ये 3 संकेत बताते हैं कि आपके रिश्ते में बढ़ने लगी है दरार, जानिए रिश्ते को हेल्दी बनाए रखने के टिप्स

प्यार और रिश्ता समर्पण और समझदारी से ही आगे बढ़ सकता है। अगर आप दोनों को एक-दूसरे से हरदम शिकायत रहने लगी है, तो इस पर ध्यान देने का समय है।
जानिए रिश्ते को हेल्दी बनाए रखने के टिप्स. चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Updated on: 19 October 2022, 11:53 am IST
ऐप खोलें

मानसिक स्वास्थ्य से लेकर आपकी समग्र सेहत के लिए आपके और पार्टनर के बीच का रिश्ता काफी ज्यादा मायने रखता है। वहीं आपके रिश्ते के बीच चल रही परेशानीयां मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करने के साथ ही कई अन्य स्वास्थ्य जोखिमों को भी जन्म दे सकती हैं। हालांकि, जब आप एक अनहेल्दी रिलेशनशिप में होती हैं, तो इसका प्रभाव यदि किसी चीज पर सबसे ज्यादा पड़ता है तो वह है, आपका मेंटल हेल्थ। मानसिक रूप से असंतुलित होने के कारण आपको कई अन्य कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए यह जरूरी है कि आप अपने रिश्ते को स्वस्थ बनाए (how to keep relationship healthy) रखने के लिए जरूरी कदम उठाएं।

ऐसे में सबसे जरूरी है रिश्ते में आ रही परेशानियों के पीछे का कारण पता लगाना। यदि आप चल रही परेशानी के पीछे की वजह का पता लगा लेती हैं तो, इसमें सुधार करना काफी आसान हो जाता है। परंतु कई लोग रिश्ते में चल रही परेशानियों को नजरअंदाज करते हुए आगे बढ़ते रहते हैं। यही चीजें आगे चलकर रिश्ते को और ज्यादा कमजोर कर देती हैं। साथ ही आपके मानसिक स्वास्थ्य पर भी बुरा प्रभाव डालती हैं। तो चलिए एक्सपर्ट से जानते हैं, आखिर किस तरह रिश्ते में नजर आने वाले रेड फ्लैग्स को सुधारा जा सकता है।

अपने रिश्ते को दें दूसरा मौक़ा, चित्र:

रिलेशनशिप में नजर आने वाले ये 3 संकेत आपके मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ सकते हैं भारी

1. पार्टनर के आसपास होते ही मूड खराब हो जाना

पार्टनर के आसपास होने से आपके मूड पर क्या प्रभाव पड़ रहा है यह एक रिश्ते में काफी ज्यादा मायने रखता है। यदि आप पूरे दिन खुश थीं और जैसे ही पार्टनर के पास बैठती हैं या उनसे बात करने की कोशिश करती है और इसका प्रभाव नकारात्मक रूप से आपके ऊपर पड़ रहा है, तो यह एक रेड फ्लैग हो सकता है।

पार्टनर से बात करते हीं उदास और गुस्सा हो जाना या फिर लो फील करना इसके साथ ही चिड़चिड़ापन महसूस होने जैसी चीजें बताती हैं कि आपका रिश्ता आपके मानसिक स्वास्थ्य को बुरी तरह प्रभावित कर रहा है। इसलिए यदि रिश्ते में कुछ ऐसी चीजें नजर आ रही हैं, तो सचेत हो जाएं और पता लगाएं कि ऐसा क्यों हो रहा है।

2. क्या आप और आपके पार्टनर पर्याय बातचीत नहीं कर पाते

एक हेल्दी रिलेशनशिप में कम्युनिकेशन होना बहुत जरूरी है। यदि किसी रिश्ते में बातचीत की कमी हो तो वह रिश्ता काफी ज्यादा डिप्रेसिव हो सकता है। क्योंकि ऐसे रिश्ते में न तो आप अपनी भावना और न ही अपने विचार को सामने वाले के सामने प्रकट कर सकती हैं। अक्सर ऐसे रिश्ते में लोग चाह कर भी अनकंफरटेबल रहने और जज होने के डर से एक दूसरे से बातचीत नहीं कर पाते। परंतु यह सभी चीजें दिन प्रतिदिन रिश्ते को कमजोर कर सकती हैं।

क्या आप भी है एक ऑपोज़िट पर्सनालिटी के साथ रिलेशनशिप में हैं. चित्र शटरस्टॉक।

वहीं हम अपना सबसे ज्यादा समय पार्टनर के साथ बिताते हैं, तो ऐसे में यदि पार्टनर से ही बातचीत करना मुश्किल लग रहा तो यह आपके मानसिक स्वास्थ्य को बुरी तरह प्रभावित कर सकता है। यदि आपको भी ऐसी कोई समस्या नजर आ रही है, तो फ़ौरन इस पर एक दूसरे से खुलकर बातचीत करें और समझे कि आखिर आपके रिश्ते में ऐसा क्यों हो रहा है।

3. कहीं नींद और डाइट तो नही हो रही प्रभावित

यदि आप अपने रिश्ते से नाखुश है जिस वजह से रात की नींद और खाने का समय प्रभावित हो रहा है तो ऐसे में जितनी जल्दी हो सके उतनी जल्दी सचेत हो जाएं क्योंकि यह सीधा आपके मानसिक स्वास्थ्य पर असर डालता है और कहीं ना कहीं नींद ना आने की वजह आपका मानसिक स्वास्थ्य हो सकता है यदि इन सभी चीजों को बातचीत से हल न किया जाए तो यह आगे चलकर आपको एंग्जाइटी और डिप्रेशन का शिकार बना सकता है।

हालांकि, ऐसे में हम कभी भी रिश्ता खत्म करने की सलाह नहीं देंगे। क्योंकि रिश्ता खत्म कर देना एक अस्थाई उपाय नहीं है। इसलिए यदि आप दोनों अपने रिश्ते को लेकर गंभीर हैं और इसे आगे बढ़ाना चाहते हैं, तो एक्सपर्ट द्वारा सुझाए यह टिप्स करेंगे आपकी मदद।

अपनी समस्याओं के बारे में खुलकर एक-दूसरे से बातचीत करें। चित्र शटरस्टॉक।

यहां हैं अपने रिश्ते को हेल्दी बनाए रखने के कुछ टिप्स

1. अपनी समस्याओं के बारे में खुलकर एक-दूसरे से बातचीत करें।

2. यदि आप किसी समस्या के बारे में बातचीत कर रही हैं, तो उस वक्त खुद को शांत रखने का प्रयास करें और एक सरल तरीके से अपने बात को प्रस्तुत करें।

3. अपने सभी समस्याओं को एक बार में सामने न रखें। उन्हें धीमे-धीमे छोटे-छोटे भागों में प्रस्तुत करें और उनका समाधान निकालने की कोशिश करें।

4. आपकी तमाम कोशिशों के बाद भी यदि समस्या बढ़ती जा रही है, तो हार मानने की जगह एक्सपर्ट से सलाह ले सकती हैं।

5. एक-दूसरे के एक्सपीरियंस और इच्छा को कभी-कभी सामने वाले की खुशी के लिए भी एक्सेप्ट करें, न कि उसे हर बार खारिज कर दें।

6. एक दूसरे पर इल्जाम डालना बंद करें। अपनी गलतियों को एक्सेप्ट करना सीखें।

7. सबसे जरूरी है समझना कि रिश्ते में 2 लोग एक ही चीज को अलग तरीके से समझ और देख सकते हैं। क्योंकि दोनों के विचार में अंतर होना सामान्य है।

यह भी पढ़ें :  Waxing at home : पार्लर जाने की बजाए घर पर कर रहीं हैं वैंक्सिंग, तो इन गलतियों से रहें सावधान

लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
Next Story