वैलनेस
स्टोर

तन के साथ-साथ मन की सफाई भी है जरूरी, ये 4 सरल हैक करेंगे मन की सफाई में मदद 

Published on:1 March 2021, 12:00pm IST
हमारा मस्तिष्क शरीर के सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाले अंगों में से एक है, इसलिए हमें इसकी 'गहराई से सफाई करने की आवश्यकता है। घबराएं नहीं, हम यहां आपके दिमाग को रिबूट करने में मदद करने के लिए कुछ बेहतरीन हैक्स के बारे में बता रहे हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 86 Likes
अपने मस्तिष्क को इन 4 तरीकों से रीसेट करें। चित्र-शटरस्टॉक।

क्या हम सभी कुछ महीनों बाद अपने घरों की गहराई से सफाई नहीं करते हैं? ऐसा इसलिए क्योंकि अनुकूल वातावरण के लिए सफाई करना महत्वपूर्ण है। लेकिन क्या होगा अगर हम कहें कि आपके दिमाग को भी उसी उपचार की आवश्यकता है? जी हां लेडीज, कई बार ऐसा होता है जब हम तनाव महसूस करते हैं या अटक जाते हैं। ऐसे में दिमाग की सफाई करने से हमें अधिक प्रभावी ढंग से काम करने में मदद मिलती है। जब आप अपने दिमाग से सभी अनावश्यक विचारों को निकालते हैं, तो आप अधिक स्पष्टता के साथ सोच सकते हैं। क्या वास्‍तव में यही हम सब नहीं चाहते?

अब आप सोच रही होंगी कि अपने मन की सफाई कैसे करें? खैर, हमारे पास आपके लिए कुछ आश्चर्यजनक हैक्स हैं जो इसमें आपकी मदद करेंगे।

  1. माइंडफुलनेस का अभ्यास करें

आपने अक्सर विशेषज्ञों को माइंडफुलनेस के बारे में बात करते सुना होगा। तो, इसका अनिवार्य रूप से क्या मतलब है? यह सब वर्तमान में रहने के बारे में है, और आपके आसपास क्या हो रहा है, इस पर केंद्रित है। एक ही समय में एक हजार चीजों के बारे में सोचने के बजाय, आपको अपना पूरा ध्यान काम पर देना चाहिए। हम जानते हैं कि जीवन तेज-रफ्तार है और मल्टी-टास्किंग कभी-कभी एक आवश्यकता बन जाती है। पर हमारी राय है कि अधिक माइंडफुल होना लंबे समय में आपकी मदद करेगा। पृष्ठभूमि के विचारों को बाहर निकालने की कोशिश करें।

यह भी पढें: अपने रिश्‍ते में इन 5 चीजों को कभी न करें नजरंदाज, विशेषज्ञ बता रहे हैं कितना लंबा चलेगा आपका रिश्‍ता 

यदि आपके लिए यह अभ्यास करना कठिन है, तो हम सुझाव देते हैं कि तनाव को दूर करने के लिए एक माइंडफुलनेस मेडिटेशन को ट्राय करें। कोशिश करें और अपनी सांस पर ध्यान केंद्रित करें, साथ ही अपने दैनिक जीवन में चीजों का अनुभव करते हुए अपनी सभी पांच इंद्रियों को संलग्न करें। हमारा विश्वास करें, यह आपके लिए चीजों को सरल बनाने में मदद करेगा।

  1. अपने विचार लिखिए

यह अक्सर कहा जाता है वेन इन डाउट, स्पिट इट आउट’ (‘when in doubt, spit it out’)। अब हमारा मतलब सचमुच यह नहीं है, हम सिर्फ यह कह रहे हैं कि जब भी आपके साथ ऐसा होता है, तो अपने विचारों को लिखें, जितनी बार हो सके उतनी बार लिखें। कभी-कभी, कागज पर (या शायद आपका लैपटॉप) अपने विचारों को लिखने से आपका मन शांत हो जाएगा। ऐसा इसलिए क्योंकि आपने उन सभी चीजों को मन से बाहर निकाल दिया है जिससे आप तनावग्रस्त हैं।

एक डायरी लिखना हमेशा ही एक अच्छा विचार होता है, और आप हमेशा यह समझने के लिए उस पर वापस जा सकते हैं कि आपने पहले ऐसा क्या महसूस किया था। शोध कहते हैं कि लिखने का अभ्यास करना वास्तव में सभी प्रकार की मानसिक अव्यवस्था को कम करने में मदद कर सकता है। जिससे आपको स्मृति और अन्य संज्ञानात्मक कार्यों में सुधार करने में मदद मिलती है।

लेकिन याद रखें कि अंतर देखने के लिए लिखने का अभ्यास लगातार करना चाहिए। इसके लिए रोजाना 15 मिनट निकालने की कोशिश करें। यह वास्तव में आपकी मदद करेगा!

अपनी सुविधानुसार समय चुनें। चित्र: शटरस्‍टॉक
संगीत आपके मस्तिषक को शांत करता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
  1. संगीत की ध्वनि में खो जाना 

जी हां, आपने बिल्कुल सही पहचाना। संगीत आपके मन को गहराई से साफ करने और आपको हर तरह के तनाव से मुक्त करने का एक शानदार तरीका है। यह कहा जाता है कि संगीत में वास्तव में मूड-बूस्टिंग प्रभाव होता है, जो कि एकाग्रता और स्मृति में सुधार करने में मदद करता है। इसके अलावा, शोध से पता चलता है कि संगीत न्यूरोप्लास्टिकिटी को बढ़ावा देने में भी मदद करता है, जो मस्तिष्क के अनुकूलन की क्षमता है।

आप कुछ सॉफ्ट ट्यून भी चुन सकती हैं जो आपको बेहतर काम करने में मदद करती हैं और फिर काम के बाद में भी आप खुद को शांत करने के लिए संगीत सुन सकती हैं! वास्तव में संगीत आपकी कई तरीकों से मदद कर सकता है, आपको बस इसे आजमाने की जरूरत है।

  1. अच्छी नींद लें

ऐसा कुछ भी नहीं है जिसे रात की एक अच्छी नींद ठीक नहीं कर सकती। यही कारण है कि हम आपको इस टिप को फॉलो करने के लिए कह रहे हैं। नींद को स्मृति में सुधार के लिए जाना गया है। आपको जानना चाहिए कि नींद की कमी कई समस्याओं का कारण बन सकती है। जी, हां लेडीज, यह मोटापे का कारण बन सकती है, साथ ही मस्तिष्क की क्षति का कारण भी बन सकती है। नहीं, हम आपको डरा नहीं रहे हैं, लेकिन यह सच है। तो, कोशिश करें कि रात में कम से कम 7-8 घंटे की नींद लें और बेहतर संज्ञानात्मक कार्य का आनंद लें।

यह भी पढें: मल्‍टी‍टास्किंग : ये 3 कारण बताते हैं कि आपके मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छी नहीं है ये आदत 

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।