मेंटल हेल्थ को नुकसान पहुंचा सकती है लव एडिक्शन, जानिए कब और क्यों आती है यह स्थिति

Published on: 16 August 2021, 20:00 pm IST

अपने प्यार को खुश करने या उसकी नजरों में अच्छा बनने के लिए अगर आप कोई भी जोखिम उठाने को तैयार हैं, तो संभलिए। क्योंकि ये आपकी मेंटल हेल्थ को डैमेज कर सकता है।

love addiction apki mental health ke iye khatarnak ho sakti hai
लव एडिक्शन आपकी मेंटल हेल्थ के लिए खतरनाक हो सकती है। चित्र: शटरस्टॉक

हम सभी किसी न किसी से प्यार (Love) करते हैं। ये प्यार किसी भी तरह का हो सकता है, माता-पिता का अपने बच्चों के साथ, बच्चों का अपने माता-पिता के साथ, दो दोस्तों का आपसी प्रेम या फिर रोमांटिक पार्टनर (Romantic Partners) का आपसी रिश्ता। पर क्या कभी आपने कल्पना की है कि यही प्यार हमारे जीवन, आत्मसम्मान और मानसिक स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है? नहीं न? असल में हम प्यार की लत (Love Addiction) की बात कर रहे हैं। जिसका शिकार व्यक्ति अतिशय भावुकता, जुनून, निराशा, अवसाद जैसी समस्याओं से घिर सकता है। आइए जानते हैं क्या है लव एडिक्शन और आप इसकी पहचान कैसे कर सकती हैं।

क्या है लव एडिक्शन (Love Addiction)

प्यार की लत या लव एडिक्शन आपके उस व्यवहार को परिभाषित करती है, जब आप प्यार पाने के लिए दूसरों को खुद से ज्यादा प्राथमिकता देने लगते हैं। अपने किसी खास दोस्त, प्रेमी या पार्टनर से प्यार पाने के लिए आप हर दम उन्हें खुश रखने की कोशिश करने लगती हैं। इससे रिश्ते में असंतुलन पैदा होने लगता है और इसका असर आपके मानसिक स्वास्थ्य, प्रोडक्टिविटी और व्यवहार पर भी नजर आने लगता है।

Love addiction apko hurt kar sakti hai
प्यार की लत आपको भावनात्मक आघात दे सकती है। चित्र: शटरस्टॉक

लव और इंटीमेसी कोच पल्लवी बरनवाल कहती हैं, “महिला हो या पुरुष लव एडिक्शन किसी के लिए भी खतरनाक हो सकती है। मेरे पास जो मामले आते हैं, उनमें मैं देखती हूं कि रिश्ते टूटने की सबसे बड़ी वजह किसी एक का दूसरे पर पूरी तरह निर्भर हो जाना भी है। लव एडिक्शन असल में तलाक, तनावपूर्ण माहौल, प्रोफेशनल फ्रंट पर लो प्रोडक्टिविटी, रोजमर्रा के कार्यों को करने में परेशानी, खराब एकाग्रता, जकड़न, चिंता और अवसाद जैसी समस्याएं दे सकती है। इसलिए इससे बाहर आना जरूरी है।“

क्या इसके कुछ अंतर्निहित कारण हो सकते हैं

लव एडिक्शन कैसे किसी व्यक्ति को प्रभावित करती है और इसके क्या कारण हो सकते हैं, इस पर लगातार शोध जारी हैं। यूरोपियन जर्नल ऑफ साइकाइट्री के जनवरी-मार्च 2019 के अंक में प्रकाशित शोध के अनुसार इसके लिए कुछ आनुवंशिकी, भावनात्मक आघात और परवरिश के फैक्टर जिम्मेदार हो सकते हैं। इन तीनों में से किसी भी पक्ष पर जब आप खालीपन महसूस करते हैं, तो आप उसे औरों में ढूंढने लगते हैं।

इंटीमेसी कोच पल्लवी बरनवाल एक उदाहरण देती हैं, “मेरे पास एक लड़की आई, जिसने एक व्यक्ति के साथ सिर्फ इसलिए हुकअप किया क्योंकि उसके पेरेंट्स ने कभी उसे गले से नहीं लगाया था। वह स्पर्श के सुख को महसूस करना चाहती थी और इस तरह वह एक गलत रिश्ते में फंस गई। मैं अपने क्लाइंट्स को बार-बार कहती हूं कि हमें बच्चों को प्यार के साथ बढ़ा करना चाहिए। इसमें गले लगाना, प्यार से सिर पर हाथ फेरना, प्रशंसा करना और सेलिब्रेट करना भी उसी तरह शामिल हो जैसे आप फूड को शामिल करते हैं। ये हैप्पी हॉर्मोन रिलीज करने में मदद करते हैं।

क्या हो सकते हैं लव एडिक्शन के दुष्परिणाम

लव एडिक्शन के शिकार लोगों के लिए सबसे बड़ा जोखिम टॉक्सिक रिलेशन में फंसने का होता है। उन्हें प्यार की इस कद्र जरूरत महसूस होती है कि वे सब कुछ जानते हुए भी गलत व्यक्ति के साथ आगे बढ़ने लगते हैं। दुर्भाग्य से वे इसके जोखिमों का आकलन नहीं कर पाते। और कभी-कभी इसकी परिणति दिल टूटने, दुर्व्यवहार, मौखिक या शारीरिक हिंसा अथवा आत्महत्या में भी हो सकती है। इसलिए इसे पहचानना और उससे बचना और भी ज्यादा जरूरी है।

यहां हैं लव एडिक्शन के लक्षण

आपको हैरानी होगी कि बहुत सारे फिल्मी गीत जिसे प्यार कहते हैं, असल में वे प्यार की लत के लक्षण हैं। विशेषज्ञों की मानें तो प्यार की लत के लक्षण पहचानना मुश्किल नहीं है। इसमें व्यक्ति निम्नलिखित भावनाओं का अनुभव कर सकता है-

love addiction ko samajhna zaruri hai
न चाहते हुए भी क्या आप दिन भर उसी के बारे में सोचती रहती हैं। चित्र- शटरस्टॉक।

1 प्यार को प्राथमिकता बना लेना

लव एडिक्शन का शिकार व्यक्ति बार-बार और लगातार प्यार की जरूरत महसूस करता है। हनीमून पीरियड तक तो ये कुछ हद तक ठीक है, पर जब ये खत्म होने का नाम न ले, तो आपको सतर्क हो जाना चाहिए। न चाहते हुए भी अगर आपकी अंगुलियां एक खास नंबर डायल करने लगती हैं, तो आपको अपना ध्यान विकेंद्रित करने की जरूरत है। प्यार के अलावा भी जीवन में बहुत सारे लक्ष्य होते हैं और वे सभी आपकी प्राथमिकता में भी शामिल होने चाहिए।

2 प्रेमी, पार्टनर या दोस्त को अपना खुदा मानना

जब आपको लगने लगे कि आपके पार्टनर में कुछ अलौकिक-पारलौकिक सा है, तो यकीन मानिए कि आपको उनकी एडिक्शन होने लगी है। असल में कुछ लोग थोड़े ज्यादा स्मार्ट या एक्टिव होते हैं। पर इसका ये मतलब नहीं कि आप उनसे कमतर हैं।

3 अपने मूड और भावनाओं के लिए उन पर निर्भर होना

उनका न बोलना अगर आप में गुस्सा भर देता है और मिलना मौसम में बहार ले आता है, तो आप उन पर पूरी तरह निर्भर रहने लगी हैं। वैज्ञानिक मानते हैं कि आपके मूड और स्वास्थ्य पर सबसे ज्यादा असर आपके आहार और मौसम का होता है। इनके अलावा नींद है, तो आपकी मेंटल और इमोशनल हेल्थ को दुरुस्त रखने में योगदान करती है।

4 अकेले होने पर परेशान हो जाना

ये सबसे बड़ा लक्षण है कि आप प्यार की लत की शिकार हो चुके हैं। अपने साथ समय बिताना जरूरी है। फिर चाहें वह अकेले खाना खाना हो या सैलून में स्पा एन्जॉय करना। पर जब आपके लिए ऐसा कोई भी समय गुजारना कठिन हो जाए तो आपका प्यार जरूरत से बढ़कर एडिक्शन पर पहुंच चुका है।

Apne sath samay bitaye
कोई और आपको पूरा नहीं कर सकता, आप अपने आप में संपूर्ण हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

मी टाइम आपको अपने लक्ष्य के प्रति फोकस होने में मदद करता है। जबकि अपने पूरे समय को किसी दूसरे के लिए समर्पित कर देना आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए बुरा हो सकता है।

तो क्या प्यार की जरूरत गलत है ?

हम सभी को किसी न किसी स्तर पर प्यार की जरूरत होती है। असल में प्यार के लिए हम रिश्ते बनाते हैं, सुविधाएं जुटाते हैं, तोहफे देते हैं और माफ करना सीखते हैं। एक तरह से सभी सामाजिक गुण प्यार पाने की ख्वाहिश पर टिके हैं। और यह बिल्कुल सामान्य है। मगर जब आप प्यार पाने के लिए सेल्फ एस्टीम, अपनी सुविधा और इच्छाओं की कुर्बानी करने लगते हैं, तब आपकी जरूरत लत या एडिक्शन में बदल चुकी होती है। और डियर गर्ल्स, लत किसी भी चीज की अच्छी नहीं होती। फिर चाहें वह प्यार ही क्यों न हो।

यह भी पढ़ें – FREEDOM : एक्सपर्ट बता रहे हैं 4 उपाय, जो आपको मूड स्विंग से देंगे परमानेंट आज़ादी

योगिता यादव योगिता यादव

पानी की दीवानी हूं और खुद से प्‍यार है। प्‍यार और पानी ही जिंदगी के लिए सबसे ज्‍यादा जरूरी हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें