वैलनेस
स्टोर

धोना या पोंछना : जानिए पेशाब करने के बाद क्‍या है योनि को साफ करने का सबसे सही तरीका

Published on:24 December 2020, 18:04pm IST
जब पेशाब करने के बाद योनि की सफाई की बात आती है, तो बेहतर क्या है- पानी से धोना या टिशू पेपर से पोंछना। हम इस बहस को तर्क के साथ हमेशा के लिए निपटा रहे हैं!
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 88 Likes
वेजाइनल एरिया की हाइजीन के लिए आपको सही विकल्‍प चुनना चाहिए। चित्र: शटरस्‍टॉक

बचपन से ही हम सभी को बुनियादी स्त्री स्वच्छता नियमों पर ध्यान देना सिखाया गया है। सबसे महत्वपूर्ण सबक जो हमने सीखा है, वह यह है कि जब भी आप पेशाब करते हैं, तो अपने प्यूबिक क्षेत्र की सफाई करना अत्यंत महत्वपूर्ण है। अब, यह कुछ ऐसा है जिसे हमने पक्के से सीख लिया है। लेकिन क्या आपने सोचा है कि यह क्यों जरूरी है?

आप देखती हैं कि, जब आप पेशाब करने के बाद अपने आप को साफ नहीं करती हैं, तो आपके प्यूब्स में रुकी हुई बूंदें आपके अंडरवियर में गिर जाती हैं। इससे दुर्गंध आती है। इसके अलावा, यह आपके अंडरवियर में बैक्टीरिया को भी जन्म देता है, जिससे यूरिनरी ट्रैक्ट संक्रमण (UTI) का खतरा बढ़ जाता है। पेशाब करने के तुरंत बाद सफाई करने से वह खतरा कम हो जाता है।

अब जब सफाई की बात आती है, तो आपके पास दो विकल्प हैं: पानी का उपयोग करके धोने का हमारा देसी तरीका और टॉयलेट पेपर से खुद को साफ करने का विदेशी तरीका। लेकिन क्या बेहतर है?

टिशू पेपर से पोंछने के अपने फायदे हैं, लेकिन…

विदेशों में महिलाएं हमेशा खुद को साफ करने के लिए टॉयलेट पेपर का उपयोग करती रही हैं। यह नमी को अवशोषित करने का एक शानदार तरीका है। चूंकि नम सतह बैक्टीरिया के लिए एक केंद्र हो सकती है, जब सूखी और स्वच्छ योनि की बात आती है, टॉयलेट पेपर शानदार ढंग से काम करता है।

वेजाइनल एरिया को सूखा रखना सबसे ज्‍यादा जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक
वेजाइनल एरिया को सूखा रखना सबसे ज्‍यादा जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक

लेकिन, टॉयलेट पेपर न केवल भारी मात्रा में फ्रिक्शन उत्पन्न करता है, बल्कि आपकी त्वचा पर कागज को लगातार रगड़ने से कुछ महिलाओं में योनि की जलन और त्वचा की संवेदनशीलता भी हो सकती है। इसके अलावा, यह बैक्टीरिया के प्रसार को भी बढ़ा सकता है, अगर इसका ठीक से उपयोग न किया जाए।

तो, क्या आपको धोने के लिए स्विच करना चाहिए?

सफाई के लिए पानी का उपयोग न केवल कुशल सफाई की गारंटी देता है, बल्कि आपके प्राइवेट पार्ट में बैक्टीरिया के प्रसार को भी रोकता है। यह प्रत्यक्ष हाथ के संपर्क से भी बचाता है, इसलिए यह अधिक स्वच्छ है।

लेकिन बात यही खत्म नहीं होती। मूत्र हो या पानी- अपने इंटिमेट क्षेत्र को गीला छोड़ना एक बुरा विचार है। इसलिए, सुनिश्चित करें कि आप पानी का उपयोग करने के बाद तौलिया से इसको सुखा लें।

पोंछना या धोना: यही सवाल है

अब जब आप पूरी सच्चाई जानती हैं, तो आप सही और उपयोगी विकल्प चुन सकती हैं। एक ओर टॉयलेट पेपर अपने आप को साफ करने का एक सुविधाजनक तरीका है। खासकर यदि आप सार्वजनिक शौचालय का अक्सर प्रयोग करते हैं।

वेजाइनल हाइजीन के लिए ज्‍यादातर महिलाएं यही जानना चाहती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
वेजाइनल हाइजीन के लिए ज्‍यादातर महिलाएं यही जानना चाहती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

लेकिन दूसरी ओर, पानी सफाई का सबसे प्रभावी तरीका है और यह सुनिश्चित करता है कि योनि साफ हो जाए। तो दोनों का तालमेल बिठा कर अपनी योनि को उच्चतम सफाई प्रदान करना ही समझदारी है।

यह भी पढ़ें – Keto crotch : जानिए कीटो डाइट पर होने पर क्‍यों आती है आपकी वेजाइना से असहनीय गंध

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।