वैलनेस
स्टोर

क्‍या सेक्‍स के दौरान दर्द होता है, तो एक्‍सपर्ट से जानिए इस समस्‍या का कारण और बचाव के उपाय

Published on:7 April 2021, 18:25pm IST
संभोग आपके संबंधों और आनंद को बढ़ा सकता है। पर जब यही आपके लिए दर्दनाक अनुभव बन जाए तो आपको इसके कारणों के बारे में जानना चाहिए।
Dr. S.S. Moudgil
  • 75 Likes
डिस्‍पेर्यूनिया सेक्‍स से जुड़ी एक दर्दनाक स्थिति है। चित्र: शटरस्‍टॉक

बेडरूम का स्‍टीमी सेशन किसी के लिए भी रोमांचक हो सकता है। पर कुछ महिलाएं ऐसी भी हैं, जिनके लिए ये सेशन बहुत सारी पीड़ा लेकर आते हैं। परिणामस्‍वरूप वे न केवल सेक्‍स से बचने लगती हैं, बल्कि तनाव और अवसाद की भी शिकार हो जाती हैं। चिकित्‍सकीय भाषा में इसे पीड़ा दायक संभोग या डिस्परेयूनिया (dyspareunia) कहा जाता है। आइए जानते हैं क्‍या हैं इसके कारण और उपचार।

सहवास में पीड़ा (dyspareunia)

अनेक महिलाओं को जीवन में कभी न कभी पीड़ा दायक संभोग की शिकायत हो सकती है। दर्द संभोग के आरंभ में या संभोग के दौरान या संभोग के बाद एवं बार-बार या हर बार होने वाले जननांग दर्द के रूप में परिभाषित किया जाता है। पीड़ा दायक संभोग का इलाज संभव है। अत: चिकित्सक से सहायता लेना लाभदायक होगा।

एंडोमीट्रियोसिस सेक्‍स को दर्दनाक बना सकता हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
एंडोमीट्रियोसिस सेक्‍स को दर्दनाक बना सकता हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

जानिए डिस्परेयूनिया के लक्षण

यौन प्रविष्टि (Penetration) पर दर्द
योनि टैम्पोन में डालते हुए या हर बार सेक्स की शुरुआत में दर्द
सेक्स के दौरान दर्द
योनि में जलन या दर्द या दोनों
धड़कनों में आता-जाता दर्द (throbbing pain)
संभोग के बाद घंटों तक रहने वाला दर्द

क्‍या हो सकते हैं दर्दनाक संभोग के कारण

पीड़ा दायक संभोग के शारीरिक कारण अलग-अलग होते हैं। यह इस पर निर्भर करता है कि दर्द प्रवेश के समय होता है या गहरे थ्रस्टिंग के समय । भावनात्मक कारण कई प्रकार के पीड़ा दायक संभोग से जुड़े हो सकते हैं।

वेजाइना भी आपके शरीर का हिस्‍सा है, इस पर सहजता से बात करें। चित्र: शटरस्‍टॉक
वेजाइना भी आपके शरीर का हिस्‍सा है, इस पर सहजता से बात करें। चित्र: शटरस्‍टॉक

प्रवेश के समय दर्द

प्रवेश के दौरान दर्द कारण की एक श्रृंखला के साथ जुड़ा हो सकता है।

जैसे – पर्याप्त चिकनापन (Lubrication) न होना :

यह अक्सर पर्याप्त फोरप्ले न होने का परिणाम होता है। रजोनिवृत्ति या प्रसव के बाद या स्तनपान के दौरान एस्ट्रोजन के स्तर में गिरावट भी ल्‍युब में कमी का कारण हो सकती है।

दवाएं :

कुछ दवाएं यौन इच्छा या उत्तेजना को प्रभावित करने के लिए जानी जाती हैं, जो चिकनापन (Lubrication) को कम कर सकती हैं और सेक्स को पीड़ा दायक बना सकती हैं।
इनमें अवसादरोधी दवाएं, उच्च रक्तचाप की दवाएं, एंटीहिस्टामाइंस और कुछ गर्भनिरोधक गोलियां शामिल हैं।

इंजरी :

चोट, आघात या जलन। इसमें किसी दुर्घटना से चोट या जलन, पेल्विक सर्जरी, महिला खतना या शिशु जन्म के समय लागाए जाने वाला कट या चीरा हो सकते हैं।

सूजन, संक्रमण या त्वचा विकार, जननांग क्षेत्र या मूत्र पथ में संक्रमण पीड़ा दायक संभोग का कारण बन सकता है। एक्जिमा या आपके जननांग क्षेत्र में त्वचा की अन्य समस्याएं भी इसके लिए जिम्‍मेदार हो सकती हैं।

वैजिनिस्मस (Vaginismus) :

योनि की दीवार की मांसपेशियों की ये अनैच्छिक ऐंठन प्रवेश को पीड़ा दायक बना सकती है।

जन्मजात असामान्यत (congenital) :

जन्म के समय मौजूद समस्या, जैसे पूरी तरह से गठित योनि की अनुपस्थिति या एक झिल्ली का विकास जो योनि खुलने को अवरुद्ध करता है!

भावनात्‍मक अलगाव भी सेक्‍स को दर्दनाक बना सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
भावनात्‍मक अलगाव भी सेक्‍स को दर्दनाक बना सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

भावनात्मक कारण :

भावनाएं यौन गतिविधि को प्रभावित व यौन दर्द में भूमिका निभा सकती हैं।

मनोवैज्ञानिक मुद्दे :

चिंता, अवसाद, अपनी शारीरिक उपस्थिति के बारे में चिंता, संबंधो में अंतरंगता की कमी, उत्तेजना की कमी , संभोग में असुविधा या दर्द का कारण बन सकती हैं

पेल्विक स्ट्रेन या स्पाज़्म (Pelvic strain or spasm) :

बचपन में यौन शोषण का इतिहास भी सेक्‍स को दर्दनाक बना सकता है।

अन्य कारण :

कुछ बीमारियां और स्थितियां यथा एंडोमेट्रियोसिस, पेल्विक इंफ्लेमेशन, गर्भाशय प्रोलैप्स, रेट्रोवर्टेड गर्भाशय, गर्भाशय फाइब्रॉएड, सिस्टिटिस, इर्रीटेबल बाउल सिंड्रोम, पेल्विक फ्लोर डिस्‍फंक्‍शन, एडेनोमायोसिस, हेमरोसिस और ओवेरियन सिस्ट भी सेक्‍स को दर्दनाक बना सकते हैं।

सर्जरी या प्रसव के तुरंत बाद संभोग भी एक कारण हो सकता है। सर्जरी या चिकित्सा उपचार पेल्विक सर्जरी , हिस्टेरेक्टॉमी सहित, पीड़ा दायक संभोग का कारण बन सकता है। कैंसर के लिए चिकित्सा उपचार, जैसे विकिरण और कीमोथेरेपी सेक्स को पीड़ा दायक बनाने वाले बदलावों का कारण बन सकते हैं।

क्‍या इस समस्‍या का उपचार संभव है

दर्द के कारण के आधार पर दर्दनाक संभोग का उपचार किया जा सकता है।

कुछ मामलों में पोजीशन बदलना फायदेमंद हो सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
कुछ मामलों में पोजीशन बदलना फायदेमंद हो सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

जीवन शैली और घरेलू उपचार – पति पत्नी या पार्टनर यौन दिनचर्या में कुछ बदलावों के साथ दर्द को कम करने में सक्षम हो सकते हैं:

आसन – पोजीशन बदलना यथा यदि थ्रस्टिंग के दौरान तेज दर्द होता है, तो वुमेन ऑन टॉप ज्‍यादा सुविधाजनक हो सकती है।

आपसी बातचीत – आपको सेक्स के समय पार्टनर द्वारा क्या किया जाना अच्छा लगता है और क्या नहीं भी समस्या निवारक हो सकता है यथा अगर पार्टनर को स्लो होने की जरूरत है तो ऐसा कहें। जल्दबाजी न करें।

फोरप्ले – प्राकृतिक चिकनापन लाने में फोर प्‍ले की अहम भूमिका होती है। प्रवेश में देरी से दर्द को कम कर सकते हैं, जब तक पूरी तरह से उत्तेजित महसूस न करें प्रवेश की इजाजत न दें।

लुब्रिकेंट का इस्‍तेमाल करें- पानी से बने पर्सनल लुब्रिकेंट को चुनें जो सेक्स को ज्यादा आरामदायक बना सकता है। इसके लिए आप विभिन्‍न ब्रांड ट्राय कर सकती हैं। जब तक आपको अपनी सुविधानुसार लुब्रिकेंट नहीं मिल जाता।

यह भी पढ़ें – एक्सपर्ट के सुझाए इन 3 टिप्स की मदद से आप भी अपने यौन जीवन को बेहतर बना सकती हैं  

Dr. S.S. Moudgil Dr. S.S. Moudgil

Dr. S.S. Moudgil is senior physician M.B;B.S. FCGP. DTD. Former president Indian Medical Association Haryana State.