Over exhausted : ये 5 संकेत बताते हैं कि आप खुद को बहुत ज्यादा थका रहीं हैं, खुद को आराम दीजिए

जब आप पूरी तरह से एग्जॉस्टिड होते है, तो किसी भी विषय पर फोक्स नहीं कर पाते हैं। जानते हैं कि वो कौन से साइन है, जो इस बात की ओर इशारा करते हैं कि अब आप थक चुके हैं।
Exhaustion ke signs ko pehchaanein
जानते हैं कि वो कौन से साइन है, जो इस बात की ओर इशारा करते हैं कि अब आप थक चुके हैं। चित्र शटरस्टॉक।
ज्योति सोही Published: 25 Aug 2023, 15:33 pm IST
  • 141

शरीर जब थकान (exhaustion) का अनुभव करता है, तो उस वक्त हमें अपने लिए अवश्य समय निकालना चाहिए। इसमें आप खुद को सुकून से भरपूर और हेल्दी महसूस करने लगते हैं। मी टाइम (me time) आपके अंदर एक नई एनर्जी का संचार करती है। इसके चलते आपकी बॉडी के साथ आपका ब्रेन भी रिचार्ज हो जाता है। कुछ वक्त पहले तक टायर्ड महसूस करने वाला शरीर एक बार दोबारा से नए कार्यों को अंजाम तक पहुंचाने के लिए तैयार हो जाता है। जानते हैं कि वो कौन से साइन है, जो इस बात की ओर इशारा करते हैं कि अब आप थक चुके हैं (signs of exhaustion)

ओवर एगजॉस्टिड (Over exhausted) होने के कुछ कारण

काम में हर वक्त मसरूफ रहना
हर काम को अकेले पूरा करने का प्रयास करना
लॉन्ग वर्किंग आवर्स तक वर्क करना
अपने आप को दिनभर में बिल्कुल वक्त न देना
हेल्दी हाईट चार्ट फॉलो न करना

ये बातें इस बात का संकेत है कि आप थक चुकी हैं

1. एकाग्रता की कमी

जब आप पूरी तरह से एग्जॉस्टिड होते है, तो किसी भी विषय पर एकाग्रचित्त होकर नहीं सोच पाते हैं। अपना फोक्स बनाए रखने की कोशिश करने के बावजूद आपका काम समय पर नहीं हो पाता है। साथ ही काम की क्वालिटी पर भी आपकी थकान के चलते प्रभावित होने लगती है। इसके चलते आप काम से जी भी चुराने लगते हैं।

Concentration nhi ban paati hai
जब आप पूरी तरह से एग्जॉस्टिड होते है, तो किसी भी विषय पर एकाग्र होकर नहीं सोच पाते हैं।। चित्र : शटरस्टॉक

2. एग्जाइटी महसूस करना

पूरी तरह से थक जाने के बाद हम कुछ वक्त अकेले बिताना चाहते हैं। अगर उस वक्त हम अन्य लोगों से घिरे रहते है या काम का प्रैशर बढ़ने लगता है, तो वो चीजें हमारे तनाव का कारण सिद्ध होने लगती है। तनाव के कारण मूड स्विंग होना और चिंताग्रस्त होना आम बात है। ये संकेत इस ओर इशारा करते हैं कि आप पूरी तरह से एग्जॉस्टिड है।

3. व्यवहार में रूडनेस झलकना

सुबह से लेकर शाम तक काम करते करते आप मेंटली और फिज़िकली दोनों तरीकों से थक चुके होते है। इसका असर आपकी पर्सनेलिटी पर दिखने लगता है। आपकी बॉडी लैंग्वेज से लेकर बोलचाल की भाषा से इस बात का पता लगाया जा सकता है कि आप ओवरबर्डन हो चुके हैं। इसके चलते आपके व्यवहार में रूडनेस झलकने लगती है। इसका प्रभाव आपके नज़दीकी रिश्तों पर भी पड़ सकता है।

4. डिसिज़न न ले पाना

ओवर टायर्ड (Over tired) होने के चलते किसी भी तरीके का डिसीजन लेने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। जब आप पूरी तरह से किसी कॉसेप्ट को नहीं समझ पाते हैं, तो उसके हिसाब से कोई भी फैसला लेना आपके लिए मुश्किलों से भरा हो सकता है। वे लोग जो डिसिजन नहीं ले पा रहे हैं। उसका एक प्रमुख कारण थकान भी हो सकता है। ऐसे में अहम फैसले लेने के लिए सही समय का चयन करना बहुत ज़रूरी है।

5. कंफ्यूज हो जाना

अगर आप हर छोटी बात को लेकर कंफयूज हो रही हैं, तो ये थकान का ही एक संकेत हैं। इस सिचुएशन में व्यक्ति एक्सप्रेसिव नहीं रह पाता है। इसका प्रभाव आपकी वर्क प्राडक्टिविटी पर दिखने लगता है। साथ ही आप मानसिक तौर पर भी परेशान हो जाती है। आपका इरिटेंटिंग व्यवहार अन्य चीजों को भी प्रभावित करने लगता है। खुद को असमंजस की स्थिति से बाहर निकालने के निए काम के घंटों का ख्याल रखें।

Exhaustion ke kaaran aap confuse rehte hain
अगर आप हर छोटी बात को लेकर कंफयूज हो रही हैं, तो ये थकान का ही एक संकेत हैं। चित्र:शटरस्टॉक

कैसे रखें खुद का ख्याल

दिनभर में आठ घंटे की पूरी नींद लें और स्क्रिन टाइम को कम करें।

कुछ वक्त वॉक, जिम और डांस के लिए भी अवश्य निकालें। इससे आपकी बॉडी का स्टैमिना बना रहता है।

काम के दौरान इंटरवैल्स लेना भी ज़रूरी है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

थकान से बचने के लिए डे टाइम में कुछ वक्त नैप के लिए निकालें।

अपने आप को खुश रखने का प्रयास करें और तनाव से दूर रहें।

ये भी पढ़ें- कंपैटिबिलिटी भी तय करती है किसी रिश्ते की उम्र और बॉन्डिंग, जानिए इसे कैसे चेक करना है

  • 141
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख