इन 5 योगासनों की मदद से अपने हार्ट और ब्रेन को आप भी रख सकती हैं स्वस्थ

योग लचीलेपन और संतुलन को बढ़ाने के लिए जाना जाता है। मगर, आप हृदय और मस्तिष्क को स्वस्थ बनाए रखने के लिए भी आप योग के इन आसनों पर भरोसा कर सकती हैं।

yoga karne ke kai fyade hain
थकान को कुछ आसनों की मदद से दूर किया जा सकता है। इन आसनों को सिर्फ सही तरीके से किया जाना जरूरी है। चित्र: शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published on: 30 May 2022, 13:18 pm IST
  • 131

अपने दिल और दिमाग के लिए आप जो सबसे अच्छी चीजें कर सकती हैं, उनमें से एक है योग करना। योग का नियमित अभ्यास आपको अपने तनाव को प्रबंधित करने में मदद कर सकता है। यह आपके हृदय रोग के जोखिम को कम कर सकता है और आपके शरीर को अपनी पूरी क्षमता से काम करने में मदद करता है। हृदय और मस्तिष्क के लिए योग आपके शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य को बढ़ाने में भी आपकी मदद कर सकता है। ये सभी एक स्वस्थ हृदय में योगदान करते हैं।

योग आपकी मांसपेशियों को मजबूत करने में भी मदद कर सकता है। हेल्थ शॉट्स ने योग प्रशिक्षक, लाइफस्टाइल कोच और रूटीन योग के संस्थापक अखिल गौर से बात की, जिन्होंने हृदय और मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिए कुछ बेहतरीन योग आसन हमारे साथ साझा किए हैं।

दिल और दिमाग के लिए योग

गौर कहते हैं – “योग आपकी जीवनशैली को बेहतर तरीके से विनियमित करने के लिए एक समग्र दृष्टिकोण प्रदान करता है। आसन और प्राणायाम करते समय आप अपने मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को नियंत्रण में रख सकती हैं।”

यहां हैं दिल और दिमाग को मजबूत रखने के लिए 5 आसन:

1. बिटिलासन (Cow pose)

इसे करने का तरीका यहां बताया गया है:

अपनी हथेलियों और घुटनों को चटाई पर रखकर टेबल-टॉप मुद्रा में आते हुए शुरुआत करें। अपनी हथेली और कंधे को एक सीधी रेखा में रखें।
उंगलियों को अलग-अलग फैलाते हुए हथेली को चटाई पर मजबूती से दबाएं।
फिर ठुड्डी को ऊपर उठाते हुए और अपने कंधों को चौड़ा करते हुए श्वास लें और अपनी पीठ को मोड़ें।
अब अपनी पीठ पर एक कूबड़ बनाएं। अब फिर से सीधी हो जाएं।

 cow pose
यह आसन पीठ और लोअर बैक पर काम करता है। चित्र : shilpashetty

2. भुजंगासन (Cobra pose)

इसे करने का तरीका यहां बताया गया है:

अपने पेट के बल फर्श पर लेट जाएं।
अब पैर की उंगलियों को एक साथ पास रखें और अपने पैर की उंगलियों को पीछे की ओर फैलाएं।
दोनों हाथों को इस तरह रखें कि हथेलियां आपके कंधों के नीचे जमीन को छू रही हों।
गहरी सांस अंदर लेते हुए धीरे-धीरे अपने सिर, छाती और पेट को ऊपर उठाएं और नाभि को फर्श पर रखें।
अपने हाथों के समर्थन का उपयोग करते हुए अपने धड़ को पीछे खींचें। सुनिश्चित करें कि आप दोनों हथेलियों पर समान मात्रा में दबाव डाल रही हैं।
सांस लेते रहें। यदि संभव हो तो, अपनी पीठ को जितना संभव हो सके झुकाकर अपनी बाहों को सीधा करें; अपने सिर को पीछे झुकाएं और ऊपर देखें।

3. सेतु बंध आसन (Bridge pose)

इसे करने का तरीका यहां बताया गया है:

पीठ के बल लेटकर शुरुआत करें। अपने घुटनों को मोड़ें और अपने पैरों को चटाई पर रखें।
जैसे ही आप सांस लेते हैं, अपने टखनों को पकड़ने की कोशिश करें।
अब अपनी छाती को ऊपर उठाएं और अपनी छाती को अपनी ठुड्डी तक खींचे।
अपने नितंबों को सिकोड़ें और अपने पैरों को समानांतर स्थिति में रखें।
जैसे ही आप इस मुद्रा में आएं, धीमी, गहरी सांसें लें। अपने पैर की उंगलियों को अपने घुटनों से दूर न करें।
1-2 मिनट के लिए इस स्थिति में रहें और फिर सांस छोड़ें।

bridge pose ke fayde
आपके मन मस्तिष्क के लिए फायदेमंद है ब्रिज पोज़। चित्र : शटरस्टॉक

4. उष्ट्रासन (Camel pose)

इसे करने का तरीका यहां बताया गया है:

अपनी पीठ के बल लेटकर शुरुआत करें। अपनी हथेलियों को नीचे की ओर रखते हुए अपनी भुजाओं के पास रखें।
जैसे ही आप सांस लेते हैं, अपनी हथेलियों को अपने नितंबों पर रखें और अपनी पीठ में एक आर्च बनाते हुए अपने नितंबों को आगे की ओर धकेलते रहें।
अपने कोर में जुड़ाव महसूस करने के लिए अपने नितंबों को सिकोड़ें। दोनों हथेलियों को धीरे-धीरे अपनी एड़ियों पर रखें।
इस मुद्रा में अपने शरीर को मजबूत रखते सांस लेते रहें।
1-2 मिनट के लिए इस स्थिति में रहें और फिर सांस छोड़ें।

5. अधोमुख श्वानासन (Downward-facing pose)

इसे करने का तरीका यहां बताया गया है:

टेबल-टॉप पोस्चर से शुरुआत करें। अपनी उंगलियों को अलग-अलग फैलाते हुए अपनी हथेली को चटाई पर रखें। आपकी हथेली और कंधा आपके घुटने और कूल्हे के जोड़ के साथ एक सीधी रेखा में होना चाहिए।
अपनी हथेली को चटाई पर मजबूती से रखें और अपने पैर की उंगलियों को अंदर करें। अपनी हथेली पर वजन बदलते समय, अपने कूल्हे को ऊपर उठाने के लिए हथेली को चटाई पर दबाते रहें।
अपनी कोहनी और कंधों को सीधा करें और अपनी नाभि को देखने के लिए अपने सिर को थोड़ा झुकाएं।
आपकी दोनों भुजाएं आपके कंधों के समानांतर होनी चाहिए और आपकी एड़ी चटाई को छू रही हो।
कुछ देर के लिए इसी मुद्रा में रहें और फिर सांस छोड़ दें।

यह भी पढ़ें : बेहतरीन एक्सरसाइज है स्किपिंग, पर क्या इससे हाइट बढ़ सकती है? चलिये पता करते हैं

  • 131
लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory