पीरियड्स के दौरान पैड पर नजर आ रहे हैं खून के थक्के, तो जानिए क्या हो सकता है इसका कारण

पीरियड्स के दौरान ब्लड क्लॉट्स ज्यादातर चिंता का विषय नहीं होते हैं। हालांकि, कुछ मामलों में, ये एक चिकित्सा स्थिति का संकेत दे सकते हैं। जानिए क्या हैं वे -
जानिए क्यों होते हैं पीरियड के दौरान ब्लड क्लॉट्स. चित्र : शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published on: 13 September 2022, 23:00 pm IST
ऐप खोलें

हर महिला के पीरियड्स अलग-अलग होते हैं। बहुत कुछ कॉमन होने के बावजूद, इनका आना हर महिला के लिए अलग अनुभव हो सकता है। कुछ को ये हल्के दर्द के साथ शुरू होते हैं, तो कुछ पहले ही दिन हैवी फ्लो और भयंकर दर्द का अनुभव करती हैं। जबकि कुछ महिलाएं अपने सेनिटरी पैड पर ब्लड क्लॉट (Blood clots in periods) भी देखती हैं। हालांकि ऐसा हर बार नहीं होता, पर अगर ऐसा हो रहा है, तो आपको इसके कारणों पर गौर करना चाहिए।

पीरियड्स की शुरुआत में भारी रक्त प्रवाह का अनुभव होना सामान्य है। इसके कारण, हम सभी को कभी-कभी पैड या टैम्पोन जल्दी – जल्दी बदलने पड़ते हैं। मगर क्या ब्लड क्लॉट्स आपकी चिंता का कारण बने हुये हैं? चिंता न करें। पीरियड्स के दौरान ब्लड क्लॉट्स होने एक सामान्य घटना है। मगर यदि आप सोच रही हैं कि आपको इसके बारे में कब चिंतित होना चाहिए, तो आइए हम कोशिश करते हैं और आपको समझने में मदद करते हैं।

ब्लड क्लॉट्स के साथ-साथ भारी रक्तस्त्राव होना किसी समस्या का संकेत हो सकता है।

समझिए मासिक धर्म चक्र को

नर्चर क्लिनिक की स्त्री रोग विशेषज्ञ, प्रसूति विशेषज्ञ और आईवीएफ विशेषज्ञ डॉ अर्चना धवन बजाज,ने हेल्थ शॉट्स को पीरियड ब्लड क्लॉट्स के बारे में बताया कि उनका क्या मतलब है और आपको डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए।

पीरियड्स की टाइमिंग, मात्रा और ड्यूरेशन हर महीने अलग-अलग होती है। यह हर महिला के लिए एक अलग प्रक्रिया है। यही बात मासिक धर्म के अन्य लक्षणों जैसे ऐंठन, ब्लड क्लॉट्स , रक्त के रंग या गंध पर भी लागू होती है। भले ही कभी-कभी रक्त के थक्के सामान्य होते हैं और इलाज की आवश्यकता नहीं होती है, लेकिन कभी-कभी एनीमिया (आयरन की कमी) जैसी स्थितियों का संकेत देते हैं।

रक्त कोशिकाएं, गर्भाशय के अस्तर से ऊतक और रक्त में प्रोटीन एक साथ मिलकर ब्लड क्लॉट्स बनाते हैं। वे अतिरिक्त रक्त को बाहर निकलने से रोकने के लिए शरीर के रक्षा तंत्र का एक हिस्सा हैं।

क्या पीरियड्स के दौरान ब्लड क्लॉट्स बनना चिंता का कारण है?

बजाज कहती हैं, “मासिक धर्म चक्र के पहले दो दिनों में पीरियड ब्लड क्लॉट्स सामान्य होते हैं, जब रक्त प्रवाह आमतौर पर हैवी होता है। हालांकि, यह प्राकृतिक मासिक चक्र चिंता का कारण बन जाता है जब आप बड़े रक्त के थक्के देखना शुरू करती हैं क्योंकि यह संकेत हो सकता है कि कुछ है जो नॉर्मल नहीं है।

अलग-अलग रंग के पीरियड ब्लड होते हैं। चित्र:शटरस्टॉक

ब्लड क्लॉट्स सामान्य नहीं होने पर इन लक्षणों पर ध्यान दें

क्या आपके पीरियड्स नॉर्मल से ज़्यादा हैवी हो रहे हैं? क्या आप हर घंटे एक टैम्पोन या पैड बदल रही हैं? यदि आप इन लक्षणों का अनुभव कर रही हैं, तो यह आपके डॉक्टर से जांच कराने का समय है।

ऐसी कई स्थितियां हैं जिनके कारण महिलाओं को भारी पीरियड्स हो सकते हैं या भारी रक्त के साथ असामान्य रूप से बड़े रक्त के थक्के बन सकते हैं। डॉक्टर यह निर्धारित करने में मदद कर सकता है कि क्या कोई अंतर्निहित स्थिति है जो भारी रक्तस्राव का कारण बन रही है।

ब्लड क्लॉट्स बनने के कुछ कारणों में शामिल हैं:

यूटरीन पोलिप्स
पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम (PCOS)
फाइब्रॉएड
एंडोमेट्रोसिस (Endometriosis)
थाइरॉइड डिजीज
ब्लीडिंग डिसऑर्डर
गर्भाशय ग्रीवा या गर्भाशय का कैंसर

इसलिए, यदि आप चिंतित हैं कि आपके पीरियड से अधिक हैवी हो रहे हैं और रक्त के थक्कों की मात्रा लगातार बढ़ रही है, तो समय पर उपचार के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

जरूरी नहीं कि ये सभी के साथ हो

नहीं ऐसा सबके साथ नहीं, होता है। यह पूरी तरह से आपकी पीरियड हेल्थ पर निर्भर करता है।

असामान्य भारी मासिक धर्म के कारण का पता लगाने से डॉक्टर को उपचार की योजना बनाने में मदद मिलेगी। बजाज कहती हैं, “अगर उन्हें लगता है कि किसी महिला का बहुत अधिक खून बह रहा है या एनीमिया का खतरा है, तो वे आयरन सप्लीमेंट ले सकती हैं। दवा के अलावा, वे स्वस्थ आहार खाना जिसमें आयरन युक्त खाद्य पदार्थ, नियमित शारीरिक व्यायाम, हाइड्रेटेड रहना और एस्पिरिन से परहेज करना शामिल है क्योंकि इससे रक्तस्राव बगड़ सकता है।

यह भी पढ़ें : बढ़ती उम्र के साथ पीरियड्स वाला पेन बढ़ रहा है तो जानें इसपर एक्सपर्ट की राय  

लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story