फॉलो

यहां हैं तनाव के बावजूद मूड को बेहतर बनाने के 4 बिल्कुल प्रैक्टिकल तरीके

Published on:13 July 2020, 14:15pm IST
स्ट्रेस आपके मेन्टल हेल्थ के लिए बहुत हानिकारक है। अगर आपका दिन रफ़ रहा है तो इन तरीकों से खुद को स्ट्रेस फ्री करें।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 80 Likes
ये तरीके वाकई आपका तनाव छूमंतर कर देंगे। चित्र: शटरस्‍टॉक

डब्यूद क एचओ (WHO) ने अनुसार तनाव ही 21वी सदी का हेल्थ एपिडेमिक है।
हम देखें तो हर आम इंसान की जिंदगी में कई तरह के स्ट्रेस होते हैं। स्ट्रेस हमारे शरीर का एक रेस्पॉन्स है उन स्थितियों के प्रति जिनके लिए हम तैयार नहीं होते। जिस तरह मेन्टल हेल्थ को लेकर जागरूकता बढ़ रही है, लोग स्ट्रेस को पहचान कर उससे कोप-अप करने के तरीके भी ढूंढ रहे हैं।

क्यों होता है स्ट्रेस?

जब हम ऐसी स्थिति का सामना करते हैं, जिसके लिए हमारा दिमाग तैयार नहीं होता तो हम फिजिकली, मेंटली या इमोशनली उसका रेस्पॉन्स देते हैं। स्ट्रेस होने पर हमारा दिमाग एड्रेनलिन जैसे हॉर्मोन्स निकालता है। ताकि हम स्ट्रेस से बाहर निकल सकें, लेकिन रेगुलर स्ट्रेस होने पर यह मैकेनिज्म बन्द हो जाता है और हमें कई तरह की मेंटल हेल्थ प्रोब्लम्स का सामना करना पड़ता है।

ज्यादा तनाव होने पर हम मानसिक ही नहीं, बल्कि शारीरिक रूप से बीमार हो जाते हैं। स्ट्रेस के कारण मसल्स में तनाव, सर दर्द, थकान और अनिद्रा जैसी समस्याओं से घिर जाते हैं। स्ट्रेस को मैनेज करने के वैसे तो कई उपाय हैं, लेकिन हम आपको ऐसे उपाय बताएंगे जो 100% कारगर हैं और तनाव को तुरंत खत्म करते हैं। और सबसे अच्छी बात है कि ये तरीके पूरी तरह साइंटिफिक हैं।

1. बस मस्‍त होकर नाचिए

हॉर्वर्ड हेल्थ पब्लिशिंग कहता है,”एक्सरसाइज़ बॉडी में स्ट्रेस लेवल को कम करता है और एंडोर्फिन जैसे हैप्पी हॉर्मोन्स को रिलीज़ करता है, जिससे हम खुशनुमा महसूस करते है।” डांस नहीं पसन्द तो आप अपनी पसंद की कोई भी एक्सरसाइज़ कर सकती हैं।

नाचना आपके मूड के लिए काफी अच्‍छा हो सकता है। Gif : giphy

2. गहरी सांस लें

द इफ़ेक्ट ऑफ डायफ्रॉगमैटिक ब्रीथिंग ऑन अटेंशन, नेगेटिव एफेक्ट एंड स्ट्रेस इन हेल्दी एडल्ट्स नामक स्टडी में पाया गया कि गहरी सांस लेने से स्ट्रेस और नेगेटिव थॉट्स कम होते हैं। जब आप ब्रीदिंग पैटर्न पर ध्यान लगाती हैं, तो आपका दिमाग स्ट्रेस फुल सिचुएशन से बाहर आता है।

3. म्यूजिक है आपका बेस्‍ट फ्रेंड

साइंस डायरेक्ट में प्रकाशित एक स्टडी में पाया गया है कि म्यूजिक शरीर के कोर्टिसोल लेवल को कम करता है और इससे स्ट्रेस भी खत्म होता है। स्लो एंड सॉफ्ट म्यूजिक आपके दिमाग को शांत करता है। इतना ही नहीं संगीत हार्ट रेट को स्लो करता है, ब्लड प्रेशर कम करता है और बॉडी को रिलैक्स करता है।

4. खुशबू होती है स्ट्रेस बस्टर

अच्छी महक से आपकी नोज़ के स्मेल रिसेप्टर्स एक्टिव हो जाते हैं। यह रिसेप्टर्स दिमाग के उस हिस्से को शांत करते हैं जो इमोशन्स को कंट्रोल करता है। इसे एरोमाथेरेपी कहते हैं और आज के समय में एरोमाथेरेपी काफी प्रचलित है।

आपकी पसंदीदा खुशबू भी आपका मूड चेंज कर सकती है। चित्र: शटरस्‍टाॅॅक

इस विषय पर कई स्टडी मौजूद हैं, जिसमें पाया गया कि लैवेंडर ऑयल बॉडी और माइंड को रिलैक्स करने में सबसे ज्यादा कारगर है। ऑयल मसाज, लोशन, बाथ साल्ट्स के साथ-साथ अरोमैटिक कैंडल्स तक बाजार में कई प्रोडक्ट मौजूद हैं।

तो अगली बार जब आपका दिन बुरा जाए और आपको तनाव महसूस हो, तो इन आइडियाज को इस्तेमाल करें और अपना ख्याल रखें।

यह भी पढ़ें – मनोवैज्ञानिक बता रही हैं आपको वे 4 ईजी स्‍टेप्‍स, जिन्‍हें फॉलो कर आप तनाव में भी रह सकती हैं खुश

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

संबंधि‍त सामग्री