और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

आपकी योनि है शक्ति का प्रतीक और आपको उसे इसी तरह ट्रीट करना चाहिए

Published on:13 February 2021, 18:00pm IST
जब आप 'योनि' शब्द का प्रयोग करती हैं तो आपको शर्म आ सकती है। इसके विपरीत, यह ताकत का प्रतीक है जो आजीवन आपकी रीढ़ की हड्डी बनकर खड़ी रहती है। इसलिए, आपको इसके साथ ऐसा व्यवहार करने की आवश्यकता है।
  • 80 Likes
आपकी योनि आपकी कमजोरी नहीं शक्ति का प्रतीक है। चित्र: शटरस्‍टॉक
आपकी योनि आपकी कमजोरी नहीं शक्ति का प्रतीक है। चित्र: शटरस्‍टॉक

जब भी योनि की बात आती है तो आवाज़ धीमे स्वर में ही निकलती है। इसके कई नाम हैं लेकिन शायद ही महिलाएं कभी इसे गर्व से योनि या वेजाइना के नाम से बुलाती हैं। अगर आपको यह गलत लग रहा है, तो आपको इसे और समझने की जरूरत है।

2016 के एक सर्वेक्षण में, यह पाया गया कि 65 प्रतिशत युवतियों को ‘योनि’ शब्‍द बोलने में समस्या महसूस होती है। जिसमें कई शब्दों के साथ-साथ महिलाओं के ‘बिट्स’ का उपयोग करना पसंद किया गया था। ऐसा क्यों है कि एक योनि, जो वास्तव में ताकत का प्रतीक है, आपको शर्मिंदगी से भर देती है!

शब्द की उत्पत्ति के बारे में बताएं, तो इसे 17 वीं शताब्दी के अंत में लैटिन शब्द से लिया गया था जिसका अर्थ है ‘म्यान’ या ‘स्कैबर्ड’।

आप चाहें इसे कुछ भी बुलाएं, लेकिन हम इसे बिलकुल भी बदनाम नहीं करेंगे। क्योंकि योनि- जी हां सही सुना योनि, मानव प्रजनन के लिए महत्वपूर्ण है और यौन संतुष्टि में अहम भूमिका निभाती है। गर्भाशय ग्रीवा से जुड़ने वाली पेशी नली को ‘जन्म नहर’ (Birth canal) भी कहा जाता है। यह मासिक धर्म में रक्त और कोशिकाओं के पारित होने, संभोग के दौरान शुक्राणु का परिचय, और बच्चे के प्रसव की अनुमति देता है।

तो, आइए कुछ ऐसे कारणों पर नज़र डालें जो योनि को हर संभव तरीके से ‘सुपरस्टार’ बनाते हैं:

1. आपकी योनि उत्तेजना के दौरान अपना आकार बदल सकती है

क्या आपने कभी महसूस किया है कि आपकी योनि आपको यौन-उत्तेजना महसूस करने में कैसे मदद कर सकती है? ऐसे कई शारीरिक और भावनात्मक परिवर्तन हैं, जो एक व्यक्ति तब करता है जब वे यौन रूप से उत्तेजित हो जाता है। योनि इन परिवर्तनों के लिए अलग-अलग तरीकों से प्रतिक्रिया देती है। यौन प्रतिक्रिया में आम तौर पर चार चरण होते हैं: excitement, plateau, orgasm and resolution और यह प्रत्येक चरण में अलग-अलग प्रतिक्रिया करती है।

आपकी योनि अपना आकार बदल सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक
आपकी योनि अपना आकार बदल सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

उत्तेजना के चरण में योनि खुद को लुब्रीकेट करती है और अपनी दीवारों को मोटा करती है।उसके बाद plateau अवस्था में रक्त के प्रवाह में वृद्धि के कारण योनि में सूजन जारी रहती है और योनि की दीवारें गहरे बैंगनी रंग की हो जाती हैं। इसके अलावा, जब एक महिला ऑर्गेज्‍़म तक पहुंचती है, तो योनि की मांसपेशियां सिकुड़ जाती हैं।

2. संभोग सुख में मदद करती है

हम सभी के बीच जी-स्पॉट पर कई चर्चाएं हुईं, जो उत्तेजित होने पर एक संभोग में मदद करता है। लेकिन क्या आपने कभी ए-स्पॉट के बारे में सुना है? इसे पूर्वकाल फॉरेनिक्स एरोजेनस ज़ोन (anterior fornix erogenous zone) कहा जाता है, ए-स्पॉट को योनि के अंदर गहराई से स्थित माना जाता है। हालांकि यह मलेशियाई शोधकर्ता, डॉ. चुआ ऐन द्वारा हाल ही में की गई खोज है, लेकिन उनके निष्कर्षों से बहुत कुछ सच प्रतीत होता है।

एक अध्ययन में, उन्होंने पाया कि 10 से 15 मिनट की ए-स्पॉट उत्तेजना ने 15 प्रतिशत महिलाओं को ऑर्गेज्‍़म दिया और 15% महिलाओं ने संभोग के दौरान दर्द और सूखेपन की शिकायत की।

3. आपकी योनि एक बगीचे की तरह है

आप सोच सकती हैं कि आपकी योनि को वाइप्स से पोंछना एक अच्छा विचार है, लेकिन ऐसा नहीं है। क्योंकि योनि में स्वस्थ रखने के लिए अच्छे बैक्टीरिया होते हैं। अमेरिका और कनाडा में एक प्रसूति-स्त्री रोग विशेषज्ञ, डॉ. जेन गंटर के अनुसार, “योनि माइक्रोबायोम सभी विभिन्न प्रकार के जीवाणुओं के एक बगीचे की तरह है। जो योनि के पारिस्थितिकी तंत्र को स्वस्थ रखने के लिए एक साथ कार्य करते हैं। यह बैक्टीरिया हैं जो थोड़ा एसिडिक वातावरण बनाता है और खराब बैक्टीरिया के प्रवेश को रोकता है।”

अपने निजी अंग के स्वास्थ्य का ख्याल रखना जरूरी है। चित्र : शटरस्‍टॉक

योनि का सही पीएच स्तर 4.5 है, जो शुक्राणु को तैरने और अंदर रहने की अनुमति देता है।

साथ ही क्या आप जानती हैं कि योनि खुद को साफ़ रखने में सक्षम है? जी हां.. बहुत बेहतर तरीके से। किसी भी चीज़ का उपयोग करने से केवल संतुलन बाधित होगा, इसलिए कुछ भी न करें। अपनी योनि को अपना काम करने दें!

4. आपकी योनि हल्के वजन की हो सकती है

महिलाएं अपनी श्रोणि को मजबूत करने के लिए वेजाइनल वेट लिफ्टिंग भी कर सकती हैं। यदि आप ऐसा करती हैं, तो आपकी योनि की मांसपेशियां मजबूत होंगी। इससे सेक्स बेहतर और आनंददायक बन सकता है।

ऐसे अन्य अध्ययन भी हैं, जो दिखाते हैं कि वेजाइनल वेटलिफ्टिंग, मूत्र के असंयम को रोकने में मदद करती है और प्रसव के बाद आपके कोर में भी सुधार करती है।

5. आपकी योनि बच्चे के जन्म के बाद खुद को ठीक कर सकती है

योनि, बच्चे के जन्म के लिए अपना आकार बदलती है और फिर वापस अपने सामान्य आकार में आ जाती है। क्या ऐसा नहीं है कि महिलाओं के रूप में हमें गर्व होना चाहिए? आखिरकार, प्रसव हर संभव तरीके से एक उपलब्धि है।

वेजाइनल एरिया को सूखा रखना सबसे ज्‍यादा जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक
वेजाइनल एरिया को सूखा रखना सबसे ज्‍यादा जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक

वेजाइनल बर्थ के दौरान, आंसू आना लाज़मी है, लेकिन आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि आपकी योनि आपकी बेस्ट फ्रेंड है।