Follow Us on WhatsApp

चिंता और अवसाद का सेक्स लाइफ पर पड़ता है नकारात्मक असर, जनिए इसके लक्षण और बचाव के उपाय

यदि आप चिंता की समस्या का सामना कर रही हैं, तो यह आपकी सेक्स लाइफ को भी प्रभावित कर सकता है। आइये जानते हैं इससे बचाव के कुछ महत्वपूर्ण उपाय।

sex life ko prabhavit karta hai corona
चिंता और अवसाद सेक्स लाइफ को प्रभावित करता है। चित्र : शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published: 3 Jun 2023, 14:00 pm IST
  • 112

रात में कमरा का दरवाजा बंद है, कमरे में आप पार्टनर के साथ लाइट बंद कर के रोमांटिक बातें कर रहे हैं। इसी बीच एक नकारात्मक विचारों का झोंका आता है और आपके रोमांटिक माहौल को बिगाड़ कर चला जाता है। यह अक्सर तभी होता है जब आपके मन पहले से किसी बात की चिंता हो। चिंता आपके भावनात्मक, मानिसक और शारीरिक हेल्थ को प्रभावित करने में प्रभावी है। चिंत और तब बढ़ जाती है जब आप बेड पर अपने पार्टनर के रोमांस कर रहे हों और चिंता उसे प्रभावित कर दे।
चिंता घबराहट, डर, तनाव और बेचैनी जैसी समस्याओं को बढ़ाती है। यह जीवन के हर पहलू में हर व्यक्ति पर हावी है। चिंता रोमांटिक जिंदगी को भी प्रभावित कर सकती है। मनोचिकित्सक डॉ राशि अग्रवाल ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट पर योन जीवन में दुष्प्रभावों को साझा किया

यह भी पढ़ें Burnout problem : पर्सनल और प्रोफेशनल फ्रंट पर लगातार काम करने से हो गई हैं बर्नआउट, इन 5 उपायों से कर सकती हैं खुद को रीचार्ज

चिंता सेक्स लाइफ को कैसे करती है प्रभावित-

चिंता के साथ जीने का मतलब है कि आप जीवन में कुछ भी कर रहे हैं, लेकिन कोई बात ऐसी है जो आपके साथ हर वक्त है। पता होना चाहिए सेक्स और चिंता दोनों एक दूसरे के विपरीत हैं। डॉ अग्रवाल बताती हैं आपके मूड का आपके संवाद पर सीधा असर पड़ता है। रिसर्च में चिंता सेक्स को कैसे प्रभावित करती है, इसके बीच भी सीधा संबंध पाया गया है। यह भय, बेचैनी और तनाव को बढ़ाने में कारगर है। जो सेक्स से पहले और बाद में व्यवहार से आपके सोचने की क्षमता को प्रभावित करता है। जर्नल ऑफ सेक्स एंड मैरिटल थेरेपी में प्रकाशित एक अध्यन में पाया गया कि जो महिलाएं चिंता से की समस्या का शिकार हैं उनमें और सामान्य महिलओं की सेक्स लाइफ में फर्क है। सामान्य महिलाओं की सेक्स लाइफ अच्छी है, चिंता से प्रभावित महिलाओं से। डॉ अग्रवाल बताती है सैक्स लाइफ को कैसे प्रभावित करती है चिंता-

– इरेक्शन न होने से
– शीघ्रपतन या विलंबित कामोन्माद
– वैजिनिस्मस
– यौन इच्छा में कमी
– इंटीमेसी से बचने

सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने के लिए दी गई टिप्स को करें फॉलो। चित्र शटर स्टॉक

सेक्स लाइफ को चिंता कैसे प्रभावित करती है, ये संकेत बताते हैं

चलिए जानते हैं चिंता आपकी सेक्स लाइफ को कैसे प्रभावित कर सकती है। यह संकेत आपको जान लेना जरूरी है, जिससे आप जागरूक होकर समस्या को बढ़ने से रोक सके और उसका समाधान कर सकें

सेल्फ कॉन्फिडेंस की कमी

जिन लोगों को किसी बात की चिंता होती है, उनमें सेल्फ कॉन्फिडेंस की कमी हो जाती है। खुद कैसे दिखते हैं इसी चिंता में वह सेक्स लाइफ को प्रभावित कर लेते हैं। आत्मविश्वास की कमी से सेक्स लाइफ बुरी तरह प्रभावित होती है। इससे बचाव करने का प्रयास करें।

इंटीमैसी से बचाव

जब आप अपने पार्टरन के करीब जाते हैं किस बात की चिंता करते हैं, इस बात का एहसास किया है कभी। सेक्शुअल मेडिसिन सोसायटी ऑफ नार्थ अमेरिका में प्रकाशित एक रिसर्च सेक्स के दौरान व्यक्ति चिंतित होता है, जब वह पहले किसी गहरे आघात का शिकार हुआ हो। अगर आपका सेक्स एक्सपीरियंस सही नहीं रहा तो किसी मेंटल हेल्थ प्रोफेशनल से बात करना चाहिए जो आपकी इस समस्या में मदद करेगा।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

पार्टनर के साथ कम बातचीत या कोई बात न होना

संवाद किसी भी व्यक्ति के बीच की जरूरी कुंजी है। सेक्स के दौरान बात हो या किसी भी समय बातचीत बंद नहीं होना चाहिए। अपने पार्टनर से हमेशा किसी बात को लेकर चर्चा जरूर करते रहें। ऐसे आप चिंतित महसूस कर रहे हैं तो अपनों बात जरूर करें।

ऑर्गेज्म का अनुभव न हो पाना

क्या आपको ऑर्गेज्म का एहसास नहीं हो पा रहा है, चिंता का अधिक कारण है ऑर्गेज्म को प्राप्त न कर पाना। शोध के अनुसार पता चला है कि चिंता का अनुभव करने से ऑर्गेज्म को प्राप्त करने में परेशानी का होती है। चिंता अधिक नकारात्मक विचार पैदा करती है, जिससे ऑर्गेज्म का अनुभव नहीं हो पाता। ऐसे डॉक्टर से तुरंत परामर्श लें।

कामेच्छा कम होना

किसी बात की चिंता अगर आपको है तो सेक्स लाइफ डिस्टर्ब होगी। चिंता अधिक होगी तो सेक्स करने के लिए मन नहीं होगा। ऐसे कामेच्छा की कमी का शिकार हो चुके हैं आप।

दवाईयों का सेवन

आपका कोई ट्रीटमेंट चल रहा, जिससे दवाइयां खा रहे हो आप। अध्यन के अनुसार दवाईयों के सेवन से आपके सेक्स लाइफ पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। हार्वर्ड हेल्थ में प्रकाशित एक अध्यन के अनुसार एंटीडिप्रेसेंट जैसी दवाएं सेक्स की इच्छा को कम करती है और यही कामेच्छा का कारण बन सकती हैं।

चिंता और तनाव से बचने के लिए अधिक सोचने से बचें। चित्र शटरस्टॉक

चिंता पर काबू पाने का तरीका-

डॉ राशि अग्रवाल चिंता पर काबू पाने के लिए कुछ तीरके साझा कर रही हैं।

– किसी प्रोफेशनल से बात करें
– अपने पार्टनर के साथ अपनी समस्या साझा करें, जिससे पार्टनर आपकी हेल्प कर सके
– डॉक्टर से परामर्श लें और समझें इसे कैसे रोका जा सकता है
– चिंता का शिकार है तो कन्फर्म करें आप सीबीटी जैसी दवाओं का सेवन कर रहे हैं
– ऐसे उपचार चुनें जो चिंता को कम करने में मदद करें

यह भी पढ़ें अधिक चिंतित और बैचैन रहना हो सकता है डिप्रेशन का संकेत, एक्सपर्ट बता रही इससे ओवरकम करने के उपाय

  • 112
लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख