गणेश मुद्रा का अभ्यास अल्जाइमर से बचाने में हो सकता है मददगार

Published on: 2 January 2022, 18:00 pm IST

यदि आप स्मृति संबंधी समस्याओं से पीड़ित हैं या उन्हें रोकना चाहते हैं, तो गणेश मुद्रा और गणेश नमस्कार आपकी मदद कर सकता है।

ganesh mudra kaise kare
गणेश मुद्रा और गणेश नमस्कार आपकी याददाश्त को तेज करने में मदद कर सकते हैं। चित्र : शटरस्टॉक

हर कोई अपने जीवन में किसी न किसी बिंदु पर स्मृति की चूक से पीड़ित होता है। अपने शुरुआती वर्षों में, बच्चे अपना होमवर्क करना भूल सकते हैं या स्कूल में एक निश्चित किताब या स्टेशनरी का सामान ले जाना भूल सकते हैं। जबकि विस्मृति एक सामान्य घटना है और इसके लिए किसी अलार्म की आवश्यकता नहीं होती है। पर अगर यह बढ़ता है, तो यह अल्जाइमर में बदल सकता है।

क्या इस समस्या में योग आपकी मदद कर सकता है?

योग एक प्राचीन और समग्र अभ्यास है जो कई शारीरिक और मानसिक सीमाओं का समाधान प्रदान करता है। योग में विशिष्ट तकनीकें हैं जो मनोभ्रंश और अल्जाइमर जैसे कई मुद्दों के इलाज और यहां तक ​​कि उन्हें रोकने में मदद कर सकती हैं।  गणेश मुद्रा और गणेश नमस्कार कुछ ऐसे अभ्यास हैं जिन्हें अल्जाइमर की स्थिति में मदद करने के लिए नियमित रूप से किया जा सकता है।

मस्तिष्क की शक्ति को बढ़ाता है योग

ये अभ्यास सुपर ब्रेन योग की श्रेणी में आते हैं। यह मस्तिष्क के गोलार्द्धों को सक्रिय और संतुलित करने में मदद करती है।  इसका वयस्कों और बच्चों दोनों पर एक गतिशील प्रभाव पड़ता है, जो उनकी सीखने की क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है।

Alzheimer’s Disease ke liye yoga
अल्जाइमर रोग आपको सब कुछ भुला सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

गणेश नमस्कार और गणेश मुद्रा का अभ्यास अन्य स्थितियों जैसे अटेंशन-डेफिसिट हाइपरएक्टिविटी डिसऑर्डर (एडीएचडी), डाउन सिंड्रोम, डिस्लेक्सिया और सीखने से संबंधित अन्य अक्षमताओं को भी रोक सकता है।  योग की मदद से, आप अपनी याददाश्त शक्ति एकाग्रता फोकस में सुधार कर सकते हैं, और इस प्रकार अपने रचनात्मक कौशल को बढ़ा सकते हैं।

गणेश मुद्रा फॉर्मेशन :

  1. सबसे पहले सुखासन (आसान मुद्रा) या पद्मासन (कमल मुद्रा) जैसी आरामदायक मुद्रा में बैठ जाएं।  अपने शरीर को आराम दें और गणेश मुद्रा की तैयारी करें।
  2. अंजलि मुद्रा बनाने के लिए अपनी हथेलियों को एक साथ लाएं।
  3. अपने बाएं हाथ को अपनी छाती के सामने पकड़ें, हथेली बाहर की ओर हो, और अपनी उंगलियों को मोड़ें।
  4. बाएं हाथ को दाहिने हाथ से पकड़ें, हथेली अंदर की ओर हो।
  5. दोनों हाथों की उंगलियों को आपस में जोड़कर रखें और लॉक करें।
  6. सांस लें और सांस छोड़ते हुए हाथों को बिना पकड़ को छोड़े अलग खींच लें।
  7. पूरी प्रक्रिया को 6 बार दोहराएं।
  8. हाथों की स्थिति को उलट दें और उन्हें 6 बार दोहराएं।
गणेश मुद्रा। चित्र : शटरस्टॉक

गणेश नमस्कार फॉर्मेशन 

  1. लंबे और सीधे खड़े हो जाएं, अपनी बाहों को बराबर रखें
  2. अपना दाहिना हाथ उठाएं और अपने बाएं कान के लोब को पकड़ें। आपका दाहिना हाथ आपके बाएं हाथ के ऊपर होना चाहिए।
  3. अपने बाएं हाथ को उठाएं और अपने दाहिने कान के लोब को अपने अंगूठे और तर्जनी से पकड़ें।  आपका अंगूठा सामने होना चाहिए।
  4. गहरी सांस छोड़ें और बैठने की स्थिति में धीरे-धीरे बैठ जाएं।
  5. इस स्थिति में 2-3 सेकेंड तक रहें।
  6. फिर से उठते ही धीरे से सांस लें।  यह एक चक्र पूरा करता है।
  7. आप इस चक्र को हर दिन लगभग 10-15 बार दोहरा सकते हैं।

यह भी पढ़े :WFH : शुक्रिया 2021, क्योंकि सबसे खराब दौर भी कुछ अच्छा लेकर आता है

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें