अपनी और बच्चों की मेमोरी बढ़ानी है, तो ये आयुर्वेदिक हर्ब कर सकती है कमाल, जानिए क्या है ये 

अच्छी मेमोरी सफलता का आधार है। बच्चों को पढ़ाई और आपको अपने काम पर फोकस करने के लिए याद्दाश्त बढ़ाने की जरूरत है, तो आयुर्वेदिक हर्ब शंखपुष्पी आपके काम आ सकती है। 

shankhpushpi ke fayde
शंखपुश्पी खराब याददाश्त, अनिद्रा, अपच, एडीएचडी और कई अन्य मस्तिष्क विकारों का इलाज करने के लिए जाना जाता है। चित्र : शटरस्टॉक
स्मिता सिंह Published on: 7 October 2022, 16:41 pm IST
  • 140

आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां शरीर के हर अंग के लिए फायदेमंद होती हैं। इनके साथ सबसे अच्छी बात यह होती है कि ये पूरी तरह हानि रहित यानी साइड इफ़ेक्ट से मुक्त हैं। इसलिए इनका प्रयोग कभी भी और कहीं भी किया जा  सकता है। ऐसी ही एक हर्ब है शंखपुष्पी। शंखपुष्पी दिमाग के लिए बहुत स्वास्थ्यकर होता (shankhpushpi benefits) है। पुराने समय में ऋषि- मुनि इसका सेवन याद्दाशत बढ़ाने के लिए करते थे। शंखपुष्पी दिमाग के लिए कितना फायदेमंद है, यह जानने के लिए हमने बात की वेदास क्योर के फाउंडर और आयुर्वेद एक्सपर्ट डॉ. विकास चावला से।  

जरूरी है मस्तिष्क की अच्छी देखभाल

मस्तिष्क शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है। यह न केवल सभी कार्यों को सुचारू रूप से कराने में मदद करता है, बल्कि काम करने के उचित तरीके भी तय करता है। सर्वोत्तम परिणाम प्राप्त करने के लिए ब्रेन सभी अंगों को निर्देशित करता है। इसलिए ब्रेन की अच्छी देखभाल भी जरूरी है।

आहार और गतिविधियों पर ध्यान देकर मस्तिष्क को स्वस्थ रखा जा सकता है। नियमित व्यायाम, पर्याप्त नींद, मानसिक रूप से सक्रियता और पोषक तत्वों से भरपूर आहार लेने से इसकी देखभाल अच्छी तरह की जा सकती है। मस्तिष्क को स्वस्थ रखने के लिए आयुर्वेदिक उपचार चुनने की सलाह दी जाती है।

शंखपुष्पी है ब्रेन के लिए हेल्दी हर्ब (Healthy Herb for Brain Shankhpushpi) 

आयुर्वेदिक विशेषज्ञ विकास चावला के अनुसार, ‘शंखपुष्पी’ एक प्रभावी हर्ब है,  जो मस्तिष्क के कामकाज को सुनिश्चित करती है और उसे हर  प्रकार की समस्या से भी बचाती है। शंखपुष्पी’ आयुर्वेदिक हर्ब के नियमित सेवन से किसी भी प्रकार की मानसिक स्वास्थ्य संबंधी समस्या से बचा जा सकता है।  

शंखपुष्पी एक बारहमासी जड़ी बूटी है। ‘शंखपुष्पी’ का उपयोग औषधीय लाभों के लिए किया जाता है। इसमें हल्के रेचक गुण भी होते हैं। यह खराब याददाश्त, अनिद्रा, अपच, एडीएचडी (Attention Deficit Hyperactivity Disorder) और कई अन्य मस्तिष्क विकारों का इलाज करने के लिए जाना जाता है। 

मेमोरी बूस्टर शंखपुष्पी (Memory Booster Shankhpushpi) 

यह संभावित मेमोरी बूस्टर और ब्रेन टॉनिक है। यह सक्रिय रूप से बुद्धि और मस्तिष्क के कामकाज में सुधार करने के लिए काम करता है। यह एकाग्रता, सीखने की क्षमता, मानसिक थकान, तनाव, चिंता, अवसाद आदि में सुधार करने में भी फायदेमंद है।

stress vajan badhata hai
तनाव और एंग्जायटी में कारगर है शंखपुष्पी। चित्र : शटरस्टॉक

इसका प्रयोग सभी कर सकते हैं।  

यहां जानिए मेमोरी बढ़ाने के लिए कैसे कर सकते हैं शंखुपुष्पी का प्रयोग

1 पानी या दूध के साथ लें शंखपुष्पी (With Water or Milk) 

शंखपुष्पी चूर्ण, जूस, टैबलेट या सिरप के रूप में उपलब्ध होता है। इसे दिन में खाना खाने के बाद पानी या दूध के साथ लिया जा सकता है ।

2 पत्तियों के रस का सेवन (Leeves Juice) 

 शंखपुष्पी की पत्तियों का रस निकालकर दूध के साथ इसका सेवन किया जा सकता है।

3 फूलों की चाय( Shankhpushpi Flower Tea) 

शंखपुष्पी के फूलों को धीमी आंच पर उबालकर इसकी चाय पीने से भी मेंटल हेल्थ इम्प्रूव होता है।

 4 तुलसी की पत्तियों और अदरक के साथ कूटकर(With Tulsi and Ginger)  

शंखपुष्पी की पत्तियों को तुलसी की पत्तियों और अदरक के साथ कूटकर भी किया जा सकता है । किसी भी रूप में इसके सेवन से पहले आयुर्वेदिक एक्सपर्ट से जरूर कंसल्ट करें। 

यह भी पढ़ें :-बेली फैट कम करने में असरदार है गुग्गुल, जानिए कैसे काम करती है ये आयुर्वेदिक हर्ब

  • 140
लेखक के बारे में
स्मिता सिंह स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory