वैलनेस
स्टोर

असल में आपकी मानसिक शांति के लिए उतना भी बुरा नहीं है सिंगल होना, समझिए इन 5 बातों को

Published on:16 January 2021, 15:00pm IST
हम में से ज्यादातर लोग एक रिलेशनशिप में रहना चाहते हैं, प्यार को महसूस करना चाहते हैं। लेकिन सिंगल होने के भी अपने अलग फायदे हैं। वास्तव में सिंगल होना, एक साकारात्मक अनुभव कैसे हो सकता है, इस बारे में और जानने के लिए आगे पढ़ें।
  • 80 Likes
अकेले होना उतना भी बुरा नहीं है, जितना लोग सोचते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

साल 2020 लगभग जीवन के हर क्षेत्र में, वैश्विक स्तर पर उथल-पुथल का हिस्सा रहा है।
अर्थव्यवस्था और शारीरिक स्वास्थ्य को प्रभावित करने के अलावा, अगला सबसे बड़ा प्रभाव क्षेत्र मानसिक स्वास्थ्य और कल्याण था। बहुत से लोगों ने अपनी नौकरी खो दी, बहुत से लोगों के लिए जीवित रहना ही एक बड़ा लक्ष्‍य बन गया।

ऐसे में सिंगल रहना भी काफी कठिन रहा। यह सामान्य परिस्थितियों में ही काफी कठिन होता है, इसलिए यह कोविड-19 के समय में और भी अधिक कठिन था। कुछ लोग सिर्फ नेटफ्लिक्स और आइसक्रीम से ही लिप्त रहे हैं।

सिंगल रहना, विशेष रूप से तब जब आप वास्तव में एक रिलेशनशिप में रहना चाहते हैं, सबसे कठिन चुनौती है। ऐसी असपष्ट गहरी लालसा या उदासी को अस्पष्ट नुकसान (ambiguous loss) कहा जाता है। आप जानती हैं कि कुछ ऐसा भी है जिसे आप गहराई से मिस कर रही हैं। अभी भी यह आपके जीवन में किसी भी तरह प्रकट हो सकता है। असल में आप यह भी नहीं जानती हैं ऐसे में क्या किया जाए।

अकेली हैं और खुश रहना चाहती हैं, तो इन पांच चीजों पर जरूर गौर करें –  

1. सिंगल रहने को लेकर अपना दृष्टिकोण बदलें

ऐसे ज्यादातर लोग जो सिंगल हैं, वास्तव में अपनी पसंद से नहीं हैं। जिन लोगों ने इसे चुना है उनके लिए यह काफी सुविधाजनक हो सकता है। वहीं जिन पर सिंगल होना मजबूरी का चुनाव है, उन्‍हें यह समझना चाहिए कि किसी के साथ रिश्ते में होना या सिंगल होना, एक ही सिक्के के दो अलग-अलग पहलू हैं।

खुद से प्‍यार करना सबसे ज्‍यादा जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक
खुद से प्‍यार करना सबसे ज्‍यादा जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक

दोनों स्थितियों के अपने फायदे और नुकसान हैं। जब आप एक रिश्ते में होने की इच्छा रखते हैं, तो पूरे पैकेज को देखें और व्यावहारिक रूप से देखें कि यह आपके लिए कैसे काम करता है। शायद आपकी स्थित उतनी बुरी नहीं है , जितना आप सोच रहीं हैं।

2. पहले खुद को अच्छी तरह से जान लें

चाहे आप कितना भी सोचें कि आप जान-बूझकर ऐसा चाहती हैं, लेकिन सिंगल होना अक्सर एक अवचेतन पसंद (subconscious choice) है। अपने आप से यह पूछें कि आपका ऐसा कौन सा हिस्सा है जिसे आप अपने अलावा किसी दूसरे के साथ गहरे स्तर पर साझा करने के लिए तैयार नहीं हैं।

संभवत: आप दूसरे के साथ होने या लचीलेपन में खुद को कमतर महसूस करती होंगी। इस स्तर पर यह महत्वपूर्ण है कि खुद को न देखें, बल्कि यह समझें कि किसी भी परिप्रेक्ष्य में कठोरता चोट के डर से पैदा होती है। वहां कुछ अंतर्निहित आघात हो सकता है जिसके बारे में आपको अभी तक जानकारी नहीं है।

3. स्वतंत्रता को महत्व दें

उस स्वतंत्रता को महत्व दें जो आपके पास है। सोचिए अगर हर बार आपको कहीं जाना था, कुछ करना था या कोई फैसला लेना था, तो आपको किसी के साथ उस पर बात करनी थी। अब आपको इसके लिए किसी की सलाह की जरूरत नहीं है। हालांकि किसी के साथ होना अकसर खुशी देता है, पर बहुत से लोग एक जोड़ी के रूप में अपेक्षित जिम्‍मेदारियों के लिए तैयार नहीं होते।

अपनी स्‍वतंत्रता के महत्‍व को समझें। चित्र: शटरस्‍टॉक
अपनी स्‍वतंत्रता के महत्‍व को समझें। चित्र: शटरस्‍टॉक

हम मानते हैं कि हमारे पास एक विशेष व्यक्ति होगा जो हमें वह करने की अनुमति देगा जो हम चाहते हैं, हम कब, क्या और कैसे चाहते हैं। हालांकि यह हमेशा उतना रोमांटिक नहीं होता है। उनकी अपनी ज़रूरतें और बारीकियाँ भी होंगी, और आपको अपनी इच्छाओं के अनुसार समायोजन के लिए भी तैयार रहना होगा।

4. खुद पर इन्‍वेस्‍ट करने से डरे नहीं

आपको अपने लिए सबसे मूल्यवान प्रस्ताव बनाने से डरना नहीं चाहिए। इसका मतलब है कि मैं उस एकल छुट्टी को लेने से नहीं डरता। एक रेस्तरां, एक मूवी थियेटर या एक बार में जाने और बैठने से डरना नहीं चाहिए। जिन लोगों से आप डरते हैं, वे आपको चुपके से जज करेंगे और आपसे ईर्ष्या करेंगे, लेकिन इसे कभी स्वीकार नहीं करेंगे।

5. अपने आप को पूरा करें

पूरे होने से हमारा तात्‍पर्य भावनात्मक रूप से पूरा होना है। तभी आप एक समान रूप से भावनात्मक रूप से एक साथी को आकर्षित करते हैं। कोई और आपको पूरा नहीं कर सकता।

कोई और आपको पूरा नहीं कर सकता, आप अपने आप में संपूर्ण हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
कोई और आपको पूरा नहीं कर सकता, आप अपने आप में संपूर्ण हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

केवल आप ही अपने लिए ऐसा कर सकती हैं। इसलिए स्वस्थ होने पर काम करें और खुद को खुश रखें। फिर देखें कि कैसे जादू से, सही व्यक्ति आपके दरवाजे पर दिखाई देता है, जब आप उसे देख नहीं रहे होते हैं।

यह भी पढ़ें – पॉजीटिव पर्सन बनना है, तो एक्‍सपर्ट की बताई इन 8 बातों को आज ही से फॉलो करना शुरू कर दें