वैलनेस
स्टोर

धोखेबाज़ सावधान रहें : एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के हो सकते हैं ये 4 मानसिक दुष्परिणाम

Published on:14 February 2021, 15:00pm IST
विवाहेतर संबंध न केवल आपकी सामाजिक प्रतिष्ठा को बर्बाद करते हैं, बल्कि आपके मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य को भी नुकसान पहुंचाते हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 84 Likes
एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर आपके मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। चित्र-शटरस्टॉक।

विवाहेतर संबंधों के बारे में हमारे समाज में केवल धीमे स्वर में ही बात की जाती है। हालांकि, बहुत से लोग यह नहीं समझते हैं कि सामाजिक प्रतिष्ठा पर इसका असर तो पढता ही है, बल्कि यह मानसिक और शारीरिक रूप से भी व्यक्ति को प्रभावित करता है। सच कहा जाए, तो विवाहेतर संबंधों के कई दुष्परिणाम है।

इस बात के कई कारण हो सकते हैं कि एक व्यक्ति अपने जीवनसाथी को धोखा क्यों दे रहा है। मुंबई के वॉकहार्ट अस्पताल के प्रसिद्ध मनोचिकित्सक डॉ. राहुल खेमानी के अनुसार, एक्‍स्‍ट्रा मैरिटल अफेयर भी तबसे चले आ रहे हैं जबसे विवाह का अस्तित्व है। इसके अलावा, वह कहते हैं कि हमें इस तथ्य से अवगत होने की आवश्यकता है कि बेवफाई हमेशा एक बुरी शादी का लक्षण नहीं है। जरूरी नहीं कि इसे मैरिटल डिसफंक्शन से ही जोड़ा जाए।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

कभी-कभी, यह लगाव, इग्नोरेंस, लंबे समय तक सेक्स की कमी, अकेलापन और वर्षों की एकरसता और बार-बार होने वाली लड़ाईयों का भी परिणाम हो सकता है। जो आगे चलकर एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर का कारण बनते हैं। बेशक, कुछ लोग सिर्फ इसलिए धोखा दते हैं क्योंकि वो ऐसा कर सकते हैं। कुछ मामले खुद को एक्‍सप्‍लोर करने की कोशिश का भी परिणाम हो सकते हैं।

डॉ. खेमानी के अनुसार “विवाहेतर संबंध में गोपनीयता, गुप्त तत्वों और पकड़े जाने का डर हमेशा रहता हैं। ये कारक वास्तव में मामलों को हवा देते हैं और बाहर निकलना मुश्किल बनाते हैं। जब ऐसे मामले लंबे समय तक जारी रहते है, व्यक्ति को डर रहता कि क्या वे इससे बच पाएंगे या नहीं।”

आइये जानते हैं कि किस तरह से इमोशनल बर्डन आपके भावनात्मक और मानसिक स्वास्थ्य को खराब कर सकता है

  1. अपराध बोध का कारक

कोई अपने प्रेमी के साथ खुश रह सकता है, लेकिन अपने पति या पत्नी को चोट पहुंचाने का अपराध परेशान करने वाला है। यह अपराध-बोध उन्हें भावनात्मक रूप से कमजोर बनाता है, जिससे उनके आत्मविश्वा

चाहें जैसे भी हों हालात आपको कभी नहीं महसूस होना चाहिए गिल्‍ट। चित्र- शटरस्टॉक।

स का स्तर और आत्म-सम्मान में गिरावट आती है। यह केवल अधिक तनाव और मानसिक उथल-पुथल का कारण बनता है।

यह भी पढें: क्या इस वैलेंटाइन सीजन में आपका दिल भी टूट गया है? तो ये 5 तरीके करेंगे इससे निपटने में आपकी मदद

  1. पकड़े जाने का डर

डर आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है। पकड़े जाने का डर विवाहेतर संबंध में पड़े व्यक्ति को खाने लगता है। वे सोचते रहते हैं कि अगर वे पकड़े गए तो क्या होगा, इससे उनके परिवार पर क्या प्रभाव पड़ेगा और समाज उनके बारे में क्या सोचेगा। यह मानसिक और भावनात्मक अस्थिरता लाता है, जो उन्हें चिंता और अवसाद के लिए और अधिक संवेदनशील बनाता है।

  1. मानसिक थकावट

डर के साथ अपराधबोध की निरंतर भावना किसी को भी मानसिक थकावट दे सकती है। इसके अलावा, एक प्रेमी से अनुचित अपेक्षाएं मामले को और भी बदतर बना सकती हैं। ये सभी कारक भावनात्मक तनाव की भावना को जोड़ते हुए तनाव और मानसिक दबाव बनाते हैं। साथ ही, एक ही समय में दो लोगों के साथ रोमांटिक रूप से जुड़ा होना वास्तव में काफी चुनौतीपूर्ण हो सकता है।

ताजा आंकड़़ेें बता रहे हैं कि अकेलापन मोटापे से भी ज्‍यादा घातक समस्‍या है। चित्र: शटरस्‍टॉक
एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर तनाव और अवसाद का कारण भी बन सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
  1. आत्मसम्मान की हानि

विवाहेतर संबंध के नतीजों पर काबू पाना किसी के मानसिक स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक हो सकता है। एक व्यक्ति खुद को अपराधी के रूप में देख सकता है और खुद को दोषी ठहरा सकता है। इस विचार से आत्मसम्मान को झटका लगता है।

“विवाहेतर संबंध अक्सर अपराध, शर्म और डरा देने वाली भावनाओं को जन्म देते हैं। एक दोहरी जिंदगी जीने से मानसिक असंतोष, थकावट और जलन पैदा हो सकती है। डॉ. खेमानी ने निष्कर्ष निकाला कि जीवनसाथी और बच्चों को भावनात्मक रूप से आहत करना कष्टकारी हो सकता है।

हालांकि, ऐसे लोग हैं जो व्यभिचार के विचार को रोमांचक और साहसी मानते हैं। मूल रूप से, वे इसे या तो कोपिंग मकैनिज्‍़म के रूप में देखते हैं, या अपनी नीरस दिनचर्या में कुछ मज़े के रूप में। कहने की जरूरत नहीं है कि भावनात्मक बोझ अक्सर भारी होता है और किसी के मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। फिर चाहे वह विवाहेतर संबंध को कितना भी सही साबित कर लें।

इसलिए, उत्तेजना के कुछ क्षणों के लिए अपनी शादी और मानसिक स्वास्थ्य को खतरे में डालना कभी भी बुद्धिमानी भरा निर्णय नहीं है।

यह भी पढें: फिजियोलॉजी एक्‍सपर्ट के बताए ये 5 कौशल रख सकते हैं आपके रिश्‍ते को लंबे समय तक सुरक्षित

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।