क्या आपको रिश्ते में बंधने से रोक रहा है कमिटमेंट फोबिया, तो इन 3 तरीकों से करें इसका सामना

Published on: 29 October 2021, 18:00 pm IST

कमिटमेंट फोबिया (commitment phobia) आपको एक स्वस्थ लॉन्ग-टर्म रिलेशनशिप (long-term relationship) में रहने से रोक सकता है। यहां बताया गया है कि आप इससे कैसे छुटकारा पा सकती हैं।

Commitment phobia aapke rishte ko effect kar sakta hai
कमिट्मेंट फोबिया आपके रिश्ते को प्रभावित कर सकता है। चित्र:शटरस्टॉक

हनीमून फेज (honeymoon phase) के अलावा, एक रिश्ते को चलाने के लिए लगातार मेहनत करने की आवश्यकता होती है। इसका मतलब यह है कि दोनों साथियों को स्वस्थ तरीके से संबंधों को विकसित करने के लिए सक्रिय प्रयास करने की आवश्यकता है। यह तभी हो सकता है जब दोनों पार्टनर अपने बंधन के प्रति पूरी तरह समर्पित हों, और कमिटमेंट फोबिया (commitment phobia) का सामना न करें।

क्या है कमिटमेंट फोबिया?

प्रतिबद्धता (commitment) की कमी रिश्ते को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती है। कुछ मामलों में, यह  रिश्ते को अंत तक भी ले जाती है। कमिटमेंट फोबिया को एक आत्म-विनाशकारी लक्षण (self-destructive trait) के रूप में वर्णित किया जा सकता है, जो किसी व्यक्ति के लिए एक दीर्घकालिक संबंध (long-term relationship) में रहना मुश्किल बनाता है।

हमने प्रसिद्ध ​​मनोवैज्ञानिक डॉ भावना बर्मी से इन आदतों के बारे में बात की और उन्होंने कहा, “ये आदतें या व्यवहार हैं जो अक्सर थोड़े समय के लिए राहत देते हैं। मगर अंततः यह स्वस्थ जीवनशैली के लिए सही रास्ता नहीं है। इन आदतों का जीवन पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।”

Khud se puche why
खुद से पूछें क्यों का सवाल। चित्र: शटरस्टॉक

कमिटमेंट फोबिया से कैसे छुटकारा पाएं?

कमिटमेंट फोबिया के दुष्परिणामों को जानने के बाद इसे दूर करना जरूरी है। हम बता रहें हैं इसे दूर करने के 3 तरीके!

1. खुद से पूछें ‘क्यों’ वाला सवाल 

आप पहले ही समझ चुके हैं कि आप कमिटमेंट से डरते हैं और एक स्वस्थ रोमांटिक संबंध बनाने के लिए इसे खत्म करने की आवश्यकता है। वास्तव में इसे खत्म करने के लिए, आपको अपने कमिटमेंट फोबिया के मूल कारण का पता लगाना होगा।

रिलेशनशिप एक्सपर्ट लॉरा बिलोटा, का विचार है कि कमिटमेंट फोबिया विभिन्न स्थितियों के परिणामस्वरूप विकसित हो सकता है। बचपन के शुरुआती आघात और हाल के संबंधों के नकारात्मक प्रभाव इनका कारण हो सकते हैं। वे आपको भविष्य में खुशहाल और स्वस्थ संबंध बनाने से रोक सकते हैं। इसलिए, विश्लेषण करने का प्रयास करें कि आपको डर क्यों लग रहा है। ताकि इसे दूर करने में मदद मिले। 

2. पार्टनर को बतायें अपने कमिटमेंट प्रॉब्लम्स 

कभी-कभी, आप अपने कमिटमेंट के मुद्दों की वजह से ऐसा बर्ताव करते हैं, जो आपके पार्टनर को बुरा लग सकता है। हो सकता है कि आप ऐसा करने का इरादा नहीं रखते हैं, लेकिन किसी ऐसे व्यक्ति के साथ रहना जो पूरी तरह से रिश्ते के लिए तैयार नहीं है, किसी व्यक्ति के भावनात्मक स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है।

इसलिए, सुनिश्चित करें कि आप अपने साथी को इस बात से अवगत करा रहे हैं कि आप वास्तव में कैसा महसूस करते हैं। इससे उन्हें अपनी अपेक्षाओं को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी और मजबूत संचार के आधार पर एक स्वस्थ संबंध के विकास में सहायता मिलेगी।

partner's commitment problems
अपने पार्टनर को बतायें अपनी कमिट्मेंट प्रॉब्लम्स। चित्र : शटरस्टॉक

3. थेरेपी से न शर्माएं

कमिटमेंट के भय से निपटना आपको दीर्घकालिक सहयोग और भावनात्मक स्थिरता का अनुभव करने से रोक सकता है। यदि इस पर काम करने के बावजूद आप आगे नहीं बढ़ रहे हैं, तो चिकित्सा प्राप्त करने में कोई बुराई नहीं है। आप कपल थेरपी के साथ-साथ व्यक्तिगत सत्र के लिए भी जा सकते हैं। 

यह भी पढ़ें: आपकी सेक्स लाइफ में बाधा डाल सकती है पेट और कमर पर जमा चर्बी, जानिए कैसे

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें