिक डॉ भावना बर्मी बताती हैं वे दो तरीके जिनसे हमारे रिश्ते को प्रभावित कर रहा है कोरोनावायरस।

1. बढ़ती लड़ाईयां

अपने पार्टनर के साथ दिन के चौबीसों घंटे एक ही जगह में बन्द रहना मुश्किल हो सकता है। यह ना केवल आपके पर्सनल स्पेस को बाधित करता है, बल्कि झगड़े भी बढ़ाता है।

कोरोनावायरस और लॉकडाउन के कारण रिश्‍तों में तनाव बढ़ा है। चित्र: शटरस्‍टॉक
कोरोनावायरस और लॉकडाउन के कारण रिश्‍तों में तनाव बढ़ा है। चित्र: शटरस्‍टॉक

“एक तो आपको घर और ऑफिस दोनों के काम संभालने हैं। ऊपर से घर के कामों का बंटवारा बराबर नहीं होता। ऐसे में हर वक्त साथ रहना तनावपूर्ण होता ही है। यही कारण है कि झगड़े बढ़ गए हैं”, बताती हैं डॉ बरमी।

2. प्यार और रोमांस की कमी

कोरोना वायरस के कारण ऑनलाइन कुछ ज्यादा ही प्रचलित हो गया है और इस कड़ी में प्यार भी अछूता नहीं है। चाहें कुछ भी हो, वीडियो कॉल्स और सोशल मीडिया के बीच आपका प्यार कहीं दब ही जाता है। डॉ बर्मी कहती हैं, “यंग कपल्स को अपने रिश्तों में समस्या आ रही है क्योंकि सोशल डिस्‍टेंसिंग के कारण उनमें दूरियां बढ़ गयी हैं। किसी व्यक्ति से ऑनलाइन मिलना और वर्चुअल डेट करना मुश्किल है, जिसका प्रभाव दिखाई पड़ रहा है।”

आप क्या कर सकती हैं?

यह समझना बहुत जरूरी है कि जीवन के अच्छे-बुरे बाकी समय की तरह यह समय भी गुजर जाएगा। कोरोनावायरस की महामारी खत्म होगी और जीवन वापस पहले जैसा हो जाएगा। चाहें आज आप दोनों के बीच चीजें कितनी भी खराब हों,यह समय गुजर जाएगा। एक दिन यह सब आपका अतीत होगा। इसलिए चिंता छोड़ें और धैर्य रखना सीखें।

दूरियों में प्यार फीका ना पड़ने दें, थोड़े से एफर्ट से आप अपने रिश्ते में फिर वही प्यार पा सकती हैं। चित्र- शटरस्टॉक।

डॉ बर्मी के अनुसार, “संवाद ही समाधान है। अपने मन की बात, अपनी चिंता सीधे-सीधे और स्पष्ट रूप से जाहिर करें। अपने पार्टनर को अपनी भावनाएं सही तरह से बताएं। उनकी बात सुनें और उन्हें भी उनकी भावनाएं प्रकट करने का मौका दें। समाधान की ओर बढ़ने का प्रयास करें।”

वह कहती हैं, “अपने पार्टनर को समझाएं कि आप कैसा महसूस कर रहीं हैं और उनके बर्ताव का आप पर क्या प्रभाव पड़ रहा है। बात करना ही एकमात्र रास्ता है।”

अंत में, अपने गुस्से को नियंत्रित करने और जाहिर करने का सही तरीका सीखें। यह सच है कि आपको गुस्सा आएगा, लेकिन उसे बाहर निकालने का सकारात्मक तरीका ढूंढे। एक्सरसाइज और मेडिटेशन करें। अगर आपको लगता है कि बात हाथ से निकल रही है, तो प्रोफेशनल मदद लेने में हिचकिचाएं नहीं।

यह भी पढ़ें – पार्टनर से झगड़े के बाद कभी नहीं माननी चाहिए दोस्‍तों की ये 4 सलाह, मनोवैज्ञानिक बता रहीं हैं क्‍यों

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें