अपने ऑफिस कुलीग को डेट कर रहीं हैं, तो इन 5 बातों का हमेशा रखें ध्यान

Updated on: 3 June 2022, 16:34 pm IST

प्यार कब, किससे हो जाए कहां नहीं जा सकता। पर जब आप अपने किसी सहकर्मी को डेट करना शुरू करती हैं, तो आपको कुछ चीजों के बारे में पहले से जान लेना चाहिए। 

dating with coworker
सहकर्मी के साथ डेट पर जाते हुए बनाए बैलेंस

हमारे आसपास ऐसे कई जोड़े हैं, जो पहले सहकर्मी थे यानी एक ही ऑफिस में काम कर रहे थे और बाद में जीवन साथी बन गए। पर ध्यान से देखें तो कुछ लोग ऐसे भी होंगे, जिन्हें ऑफिस गॉसिप और टॉक्सिक रिश्ते के कारण नौकरी गंवानी पड़ी। असल में यह बेहद जटिल मामला है। कभी-कभी आपके ऑफिस में ही आपको एक बहुत प्यारा दोस्त या जीवनसाथी मिल सकता है। तो इसमें कोई बुराई नहीं कि आप अपने सहकर्मी को डेट (Dating with coworker) कर रहीं हैं। बस ध्यान रहे कि आपको उन गलतियों (Mistakes of dating a colleague) से बचना है, जो आपकी पर्सनल या प्रोफेशनल लाइफ में परेशानियों का कारण बन सकती हैं। 

सहकर्मी के साथ डेटिंग सही है या नहीं 

असल में यह पूरी तरह से आपका निजी मामला है। पर कुछ कंपनियों में इसके बारे में सख्त नियम बनाए गए होते हैं। इसलिए अपने किसी सहकर्मी को डेट करने से पहले आपको यह जान लेना चाहिए कि कहीं यह आपकी कंपनी की पॉलिसी के खिलाफ तो नहीं। अगर आपका साथी आपका जूनियर है, तो यह आपके लिए थोड़ा ज़्यादा रिस्की मामला हो सकता है। वहीं अगर वह सीनियर है, तो भी आपके करियर को नुकसान पहुंचने का डर बना रहता है। ऐसे में यह ज़रूरी है कि आप किसी भी रिश्ते की नींव रखने से पहले एक-दूसरे के लिए कुछ नियम बनाएं। जो आपके वर्क और पर्सनल लाइफ में बैलेंस बनाने में आपकी मदद करेंगे। 

इस बारे में और विस्तार से जानने के लिए हमने बात की इंदौर में अपोलो हॉस्पिटल में साइकोलॉजिस्ट डॉक्टर आशुतोष सिंह से। आइए जानें कि डॉ आशुतोष कोवर्कर के साथ डेटिंग के लिए किन सावधानियों को बरतने की सलाह दे रहे हैं- 

1 प्राइवेसी से समझौता न करें

ऑफिस में कुलीग के साथ अपने रिश्ते और प्रोफेशनल लाइफ को बैलेंस करने के बारे में बताते हुए डॉ. आशुतोष कहते हैं, जैसे ही आप अपने सहकर्मी को डेट करना शुरू करते हैं, तो स्वभाविक है कि वहां गॉसिपिंग होने लगती है। इसलिए यह जरूरी है कि जब तक आप पूरी तरह श्योर न हो जाएं, इस रिश्ते को ऑफिस में डिस्कस करने से बचें। जब तक आप अपने साथी को बेहतर तरीके से नहीं जान लेतीं, तब तक आपको इस संबंध को पूरी तरह गोपनीय रखना चाहिए। अपने रिश्ते के शुरुआती दौर में सोशल मीडिया पर किसी भी तरह की घोषणा से बचें, क्योंकि यह आपके अन्य सहकर्मियों की निगाह में आ सकता है।

 

janiye long distance relationship ke liye kuch tips
आमने सामने बात करना ई मेल या मैसेज करने से बेहतर है चित्र : शटरस्टॉक

2 एक्ट प्रोफेशनल ऑल द टाइम

चुलबुला और अंतरंगी होना बुरा नहीं है, लेकिन अपने वर्कप्लेस पर नहीं। आपकी इमेज एक प्रोफेशनल की ही बनी रहनी चाहिए। ध्यान रहे पर्सनल कनेक्शन आपके प्रोफेशनल ऐटिट्यूड या डिसीजन पर हावी न हो । काम के बाद जब आप दोनों को वक्त मिलें या एक-दूसरे के लिए समय निकालें, तो ऑफिस के बारे में या काम पर चर्चा न करें। ऐसा करना आपके दोनों स्पेसेज़ को प्रभावित करेगा

 

3 वर्कप्लेस पर भूल जाएं पर्सनल मनमुटाव 

किसी कुलीग के साथ डेटिंग करते हुए भी आप अपने काम और निजी ज़िन्दगी को अलग-अलग रख सकती हैं। ऑफिस मीटिंग में अपने साथी के साथ हुई बहस से उपजी नाराजगी को अपने पर्सनल स्पेस में नहीं घुसने देने का नियम बनाएं और संभव हो तो ये बातें अपने साथी से भी साझा करें। काम की जगह पर अपने मनमुटावों को या उससे जुड़ी चिढ़ या गुस्से से माहौल को निगेटिव न बनाएं। बोझिल या टेन्स वातावरण में कोई भी काम करना पसंद नहीं करता है।

ज़रूरी है कि जब आप काम पर हों, काम पर ही फोकस रखें और उसी स्पेस में मौजूद रहें, शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से। जब आप किसी सहकर्मी को डेट कर रहे होते हैं, तो आपका दिमाग आप दोनों के बारे में सोचकर भटक सकता है। काम और प्यार के बीच हेल्दी बैलेंस बनाए रखने के लिए, इस आदत को अलविदा कह दें। आपका लक्ष्य पर्सनली और प्रोफेशनली साथ में ग्रो करना होना चाहिए न कि एक-दूसरे का ध्यान भटकाना।

4 ई मेल नहीं, टेक्स्ट मैसेज का इस्तेमाल करें

प्यार में होना यानी एक दूसरे से कहने को ढेर सारी बातें होना। अच्छा लगता है जब आपका साथी आपसे कुछ ऐसा कहे जो आपके साथ पूरे दिन रह सके या जिसे सोच कर आप तनाव में भी मुस्कुरा दें। ये बातें आपके रिश्ते को और मज़बूत बनाएंगी पर इस प्रॉसेस में ईमेल के माध्यम से चुलबुले संदेश भेजने से बचें, क्योंकि यदि आप दोनों ने कभी ब्रेक-अप करने का फैसला किया या आपसी मनमुटाव ज़रुरत से ज़्यादा बढ़ा तो ये सन्देश आपके खिलाफ भी इस्तेमाल हो सकते हैं। 

ek doosre ke lieye judgemental hone se bachen
एक दूसरे के लिए जजमेंटल होने से बचें। चित्र-शटरस्टॉक।

किसी भी पर्सनल कम्युनिकेशन के लिए ऑफिस ईमेल का इस्तेमाल हरगिज न करें। ये प्रोफेशनल एथिक्स के खिलाफ है। इसलिए निजता बनाए रखने के लिए एक-दूसरे से मिलने का समय निकालें और ढेरों बातें करें। 

5 औरों के साथ रिश्ते न बनें तनाव का कारण 

डॉ आशुतोष आगे सलाह देते हैं, “जब आप दिन भर एक ही ऑफिस में काम करते हैं तो आप एक-दूसरे के व्यवहार को बेहतर तरीके से समझ पाते हैं। पर अपने दोस्त के ओवरऑल व्यक्तित्व को लेकर कभी भी जजमेंटल न हों। कुछ लोग चुलबुले होते हैं, तो कुछ सभी से बेहतर संवाद में भरोसा करते हैं। इस तरह के संवाद या व्यवहार के बारे में किसी भी तरह की असुरक्षा को मन में न लाएं। आपका बॉस के साथ व्यवयहार, अन्य सहकर्मियों के साथ व्यवहार या आपके दोस्त का बॉस या अन्य सहकर्मियों के साथ व्यवहार आपके निजी स्पेस में बहस का कारण नहीं बनना चाहिए।” 

 

यह भी पढ़ें:ये 5 संकेत बताते हैं कि वे सचमुच आपके प्यार में हैं, समझिए फ्लर्ट और प्यार के बीच का अंतर 

शालिनी पाण्डेय शालिनी पाण्डेय

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें