क्या आपको भी लगता है कि आपके दोस्त आपको हल्के में ले रहे हैं, तो अपनाएं ये 6 सुझाव 

दोस्ती वह रिश्ता है जिसे हम खुद चुनते हैं। पर कई बार हमारे दोस्त अपनी सीमाएं भूल जाते हैं। ऐसे में एक हेल्दी रिश्ते के लिए बातचीत के ज़रिए दोस्त को उसकी सीमा याद दिलाना भी ज़रूरी हो जाता है।
बात करना बन सकता है हर मानसिक घाव का मरहम । चित्र : शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published on: 3 July 2022, 18:00 pm IST
ऐप खोलें

जब आपकी दोस्ती की बात आती है, तो क्या आपको हमेशा ऐसा लगता है कि आप ही अधिक खर्च हो रहे हैं? अगर ऐसा है तो आप अकेले नहीं हैं। एक दीर्घकालिक संबंध में, यह संभावना है कि आप किसी बिंदु पर लाभ उठाए जाने की भावनाओं का अनुभव करेंगे। यह अलग स्थिति है और बहुत सारे लोग इसका अनुभव करते हैं। और तब कई बार स्थिति समझौता करने जैसी हो जाती है। हालांकि, दोस्ती में दिया जाना जरूरी है, पर कितना, यह भी आपको सीखना चाहिए। 

पहले खुद को हल्के में लिए जाने के संकेत समझिए 

इससे पहले कि आप इस पर काम करना शुरू करें, आपको पहले यह निर्धारित करना चाहिए कि क्या वास्तव में आपके दोस्तों द्वारा आपको हल्के में लिया जा रहा है। कई संकेत हैं, जैसे कि आपका मित्र आपकी बात नहीं सुन रहा है, आपके साथ समय नहीं बिता रहा है, आपसे लगातार फेवर्स मांग रहा है, केवल तभी आपसे संपर्क कर रहा है जब उन्हें आपकी सहायता की आवश्यकता हो, या अब आप में कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रहा है। अगर ऐसा है, तो यहां बताया गया है कि आप इसे कैसे रोक सकते हैं।

फोर्टिस अस्पताल मुलुंड और हीरानंदानी अस्पताल, वाशी में सलाहकार मनोचिकित्सक केदार तिलवे, ने दोस्तों द्वारा की जाने वाली ऐसी बातों को कैसे रोका जाए, इस बारे कुछ सुझाव दिए हैं।

डॉ तिलवे कहते हैं, “दोस्ती उन रिश्तों में से एक है जिसे हम चुनते और बनाते हैं, जिसमें समय के साथ विश्वास मज़बूत बनता है। कभी-कभी दोस्तों को छूट देना आवश्यक हो सकता है, लेकिन अगर यह एक सतत प्रक्रिया बन जाती है, तो हमारे आत्म-सम्मान और आत्मविश्वास की भावना के लिए इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं और ये आपकी भावनाओं को चोटिल भी कर सकते हैं।” 

दोस्हैंतों के लिए तय करें उनकी सीमाएं । चित्र: शटरस्‍टॉक

इसलिए, अगर आपको लगता है कि आपके दोस्त आपको हल्के में ले रहे हैं या वे आपका फायदा उठा रहे हैं, तो इसे रोकने के लिए डॉ. तिलवे द्वारा बताए गए इन सुझावों को आजमाएं।

किसी को आपको हल्के में लेने से कैसे रोकें:

1. सीमाएं निर्धारित करें

जब आप और आपके दोस्तों के बीच की सीमाएं पार हो जाती हैं, तो अपने लिए बोलना और उचित सम्मान और स्पेस देना और लेना मुश्किल हो सकता है। आपको अपनी सीमाओं को अधिक सटीक रूप से व्यक्त करने पर काम करना चाहिए। डॉ तिलवे सलाह देते हैं, “दोस्ती में किए गए व्यवहार या थोपने के संबंध में स्पष्ट सीमाएं निर्धारित करें।” यह भी याद रखें कि ‘नहीं’ कहना एक हेल्दी आदत है, इसलिए इसके लिए अपने आप को दोषी महसूस न करें!

2. कम्यूनिकेशन को बेहतर बनाएं

जाने-माने लेखक शक्ति गवैन कहते हैं, “आप वह नहीं होते हैं जो आप कहते हैं बल्कि वह हैं जो करते हैं।” खुल कर अपनी बात कहना संचार का एक ऐसा तरीका है, जो बेहद महत्वपूर्ण है। अपनी बात बेहिचक कहना, विचारों, अन्य लोगों की मांगों और अधिकारों के बीच सामंजस्य बनाए रखने में आपकी सहायता कर सकता है।

इसके अतिरिक्त, अपने बारे में आत्मविश्वास महसूस करना आपको इस्तेमाल होने से रोकता है, क्योंकि ऐसे में दूसरा व्यक्ति आपकी निर्धारित सीमाओं से परे जाने से पहले हिचकिचाता है।

3. प्रतिक्रिया दें

प्रत्येक व्यक्ति को सम्मान और वैल्यू प्राप्त करने का अधिकार है, और इस तरह के व्यवहार की इच्छा करना स्वाभाविक है। इसलिए, आपको हमेशा अपनी भावनाओं को स्वीकार करना चाहिए।

अगर आपको लगता है आपको हल्के में लिया जा रहा है, तो जब तक आप स्पष्ट नहीं हो जाते हैं तब तक इस मुद्दे से निपटने से पीछे न हटें। 

डॉ तिलवे कहते हैं, “दूसरे व्यक्ति के कारण मिली अनपेक्षित चोट पर एक रचनात्मक प्रतिक्रिया देते हुए उन्हें बताएं कि इसका प्रभाव क्यों पड़ा। यदि आप अपनी मांगों को अपने मित्र को सीधे शब्दों में बताते हैं, तो शायद वे आपको और आपकी स्थिति को बेहतर ढंग से समझेंगे।

दोस्ती जीवन का अहम हिस्सा है. चित्र : शटरस्टॉक

4. मुद्दों का समाधान

हां, आपको हमेशा अपने दोस्तों के साथ समस्याओं को सुलझाने की कोशिश करनी चाहिए! डॉ तिलवे सलाह देते हैं, “जितनी जल्दी हो सके चीजों को ठीक करने की कोशिश की जानी चाहिए, क्योंकि आप आखिरकार दोस्त हैं।” 

आपके और आपके मित्र के बीच की दूरी को कम किया जा सकता है और उनके साथ समय बिताकर, बातचीत करके और अपनी समस्याओं से निपटकर हल भी निकला जा सकता है।

6. दूसरों की राय का सम्मान करें

यह सबसे महत्वपूर्ण सलाह है जिसे आपको याद रखने की आवश्यकता है। मुखर और आत्मविश्वासी होते हुए आपको हमेशा दूसरे व्यक्ति के विचारों का सम्मान करना चाहिए। इसलिए, किसी पद को लेने के लिए संघर्ष में उलझने के बजाय विचारों के मतभेदों को सहन करने की क्षमता विकसित करें, क्योंकि वजह कोई भी हो आपकी दोस्ती से बढ़कर नहीं हो सकता है।

यह भी पढ़े:मम्मी हमेशा देती हैं अति से दूर रहने की सलाह, मैंने अनुभव से जाना इसका कारण 

लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी,
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें
Next Story