फॉलो

अगर किसी ऐसे व्‍यक्ति के साथ रिश्‍ते में हैं जो अवसाद से गुजर रहा है, तो इन 5 बातों का ध्यान ज़रूर रखें

Updated on: 19 August 2020, 09:55am IST
डिप्रेशन से जूझ रहे व्यक्ति को डेट करना बहुत मुश्किल है। यह बातें ध्यान में रखेंगे तो आपके रिश्ते पर नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ेगा।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 91 Likes
अवसाद ग्रस्‍त पार्टनर को डेट करना आसान नहीं होता। चित्र: शटरस्‍टॉक

मानसिक स्वास्थ्य समस्या किसी को भी हो सकती हैं, हमारे अपनों को भी। आज के समय में मानसिक रोग खासकर अवसाद बहुत आम हैं। अवसाद मुश्किल होता है, और ऐसे में जरूरी है कि मरीज की सही देखभाल हो। अगर आपका कोई प्रिय अवसाद से गुजर रहा है तो आपको उनकी सहायता करने के लिए आगे आना होगा। जब आपका पार्टनर अवसाद का शिकार हो तो महत्‍पूर्ण यह है कि आप इस मुश्किल समय में उनका साथ दें।

इस विषय की गंभीरता को समझते हुए हमने बात की दिल्ली की जानी मानी क्लीनिकल साइकोलोजिस्ट डॉ भावना बरमी से। डॉ बरमी बताती हैं,”डिप्रेशन से जूझ रहे व्यक्ति को डेट करने के लिए आपको बहुत धैर्यवान होना पड़ेगा। डिप्रेशन क्या है और यह आपके पार्टनर के मन पर क्या असर डालता है यह जानना सबसे ज्यादा जरूरी है। धीरे-धीरे आप खुद-ब-खुद उनकी जरूरत समझ जाएंगे।”

अवसाद में पार्टनर को आपके प्‍यार की ज्‍यादा जरूरत है। चित्र: शटरस्‍टॉक

इन टिप्स का खास ध्यान रखें-

1. आपका मानसिक स्वास्थ्य भी आपके पार्टनर जितना ही ज़रूरी है

“अक्सर अपने पार्टनर की केयर करने में आप अपनी मानसिक शांति से समझौता कर बैठते हैं। अपने पार्टनर की जरूरतों और अपने मानसिक स्वास्थ्य के बीच संतुलन बनाएं”,कहती हैं डॉ बरमी। कब आपको एक कदम पीछे हटाना है यह भी मालूम होना जरूरी है।

2. संवेदनशील रहें

डॉ बरमी बताती हैं,”आपको याद रखना है कि वे बीमार हैं। उनकी कही हर बात या विचार वास्तविक नहीं हो सकते। वे आत्मविश्वास खो रहे हैं, इसलिए आप उनकी बातों को दिल पर ना लें। उनके प्रति सकारात्मक रहे और उन्हें विश्वास दिलाएं कि आप उनसे प्यार करते हैं।”

3. सकारात्मक बिंदुओं पर ध्यान दें

कई बार आपको लगेगा कि आपका पार्टनर रिश्ते में नकारात्मकता घोल रहा हैं और आप भी नेगेटिव हो जाएंगे। डॉ बरमी के अनुसार, “आपको दोगुना सकारात्मक रहना होगा, अपने पक्ष से भी और उनके पक्ष से भी।”

सकारात्‍मक सोच आपके जीवन की बहुत सी कठिनाइयों को हल कर देती है। फोटो : शटरस्‍टॉक

4. बात करने का तरीका सीखें

प्यार की भाषा बोलना बहुत जरूरी है। डॉ बरमी सुझाव देती हैं, “यह समझें कि परेशान होने पर आपका पार्टनर किस तरह बर्ताव करता है, और फिर समझें कि उनके दुखी होने पर आप को किस तरह डील करना है। सिर्फ यह कह देना कि दुखी न हों या परेशान न हों काफी नहीं है। उन्हें शांत करना सीखें। यह तरीका सबके लिए अलग हो सकता है और आप अनुभव से ही सीख पाएंगे।”,

5. उनके विचारों को डिस्कस करें

डॉ बरमी समझाती हैं,”डिप्रेशन के दौरान व्यक्ति बहुत असहाय महसूस करने लगता है। व्यक्ति निराशा से ग्रस्त होता है, ऐसे में व्यक्ति अपने प्रति बहुत कठोर हो जाता है।”

उन्‍हें अकेला छोड़ने की बजाए उनसे बात करें। चित्र: शटरस्‍टॉक

इसका समाधान यह है कि आप शांति से उनके विचारों को सुनें। आपको उन्हें समझाना होगा कि उन्हें जो प्यार मिल रहा है, वह उसके काबिल हैं। उनके अंदर आत्मविश्वास जगाने की कोशिश करें। लेकिन सबसे ज़रूरी है कि उनकी बात को सुनें।

ध्यान रखें कि आपके पार्टनर को अकेला ना महसूस हो।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

संबंधि‍त सामग्री