और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

क्या सिंगल होना है औरों से ज्‍यादा खुश रहना? जानिए क्‍या कहती है ये स्‍टडी 

Published on:21 February 2021, 13:00pm IST
अगर जिम्‍मेदारियों को बोझ अकेले उठाना आपको निराश कर रहा है, तो यह स्‍टडी आपके लिए ही है।
विनीत
  • 89 Likes
जानिए सिंगल महिलाएं अधिक खुश क्यों रहती हैं। चित्र-शटरस्टॉक।

इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप इसके बारे में कैसा महसूस करती हैं। वास्‍तविकता यह है कि सिंगल महिलाओं की संख्या बढ़ रही है। यह कहना मुश्किल है कि वे सिंगल रहना क्यों पसंद करती हैं या क्या वह वास्तव में खुश हैं। शायद यह जनसांख्यिकी असमानता (demographic inequality) या आधुनिक दुनिया का एक बदलाव है। पर यह बदलाव महिलाओं के लिए सकारात्‍मक है या नकारात्‍मक?

हमने इसकी तह तक जाने का फैसला किया और पाया कि सिंगल महिलांए वास्तव में सबसे ज्यादा खुश हैं। यहां हम आपको बता रहे हैं कि इसके पीछे क्या कारण है।

क्यों सिंगल महिलाएं अधिक खुश रहती हैं

अध्ययन बताते हैं कि महिलाएं रिश्तों में कड़ी मेहनत करती हैं। बेशक, यह एक सामान्यीकरण है, लेकिन इसमें कोई आश्चर्य नहीं होना चाहिए कि महिलाएं अपने संबंधों को बनाने और बनाए रखने के लिए कड़ी मेहनत करती हैं।

इसलिए एक निश्चित बिंदु के बाद, वे हर चीज से थक जाती हैं। अध्ययन में पाया गया है कि 45-65 की उम्र के बीच, लगभग 32% महिलाएं और केवल 19% पुरुष सिंगल होने पर खुश थे।

हां! एक लंबी रिलेशनशिप के बाद सिंगल होना आरामदायक है। महिलाएं बिना किसी तनाव और खुद को दोषी महसूस किए केवल अपने लिए काम करना शुरू करती हैं। एक अध्ययन के अनुसार, ब्रिटेन में सिर्फ 61% सिंगल महिलाओं का कहना है कि वे अपनी वैवाहिक स्थिति से संतुष्ट हैं।

अब कोई और ड्यूटी नहीं। न ही खाना पकाने की जरूरत। आप कुछ फूड्स ऑर्डर कर सकती हैं, और इसे लेकर बहुत खुश महसूस कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें: डिप्रेशन से जूझ रही हैं तो इन 5 महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखें, हो सकती हैं मददगार 

अकेले होना उतना भी बुरा नहीं है, जितना लोग सोचते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
अकेले होना उतना भी बुरा नहीं है, जितना लोग सोचते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

सिंगल महिलाओं के लिए प्यार, ब्रह्मांड का केंद्र होना बंद कर देता है। बता दें कि वे अपने लिए एक अलग तरह का प्यार खोजती हैं।

अक्सर ऐसा भी होता है कि बच्चा होने के बाद महिलाओं पर जिम्‍मेदारियां और बढ़ जाती हैं। इन जिम्‍मेदारियों को अकेले वहन करना भी कई बार तलाक का कारण बनता है। उस मामले में, उनका प्यार उनके बच्चे पर केंद्रित है और एक नए आदमी के लिए उनके जीवन में सचमुच कोई जगह नहीं होती। हमें यकीन है कि आपके ऐसे कई दोस्त भी होंगे, जो 1 से 3 साल से सिंगल हैं।

रिसर्च से पता चला है कि यह आज असामान्य नहीं है! पिछले वर्ष में 75% सिंगल महिलाओं ने कोई नए संबंध नहीं बनाए। जब आप इन नंबरों को देखती हैं, तो आपको आश्चर्य महसूस हो सकता है, लेकिन वास्तव में यह सत्य है।

क्या उन्हें किसी साथी की जरूरत नहीं है

हां, वे भी सच्चे प्यार की तलाश में रहती हैं, लेकिन जितना अधिक आप रिश्तों से दूर होते जाते हैं, उतना ही आप समझ जाते हैं कि आप खुद ही सब कुछ करने में सक्षम हैं। सिर्फ इसलिए डेट करने की जरूरत नहीं रह जाती कि अकेला होना आपको परेशान करता है।

महिलाएं वास्तविक और मजबूत भावनाओं की अपेक्षा करती हैं और अपना सारा खाली समय खुद को विकसित करने में बिताती हैं। जिससे उन्हें बहुत खुशी और आत्मविश्वास मिलता है!

अब हम सभी यह जानते हैं कि पुरुष रिश्तों में बेहतर क्यों महसूस करते हैं! जबकि महिलाएं वैकल्पिक सामाजिक नेटवर्क रखना पसंद करती हैं, पुरुष मुख्य रूप से एक साथी या पत्नी पर निर्भर होते हैं।

इसलिए, यह आश्चर्यजनक नहीं है कि महिलाएं किसी अन्य प्रकार की समस्या को आसानी से हल करने के लिए किसी और से मदद ले सकती हैं।

और अगर कोई महिला सिंगल है, तो उसके पास अधिक दोस्त हैं, जबकि पुरुष अपने सामाजिक नेटवर्क का विस्तार करने में कम सक्रिय हैं।

यह भी पढ़ें: ये 5 संकेत बताते हैं कि आपको है भावनात्मक उपचार की जरूरत, ये टिप्‍स आपके लिए हो सकते हैं मददगार 

विनीत विनीत

अपने प्यार में हूं। खाने-पीने,घूमने-फिरने का शौकीन। अगर टाइम है तो बस वर्कआउट के लिए।