वैलनेस
स्टोर

बिना डिफेंसिव हुए लोगों से बेहतर संवाद बनाए रखने में मदद करेंगे ये 5 आसान तरीके

Published on:2 April 2021, 17:00pm IST
यदि आप किसी व्यक्ति को देखते ही डिफेंसिव हो जाती हैं, तो ये 5 टिप्स आपको ऐसी स्थिति से निपटने में मदद करेंगी।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 88 Likes
आप बिना डिफेंसिव हुए भी अपनी बात रख सकती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

मनुष्य को समझना आसान नहीं है और हम सभी यह बात जानते हैं। हमें खुद की तारीफ सुनना पसंद है, लेकिन जिस पल कोई हमारी आलोचना करता है, हम फौरन आहत हो जाते हैं। यहां तक ​​कि शांत दिखने वाले लोग भी अपनी आलोचना नहीं सुन सकते, क्योंकि डिफेंसिव होने से हमें अपने चरित्र की रक्षा करने में मदद मिलती है। इसलिए, हर बार जब कोई हमारे लिए कुछ नकारात्मक कहता है, तो हमें यह व्यक्तिगत हमले की तरह लगता है।

लेकिन आपको याद रखना चाहिए कि दूसरा व्यक्ति कठोर हो सकता है। इसके बावजूद आप उनके सामने अपनी बात रख सकती हैं।

हो सकता है कि आप में गलतियां निकालने के कारण आप उनसे नफरत करने लगें। पर कभी-कभी आलोचना सही भी हो सकती है। आलोचना को कठोर तरीके से नहीं लिया जाना चाहिए – कभी-कभी, यह रचनात्मक भी हो सकती है और आपको आगे बढ़ने में मदद कर सकती है।

इसके अलावा, यदि आप दोस्तों, परिवार, अपने बॉस और यहां तक ​​कि अपने साथी के साथ डिफेंसिव होती हैं – तो इस बात की सबसे अधिक संभावना है कि वे आपसे दूरी बनाना शुरू कर देंगे।

आपसे हुई गलती पर बात करना, आपकी आलोचना नहीं है। चित्र: शटरस्‍टॉक

आइये जानते हैं उन पांच टिप्स के बारे में, जो आपको डिफेंसिव होने से रोकने में मदद करेंगे:

1. अपनी वैल्यू पर ध्यान दें

यह एक आसान टिप है और बहुत प्रभावी है! यदि आपका बॉस आज आपके काम की आलोचना करता है, तो इसका मतलब यह नहीं है कि आप जो भी करती हैं वह गलत ही है। ऐसे वक्‍त में अपनी उपलब्धियों के बारे में बात करके अपना बचाव करने की आवश्यकता नहीं है।

इसका वास्तव में मतलब यह है कि शायद आज का दिन आपके लिए अच्छा नहीं है – इसलिए, अपने मूल्यों के बारे में सोचें और डिफेंसिव होने से बचें।

2. आलोचना जरूरी नहीं कि नकारात्मक हो

क्या होगा अगर हमने आपको बताया कि आलोचना रचनात्मक भी हो सकती है और आगे बढ़ने में आपकी मदद कर सकती है? हां…! इसका अर्थ है कि जो कोई आपकी आलोचना कर रहा है वह आप पर विश्वास करता है और आपसे कई उम्मीदें रखता है।

सकारात्‍मक सोच आपकी प्रोडक्टिविटी में भी इजाफा कर सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

वह आपको बेहतर बनाने में मदद करने के लिए आपको सही राह दिखा रहा है। तो, अगली बार जब आपका सहकर्मी, करीबी दोस्त, और बॉस आपसे कुछ कहें, तो याद रखें कि उनके दिल में आपका हित हैं।

3. डिफेंसिव होना यह दर्शाता है कि आपके पास आत्मसम्मान की कमी है

जब आप हर बार अपना बचाव करती हैं, तो यह एक स्पष्ट संकेत है कि आपके पास आत्मसम्मान की कमी है। आप उस व्यक्ति के बारे में बात कर सकते हैं, जिसने आपकी आलोचना की थी। यह केवल एक अस्थायी समाधान है। आपको अपने आत्मसम्मान पर काम करने और विकास की मानसिकता विकसित करने की आवश्यकता है।

ऐसा नहीं है कि आपको असभ्य या अपमानजनक टिप्पणी को अनदेखा करना चाहिए, लेकिन जब कोई आपको प्रतिक्रिया देने के लिए समय और ऊर्जा खर्च करता है, तो वे वास्तव में आपके भले के लिए है।

4. कुछ समय निकालें

जब कोई दूसरा व्यक्ति आपकी आलोचना कर रहा हो, तो उसे जाने के लिए कहें और प्रतिक्रिया करने से पहले वे जो कह रहे हैं उस पर चिंतन करें। तुरंत प्रतिक्रिया न दें। आप चुप रहना भी चुन सकती हैं, जब दूसरा व्यक्ति अपनी प्रतिक्रिया दे रहा हो।

चीजों को ठीक से समझने का समय निकालें। चित्र: शटरस्‍टॉक

5. “I” से शुरू होने वाले कथनों का उपयोग करें

दूसरे व्यक्ति ने जो कहा है, वह आपको पसंद नहीं आएगा और यह ठीक है! लेकिन एक व्यक्ति पर चार्ज करने के बजाय, “मैं” का उपयोग करके व्यक्त करें कि आप क्या महसूस कर रही हैं। इसका मतलब है कि आप किसी भी तरह से डिफेंसिव न होकर, अपनी राय व्यक्त कर रही हैं।

आप हमेशा कह सकती हैं, “मैं इसके साथ सहज नहीं हूं”, या “मेरे लिए बातचीत करना मुश्किल है, जब किसी और की आवाज उठे।”

तो गर्ल्‍स, यह कठिन है, लेकिन डिफेंसिव न होना इतना मुश्किल नहीं है!

यह भी पढ़ें – आपकी एंग्जायटी हो सकती है इन 10 बुरी आदतों के लिए जिम्‍मेदार, जानिए इनसे कैसे छुटकारा पाना है

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।