टॉक्सिक रिश्ते से निकलना भी कम चुनौतीपूर्ण नहीं, जानिए इसके बाद आपको कैसे रखना है अपना ख्याल

Updated on: 5 August 2022, 12:45 pm IST

हॉबीज़ जो आप भूल चुकी हैं उन्हें फिर से शुरू करें चाहे वह पढ़ना हो, तैरना हो, या अपने परिवार के साथ समय बिताना। ये आपके मूड और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार करेंगे।

how-to-overcome-breakup
अलगाव के बाद की स्थिति से यूं उबरें, चित्र: शटरस्टाक

जब आप किसी रिश्ते से जुड़ती हैं तो उससे कई उम्मीदें, सपनें और एफर्ट्स जुड़े होते हैं। अगर ऐसे में संबंध टूट जाए तो आप खुद को टूटा, बेकार और अनवांटेड महसूस करती हैं। आप जानती हैं कि रिश्ता टूट रहा है या टूट चुका है, लेकिन इस बात को स्वीकार करना थोड़ा मुश्किल है क्योंकि आप अकेले होने से डरती हैं। ऐसे में हालात का सामना करना बेहद मुश्किल हो जाता है। ज़रूरी है कि समझा जाए कि ज़िन्दगी में आगे बढ़ने के लिए एक टॉक्सिक रिलेशनशिप से उबरा जाए, इस बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए हमने बात की रिलेशनशिप एक्सपर्ट ऋषि माथुर से, चलिए जानें कि इस सिचुएशन से उबरने (how to heal from a toxic relationship) के लिए क्या है एक्सपर्ट की राय।

1 अपनी फीलिंग्स को समय दें

एक्सपर्ट माथुर कहते हैं, “आपको हमेशा अपनी भावनाओं को स्वीकार करने का प्रयास करना चाहिए क्योंकि यदि आप उन्हें स्वीकार नहीं करती हैं, तो आप कभी भी नॉर्मल नहीं हो सकेंगी। कभी-कभी बीती बातें याद कर अजीब महसूस करना कोई बड़ी बात नहीं है। अपनी भावनाओं को व्यक्त करें। उनके बारे में बात करेंऔर ईमानदार बनें। उन्हें छिपाने के लिए जल्दबाजी करने से स्थिति और खराब हो सकती है। अपने दर्द को स्वीकारिए और इससे भागना बंद कीजिए।”

2 सोशल मीडिया डिटॉक्स हों

ऋषि कहते हैं कि ऐसे समय में सोशल मीडिया से ब्रेक लेना सही फैसला है क्योंकि यह आपको उन दुखों और बुरी यादों की ओर ढकेल सकता है।  यह केवल आपकी भावनाओं को आहत करने वाला है। ऐसे में ब्रेक लेना शायद सबसे अच्छा काम है जो आप कर सकती हैं। इसलिए कुछ समय निकालें और इस रिश्ते से ब्रेक लें।

3 अपना ख्याल रखें

खुद की देखभाल करना सबसे ज़रूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक

आपको अपना ख्याल रखने की ज़रूरत है, क्योंकि अगर आप नहीं करेंगी, तो आपका ख्याल कौन करेगा? अपना ख्याल रखना हीलिंग का दूसरा और सबसे ज़रूरी पहलू है। अपनी अच्छी देखभाल करें, खासकर इस समय में क्योंकि आपका स्ट्रेस आपके स्वास्थ्य पर बहुत बुरा प्रभाव डाल सकता है। आप स्वयं अपने टूलकिट का सबसे ज़रूरी टूल हैं, इसलिए स्वयं की उपेक्षा न करें। अच्छे स्वास्थ्य के लिए सही पोषक तत्व और अच्छी नींद लेना बहुत जरूरी है।

4 अपने पसंदीदा लोगों से मिलें

प्रियजनों के आस-पास होने से न केवल आपको अच्छा महसूस होता है, बल्कि यह आपको जल्दी ठीक भी करता है। अपने पसंदीदा लोगों के साथ समय बिताने से आपको बह बेहतर महसूस करने में मदद मिलती है। यदि आपके पास समय है, तो रात के खाने या सप्ताहांत की छुट्टी की योजना बनाएं। ये क्षण आपको अपने मानसिक स्वास्थ्य और अंततः आपके शारीरिक स्वास्थ्य को भी बेहतर बनाने में मदद करेंगे। तो क्यों न आप उन लोगों के साथ समय बिताएं जिन्हें आप प्यार करते हैं, भले हीथोड़े समय के लिए ही सही?

5 वो करें जो आपको पसंद हैं

रिलेशनशिप एक्सपर्ट कहते हैं कि हम सभी की कोई न कोई हॉबी होती है जिन्हें हम करना पसंद करते हैं। ये वे गतिविधियाँ हैं जो जीवन में आगे बढ़ाती हैं। वे हॉबीज़ जो आप भूल चुकी हैं उन्हें फिर से शुरू करें ये आपके मूड और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार करेंगे। चाहे वह पढ़ना हो, तैरना हो, या अपने परिवार के साथ समय बिताना हो। आप एक नया शौक या कोई हॉबी क्लास भी शुरू कर सकती हैं जिससे आप सकरात्मक रूप से अपना समय बिता सकती हैं

6 जर्नल करने का प्रयास करें

doctor patient
डॉक्टर की मदद से करें सिचुएशन का सामना। चित्र: शटरस्टॉक

जर्नलिंग यानी डायरी लिखकर आप अपने विचारों और भावनाओं को बाहर निकालने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है। आपके दिमाग में जो कुछ भी चल रहा है उसे लिखें। जर्नलिंग तनाव मुक्त करने में मदद कर सकती है; यह सबसे लोकप्रिय तरीकों में से एक है। जब आप किसी ऐसी चीज़ के बारे में लिखती हैं जिसके कारण आप तनावग्रस्त होते हैं, तो बहुत सी चीज़ें आपके दिमाग से कागज़ पर आ जाएंगी। कलम और कागज के माध्यम से लिखने का पुराने ढंग का यह तरीका आपकी दबी हुई भावनाओं के लिए एक कारगर हीलर हो सकता है।

7 लें एक्सपर्ट की मदद

एक एक्सपर्ट से मदद लेना इस सिचुएशन से निपटने में आपकी मदद कर सकती है। यह दिखाता है कि बहुत अच्छा है कि आप यह समझ सकती हैं कि कुछ गलत हो सकता है और आप सहायता पाना चाहती हैं। अपनी असुरक्षा या डर को अब अपने निर्णयों पर हावी न होने दें। थेरेपी बेहतर महसूस करने और मौजूदा समस्याओं को हल करने का एक शानदार तरीका है जो बार-बार सामने आती रहती है। एक चिकित्सक से अपनी भावनाएं शेयर करना सेफ सेफ है और समस्याओं के बारे में ईमानदार तरीके से बात करने में आपकी मदद करता है। थेरेपी आपको अपने जीवन को अच्छे के लिए बदलने में मदद कर सकती है।

और अंत में

 बहुत ज़रूरी है कि इस बात को समझा जाए कि किसी रिश्ते से निकलने के लिए समय लगना बहुत आम सी बात है। किसी भी बंधन को तोड़ना आसान नहीं होता है, आपकी ज़िन्दगी बड़ी और बेशकीमती है और इसकी क़द्र की जानी चाहिए। कहते हैं न जो बीत गई सो बात गई तो बीती बातें को पीछे छोड़ कर आगे बढ़ें।

यह भी पढ़ें : Bone and Joint Day: मसल्स पेन से छुटकारा पाना चाहती हैं तो दवा से पहले राहत के लिए अपनाएं ये जादुई नुस्खे

शालिनी पाण्डेय शालिनी पाण्डेय

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें