फॉलो
वैलनेस
स्टोर

पॉजीटिव पर्सन बनना है, तो एक्‍सपर्ट की बताई इन 8 बातों को आज ही से फॉलो करना शुरू कर दें

Published on:10 December 2020, 20:30pm IST
यदि आप जीवन में लगभग हर चीज के बारे में नकारात्मक सोचते हैं, तो यह समय है कि आप अपने आसपास की चीजों को बेहतर बनाने के लिए कुछ सकारात्मकता का अभ्यास करना शुरू करें।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 81 Likes
सकारात्‍मक सोच आपकी प्रोडक्टिविटी में भी इजाफा कर सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

कभी कभार नकारात्मक विचार आना सामान्य है। लेकिन आप अगर हर विषय पर नकारात्मक सोच रखते हैं या लगातार नकारात्मक तरीके से सोचते हैं, तो आपको इससे नुकसान ही होगा। नकारात्मक विचार भूल भुलैया की तरह होते हैं जिसका कोई अंत नहीं होता है। दूसरी ओर, सकारात्मक होना आपको अपने जीवन के सबसे कठिन दौर में भी प्रेरित रहने में मदद कर सकता है।

किसी की मानसिकता को बदलना कुछ ऐसा नहीं है जो रातों रात किया जा सकता है। इसलिए, हमने दिल्ली के एक प्रसिद्ध क्लीनिकल ​​मनोवैज्ञानिक डॉ भावना बर्मी से बात की, ताकि हम समझ सकें कि हम नकारात्मक मानसिकता को सकारात्मक में कैसे बदल सकते हैं।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

वह कहती हैं, “ऐसा कुछ भी नहीं है जो आपको पूरी तरह से बदल सकता हो और आपको एक नए व्यक्ति में बदल सकता हो, लेकिन हम जिस नजरिए से स्थितियों को देखते हैं, उसे बदल सकते हैं। सकारात्मक होने के लिए, आपको अवास्तविक होना जरूरी नहीं है। आपको स्थिति को अधिक सकारात्मक रूप से देखने के लिए बस अपना दृष्टिकोण बदलना होगा।”

आपकी मानसिकता को बदलने और अधिक सकारात्मक बनने में मदद करने के लिए डॉ बर्मी ये 8 सुझाव देती हैं-

1. सकारात्मक लोगों के साथ रहें

आपके मित्र और आप जिस तरह के लोगों के साथ घिरे हैं, वे एक प्रमुख भूमिका निभाते हैं कि आप कैसा महसूस और व्यवहार करते हैं। डॉ बर्मी कहती हैं, “ऐसे लोगों के आसपास रहना महत्वपूर्ण है जो सकारात्मक हैं और आपको अपना बेस्ट देने में मदद करते हैं। ऐसे लोग आपको हमेशा प्रेरित करेंगे, आपकी सराहना करेंगे और एक व्यक्ति के रूप में बढ़ने में आपकी मदद करेंगे।”

सारी दुनिया परफेक्‍ट हो यह जरूरी नहीं। फोटो : शटरस्‍टॉक
सारी दुनिया परफेक्‍ट हो यह जरूरी नहीं। फोटो : शटरस्‍टॉक

2. एक सकारात्मक वातावरण बनाएं

जैसे लोगों का आप पर प्रभाव पड़ सकता है, वैसे ही आपके वातावरण भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। डॉ बर्मी कहती हैं, “एक सकारात्मक वातावरण आपके लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यह वह स्थान है जहां आप अपना अधिकांश समय बिताते हैं। इसे आरामदायक, सहज और खुश हाल बनाएं।”

अपने कमरे को वॉर्म रंगों से रंगना, या कुछ ऐसे तत्वों को जोड़ना जो आपको सकारात्मक महसूस कराते हैं, आपके मूड को बेहतर बना सकते हैं। इसलिए, अपने आस-पास के वातावरण को साफ रखें और अपने लिए एक सकारात्मक जगह बनाएं।

3. लोगों के प्रति दयालु बनें

जरूरत में किसी की मदद करने से आप तुरंत अच्छा महसूस कर सकते हैं। डॉ बर्मी कहती हैं,”यह खुश होने का सबसे बढिया तरीका है। छोटे-छोटे काम जैसे कि किसी चैरिटी में वालंटियर करना या किसी बूढ़े व्यक्ति को सड़क पार करने में मदद करने से आप अच्छा महसूस कर सकते हैं। ऐसा करके देखिए, आप खुद आश्चर्यचकित रह जाएंगे! ”

4. नकारात्मक सेल्फ टॉक को रोकें

जीवन एक फूलों की सेज नहीं है और यह पूरी तरह ठीक है। जीवन में उतार-चढ़ाव रहेगा, चाहे आप कुछ भी करें। इसलिए, आपको अपने आप पर बहुत कठोर नहीं होना चाहिए। डॉ बर्मी कहती हैं,”जब आप किसी कठिन परिस्थिति में फंस गए हों तो नकारात्मक सोचना शुरू न करें। क्योंकि इससे स्थिति और बदतर हो जाएगी और आप नकारात्मक सोच के दुष्चक्र में फंस जाएंगे।”

ये भी पढ़ें- खुशियों का विज्ञान : जानिए कैसे आप अपने दिमाग को कर सकती हैं खुश रहने के लिए तैयार

5. जीवन में छोटी चीजों को सेलिब्रेट करने की कोशिश करें

आप सोच सकते हैं कि छोटी उपलब्धियों का जश्न मनाने की आवश्यकता नहीं है, लेकिन अपने लिए ऐसी चीजें करने से आपको जीवन के प्रति अधिक सकारात्मक दृष्टिकोण प्राप्त करने में मदद मिलेगी। “आपको किसी बड़ी खुशी की प्रतीक्षा नहीं करनी चाहिए। क्या आप जल्दी उठ गए? क्या आपने अपना काम समय पर पूरा किया? खुद को खुश ना रखने के लिए जीवन बहुत छोटा है। आपके दिन-प्रतिदिन के जीवन में छोटी उपलब्धियों की सराहना करने की जरूरत है, “डॉ बर्मी की सलाह है।

एक्‍सपर्ट की बताई इन 8 बातों को आज ही से फॉलो करना शुरू कर दें।चित्र: शटरस्‍टॉक

6. सकारात्मक बात करने का अभ्यास करें

सकारात्मक विचार के साथ प्रत्येक दिन शुरू करने से बेहतर क्या हो सकता है? दर्पण में देखें और अपने जीवन के बारे में सकारात्मक बातें कहें, भले ही आप एक कठिन परिस्थिति में हों। एक बार जब आप हर सुबह सकारात्मक पुष्टि का अभ्यास करना शुरू कर देंगे, तो आप जल्द ही अपने जीवन में अंतर महसूस कर पाएंगे।

7. अपने नकारात्मक विचारों को पहचानें

एक सकारात्मक व्यक्ति बनने के लिए, पहला कदम नकारात्मक विचारों की पहचान करना और फिर उनसे छुटकारा पाने के लिए आवश्यक कार्यवाही करना है। डॉ बर्मी कहती हैं, “आप अपनी मानसिकता को रातों रात नहीं बदल सकते। इसलिए, एक नकारात्मक विचार को सकारात्मक में बदलना शुरू करें।”

8. स्थितियों में हास्य खोजने की कोशिश करें

किसी ने सही कहा है कि हंसी सबसे अच्छी दवा है। यह सकारात्मकता के मामले में भी सच है। “हर स्थिति में हास्य खोजने की कोशिश करें, चाहे कितना भी मुश्किल हो। अपने आप को याद दिलाएं कि कुछ साल बाद, आप इस स्थिति पर हंस रहे होंगे।

सकारात्मक मानसिकता एक ऐसी चीज है जिसके लिए लंबे समय तक विकास की आवश्यकता होती है। इसके प्रति कार्य करें और आप अपने आप में बदलाव देखेंगे!

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।