2 Year of Covid-19 : क्या आप भी इस दौरान खोया हुआ महसूस कर रहीं हैं? तो जानिए इससे कैसे उबरना है

Published on: 27 January 2022, 19:30 pm IST

किसी को भी दुविधा में रहना पसंद नहीं होता। लेकिन कोविड -19 के इन दो वर्षों ने आपको अपने भीतर की चिंता से अवगत कराया है। इसने आपको यह भी दिखाया कि आप इसे संभालने में कितनी सक्षम हैं।

yeh aapke mental health ke liye acha nahi hai
यह आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है। चित्र : शटरस्टॉक

इन दो सालों को कौन भूल सकता है! कोविड-19 का पहला केस, जिसे हमने साधारण वायरस समझा और जिसने हमारी पूरी दुनिया में उथल-पुथल मचा दी। इन दो सालों में हमारा रुटीन, हमारा खानपान और मेंटल हेल्थ, सब कुछ इससे प्रभावित हुआ है। इन्हीं में से एक है फोमो (Fear of missing out) सिंड्रोम। जिसका हम में से ज्यादातर लोगों ने सामना किया। अगर आपकी कहानी भी यही है, तो समझिए कि इससे कैसे उबरना है (How to deal FOMO)।

आपका FOMO एंग्जाइटी का कारण बन सकता है

आपने यह मुहावरा बहुत सुना और कहा होगा, “अभी बोहोत समय है यार”। आपने उनमें से कई लोगों को यह कहते सुना भी होगा कि यह एक मिथक के अलावा और कुछ नहीं है। ऐसा इसलिए है क्योंकि समय उड़ जाता है। जब तक आप इसे महसूस करते हैं, तब तक बहुत देर हो चुकी होती है। इस महामारी के दौरान आपके साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ होगा। अमूमन लोगों के चिंता का स्तर आसमान छू रहा था।

आप में से कई लोगों के जीवन का प्रमुख लक्ष्य दुनिया की यात्रा करना और सबसे अप्रिय चीजें करना है। लेकिन कोविड-19 ने सब कुछ ताक पर रख दिया!

FOMO - fear of missing out!
FOMO यानी फियर ऑफ मिसिंग आउट! चित्र: शटरस्‍टॉक

इस समय जो अधिक भयानक था वह उन इंस्टा रीलों (Instagram reels) के माध्यम से स्क्रॉल करना रहा होगा जो आपके FOMO को बढ़ा सकता था। आप में से कई लोग आवेगपूर्ण निर्णय करके अपनी मेहनत की कमाई उड़ा दी होगी। यह एक बार नहीं, कई बार हुआ होगा। आपको याद है जब दूसरी लहर (Covid-19 second wave) से ठीक पहले कोविड-19 मामलों से थोड़ी राहत मिली थी? यह आपके लिए पिंजरे में से निकलने के समान रहा होगा।

थकावट भरे दिन 

लेकिन ऐसा होना कठिन था क्योंकि आप में से कई लोग कोविड -19 से संक्रमित हो सकते थे। यह टेस्ट रिजल्ट (covid-19 testing) भी आपकी चिंता को फिर से शुरू कर देती होगी। घूमने का प्लान बदल जाने की वजह से आप एक बार फिर शांत हो गए होंगे। आपको ऐसा लगा होगा कि सब गड़बड़ हो चुका था। आपका यह व्यवहार एंजायटी के कारण था!

यह एक उदाहरण था, लेकिन कई चीजों को खोने का डर आपके साथ लगभग 7-8 महीने तक रहा। इसने आपको दुखी, बेकार और उद्देश्यहीन महसूस कराया। और हर कोई जानता है कि यह अच्छी स्थिति नहीं है।

आप कम उत्पादक, कम ऊर्जा, और सब कुछ व्यर्थ महसूस करते होंगे।

आपको रिलैक्स करने की जरूरत है

सच कहें तो उस समय के बारे में सोचकर आप आज भी पागल हो जाते होंगे। लेकिन अब आप अपने मन को आराम करने के लिए के सकते हैं क्योंकि यह भी बीत जाएगा। इस क्षेत्र में प्रवेश करना इतना आसान नहीं था। जब FOMO आपको हिट करता है, तो यह शांत पानी में भी बहुत सारी तरंगें पैदा करता है।

Social detox hai jaroori
सोशल डिटॉक्स है जरूरी। चित्र: शटरस्टॉक

ऐसे समय में कई लोगों ने ऑनलाइन थेरेपी के लिए खुद को नामांकित किया था। इसमें होने वाले कुछ छोटे-छोटे आपकी मदद करते थे।

1. सोशल डिटॉक्स (Social detox)

आप खुद को सोशल मीडिया से पूरी तरह अलग नहीं कर सकते हैं। आज के समय में यह असंभव है। लेकिन आप खुद की तुलना करना बंद कर सकते है।

2. खुद से बात करना (Talk to yourself) 

आप लगातार खुद से यह कह सकते हैं कि यह अंत नहीं है और आपको हैप्पी टाइम के लिए इंतजार करना होगा। साथ ही आप जो मैं करना चाहते हैं, वह करें। आपको यात्रा करने का मन जो सकता है। लेकिन कोविड के दौरान, वे ज़ोरदार यात्राएं भी आधी अधूरी रहने वाली हैं और यह आपको नहीं चाहिए।

3. अपनी बकेट लिस्ट बनाना (Make your own bucket list)

आप अपनी बकेट लिस्ट बनाना शुरू कर सकते हैं। हम आपको यह नहीं बता सकते कि यह एक्टिविटी आपको कितना खुश कर सकता है। यह बहुत अच्छी और सकारात्मक सोच महसूस करने में मदद करता है।

Covid-19 se bachne ke liye quarantine party acha idea hai
कोविड-19 सुपर स्‍प्रेडर से बचने के लिए क्‍वारंटीन पार्टी एक अच्‍छा आइडिया है। चित्र : शटरस्‍टॉक

4. घर पर छोटे उत्सव (Celebrate at home)

एकरसता को तोड़ने के लिए, आप छोटे समारोहों की योजना बना सकते हैं। इसके लिए आपको किसी विशेष दिन के इंतजार करने की जरूरत नहीं है। कभी-कभी जगह नहीं, बल्कि कंपनी मायने रखती है। आप अपने सभी दोस्तों को ऑनलाइन कर सकते हैं और कुछ मजेदार चीजों पर चर्चा कर सकते हैं। यह बहुत मज़ेदार होता है, और यह आपको FOMO से दूर होने में मदद करता है।

सारांश

कोविड-19 का यह दो साल आसान नहीं था। लेकिन आपको जो चीज याद रखने की जरूरत है, वह यह है कि आपको इससे लड़ने की जरूरत है। जिस तरह की चिंता यह पैदा करेगी, वह आपको क्लॉस्ट्रोफोबिक और असहाय महसूस कराएगी।

इसलिए यदि आप भी अपने मन और हृदय के बीच दुविधा में हैं, तो अपने आप से बात करने का प्रयास करें। ऐसा करने से लगता है कि सबसे बुरा समय खत्म हो गया है। कोविड अब हमारे साथ किसी भी अन्य बीमारी की तरह होने जा रहा है। इसे कुछ सरल सावधानियों से निपटा जा सकता है।

यह भी पढ़ें: सरोगेसी के जरिए बनना चाहती हैं मां, तो इन सोशल टैबू और मिथ्स को दूर करना है जरूरी

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें