और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

6 तरीके जिनसे खुशी आपके शारीरिक स्वास्थ्य को बेहतर बना सकती है

Published on:17 May 2021, 20:30pm IST
हम पहले से ही जानते हैं कि खुशी का हमारे मानसिक स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है, लेकिन क्या आप जानती हैं कि यह हमारे शारीरिक स्वास्थ्य में भी सुधार कर सकती है!
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 70 Likes
kya hai sabliminals
सबलिमिनल्स आपको पॉज़िटिव महसूस करा सकते हैं। चित्र : शटरस्टॉक

“खुशी समस्याओं की अनुपस्थिति नहीं है, बल्कि उनसे निपटने की क्षमता है”।

आप शायद पहले से ही जानते हैं कि खुशी की भावना बेहद सकारात्मक है। वास्तव में, हम में से बहुत से लोग जीवन में खुशी की उस स्थिति तक पहुंचने के लिए सक्रिय रूप से कदम उठाते हैं। यह एहसास रोज़मर्रा की ज़िंदगी की खुशियों में छिपा हो सकता है या मील के पत्थर साबित हो सकता है।

यकीनन खुश रहने से नकारात्मक सोच कम होती है और आपको दुनिया को अधिक सकारात्मक तरीके से देखने में मदद मिलती है। सकारात्मक मानसिकता रखना आपके जीवन के सभी क्षेत्रों में भी परिलक्षित होता है। चाहे वह काम के प्रति प्रोत्‍साहित महसूस करना हो या अपने व्यक्तिगत संबंधों में अतिरिक्त प्रयास करना। खुशी न केवल आपके मानसिक स्वास्थ्य का उत्थान करने वाली है, बल्कि आपके शारीरिक स्वास्थ्य को भी बेहतर बनाने वाली है!

यहां 6 तरीके दिए गए हैं जिनसे खुशी आपके स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकती है:

1. आपकी इम्युनिटी बढ़ाती है

एक अध्ययन के अनुसार खुश रहने वाले लोग कम बीमार पड़ते हैं। खुशी तनाव से संबंधित हार्मोन के कम उत्पादन और बेहतर प्रतिरक्षा समारोह से जुड़ी है। सकारात्मकता की भावना अंततः कई बीमारियों से शरीर की रक्षा करने के लिए आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ा सकती है।

2. आपके दिल की रक्षा करती है

जब आप मुस्कुराते हैं, तो इसका आपके स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इससे एंडोर्फिन निकलता है, जो रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है और रक्तचाप को कम करता है। इसका मतलब है कि खुश रहने से आपको हृदय रोग और हृदय संबंधी समस्याओं का खतरा कम हो सकता है।

खुश रहिये, स्वस्थ रहिये। चित्र: शटरस्‍टॉक
खुश रहिये, स्वस्थ रहिये। चित्र: शटरस्‍टॉक

3. आपकी जीवन प्रत्याशा को बढ़ाती है

खुश रहने से आपके जीवन की गुणवत्ता में सुधार हो सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि खुशी स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाले व्यवहार में योगदान करती है, जो हमें शांत और तनाव मुक्त रहने में मदद करती है। जो लोग आशावादी होते हैं, उनका जीवन काल लंबा होता है। तो खुश रहो और लंबे समय तक जियो!

4. तनाव का बेहतर तरीके से मुकाबला कर पाते हैं

खुश रहने से नकारात्मकता की भावना कम हो जाती है। अत्यधिक तनाव हार्मोन कोर्टिसोल के उच्च उत्पादन का कारण बन सकता है जिससे कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। दूसरी ओर, खुश रहने से तनाव हार्मोन का स्तर कम होता है और एंडोर्फिन और सेरोटोनिन का उत्पादन बढ़ता है।

5. दर्द को कम करने में मदद करती है

जो लोग खुशी से रहते हैं, उन्हें जीवन में तनाव कम होता है और शारीरिक दर्द में कमी आती है। इसका मतलब है कि खुश रहने से शारीरिक पीड़ा कम होगी।

6. एक स्वस्थ जीवन शैली को बढ़ावा देती है

खुशी की भावना कई सकारात्मक और अत्यधिक लाभकारी स्वस्थ आदतों से जुड़ी होती है। जब आप खुश होते हैं, तो सेरोटोनिन और एंडोर्फिन नामक हार्मोन आपके शरीर में प्रभावी ढंग से काम करते हैं। इसलिए आपका मूड स्थिर रहता है। इसके अलावा, एक खुश मानसिक स्थान में रहने से अक्सर आप स्वस्थ खाने और नियमित रूप से व्यायाम करने के लिए अधिक प्रेरित महसूस करते हैं

इसलिए खुश रहिये, स्वस्थ रहिये!

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।