वैक्सिंग, ट्रीमिंग या शेविंग, एक्सपर्ट से जानें प्यूबिक हेयर रिमूव करने का कौन सा तरीका है सबसे सुरक्षित

अक्सर प्यूबिक हेयर रिमूवल प्रोसेस (pubic hair removal) को लेकर महिलाएं परेशान रहती हैं। हर तरीके के अपने साथ ही इनके कई साइड इफेक्ट भी नजर आते हैं। तो आज एक्सपर्ट से जानते हैं कौन सा तरीका रहेगा सबसे सुरक्षित और क्या हो सकते हैं इनके साइड इफेक्ट।

pubic hair removal tips
जानिए क्या है प्यूबिक हेयर हटाने का सबसे सुरक्षित तरीका। चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Published on: 22 November 2022, 22:00 pm IST
  • 140

प्यूबिक हेयर को रिमूव करने के लिए तरह-तरह की क्रीम, वैक्स, रेजर, इत्यादि मार्केट में उपलब्ध हैं। वहीं प्यूबिक हेयर रिमूवल का ट्रेंड भी दिन प्रतिदिन तेजी से बढ़ रहा है। ज्यादातर महिलाएं क्लीन और कॉन्फिडेंट रहने के लिए प्यूबिक हेयर को रिमूव करती हैं। पर आप इसे रिमूव करना चाहती हैं या नहीं यह पूरी तरह आपका निजी निर्णय है। इसके साथ ही आप किस प्रक्रिया के तहत इसे रिमूव करना चाहती हैं, यह भी पूरी तरह आपकी सहजता पर निर्भर करता है। परंतु कुछ भी चुनने से पहले सभी माध्यमों के अच्छे और बुरे पहलुओं को जान लेना जरूरी है। आइए एक विशेषज्ञ से जानते हैं, इंटीमेट एरिया हेयर रिमूवल (pubic hair removal) का कौन सा तरीका है सबसे अच्छा।

कई बार इंटिमेट एरिया (Intimate area) पर हेयर रिमूवल की अलग-अलग प्रक्रिया से अलग-अलग प्रकार से साइड इफेक्ट देखने को मिलते हैं। तो चलिए जानते हैं, इन प्रक्रिया के बारे में विस्तार से और जानेंगे हेयर रिमूव करने की कौन सी प्रक्रिया सबसे प्रभावी है।

मैत्री वुमन की संस्थापक, सीनियर कंसल्टेंट गायनोकोलॉजिस्ट और ऑब्सटेट्रिशियन डॉक्टर अंजलि कुमार ने प्यूबिक हेयर रिमूवल को लेकर कुछ जरूरी जानकारी शेयर की है। इसके साथ ही उन्होंने हेयर रिमूव करने के तरीकों पर भी कुछ विशेष बातचीत की और बताया की कौन सा तरीका सबसे अच्छा होता है और कौन सा तरीका किस तरह से आपकी वेजाइनल हेल्थ के लिए परेशानी का कारण बन सकता है।

vaginal health ke liye jaruri hai pubic hair
योनि स्वछता के लिए जरुरी है प्यूबिक हेयर। चित्र : शटरस्टॉक

क्या प्यूबिक हेयर वेजाइनल हेल्थ के लिए जरूरी है?

जिस तरह नाक के बाल सांस लेते वक्त धूल, गंदगी और बैक्टीरिया, वायरस को शरीर में प्रवेश होने से रोकते हैं, हाथ और पैर के बाल स्किन को सूरज की हानिकारक किरणों से लेकर धूल गंदगी और अन्य परिशनियों से बचाते हैं, ठीक उसी प्रकार प्यूबिक हेयर भी वेजाइनल हेल्थ को प्रोटेक्ट करता है। डॉक्टर अंजलि कुमार के अनुसार प्यूबिक हेयर वायरस, बैक्टीरिया और अन्य तरह के हानिकारक माइक्रोऑर्गनिस्म को वेजाइना में प्रवेश करने से रोकते हैं। जिस वजह से सेक्सुअल ट्रांसमिटेड इंफेक्शन और यूरिनरी ट्रैक्ट इनफेक्शन जैसी स्थिति पैदा नहीं होती।

इसके साथ ही हेयर फॉलिकल प्राकृतिक रूप से एक प्रकार के तेल का उत्पादन करते हैं जिसे हम सीबम कहते हैं। जो इंटिमेट एरिया को मॉइश्चराइज रखता है साथ ही बैक्टीरिया को पनपने से रोकता है। इसके साथ ही यह सेक्स के दौरान होने वाले फ्रिक्शन को कम कर देता है। जिस वजह से इंटरकोर्स के दौरान वेजाइना के संवेदनशील क्षेत्र छीलने और कटने से बच जाते हैं।

अब जानते हैं प्यूबिक हेयर को रिमूव करने का कौन सा तरीका है सबसे सुरक्षित

1. ट्रीमिंग है सबसे सुरक्षित

डॉक्टर अंजलि कुमार के अनुसार ट्रीमिंग प्यूबिक हेयर को रिमूव करने का एक सबसे सुरक्षित और प्रभावी तरीका है। यह रैशेज, कट, इनग्रोन हेयर जैसे किसी भी तरह के साइड इफेक्ट नहीं छोड़ता। इसके लिए आपको एक अच्छी और शार्प सीजर की जरूरत होती है। यदि आप चाहें तो बाजार में उपलब्ध ट्रिमर का इस्तेमाल भी कर सकती हैं।

इन बातों का रखें खास ध्यान

ट्रिम करने से पहले अपने इंटिमेट एरिया को अच्छी तरह से साफ करे लें। और ट्रिम करने के बाद भी इसे साफ करना न भूलें। इसके अलावा सीजर और ट्रीमर को भी ठीक तरह से साफ करें और इन्हें किसी सूखे जगह पर रखें।

shaving se ho sakte hai side effect
शेविंग से हो सकता है साइड इफ़ेक्ट। चित्र शटरस्टॉक।

2. साइड इफेक्ट भी दे सकती शेविंग

शेविंग प्यूबिक हेयर को रिमूव करने का एक सबसे आसान तरीका है। परंतु यह आसान होने के साथ ही आपके इंटिमेट एरिया के लिए काफी खतरनाक भी हो सकता है। डॉक्टर की मानें तो शेविंग करते वक्त इंटिमेट एरिया में कट लगना, रैशेज होना और इनग्रोन हेयर की समस्या बिल्कुल आम है। इसके साथ ही वेजाइनल इचिंग और वेजाइनल इनफेक्शन भी आपको परेशानी में डाल सकते हैं।

इन बातों का रखें खास ध्यान

तो ऐसे शेविंग को जितना हो सके उतना अवॉयड करने की कोशिश करें। परंतु यदि शेविंग कर रही हैं, तो एक सही रेजर का चयन करना जरूरी है। इसके साथ ही ज्यादा पुराने रेजर ब्लेड का इस्तेमाल न करें। इसी के साथ शेविंग करने से पहले अपने स्किन को अच्छी तरह साफ करें और एक्सफोलिएट करना भी एक अच्छा विकल्प रहेगा।

यदि आपका इंटिमेट एरिया क्लीन होगा, तो इंफेक्शन होने की संभावना भी कम होती हैं। इसके साथ ही हेयर ग्रोथ के डायरेक्शन में ही शेव करें। शेविंग के बाद कोकोनट ऑयल, ऑलिव ऑयल या शिया बटर जैसे मॉइश्चराइजिंग प्रोडक्ट का इस्तेमाल करते हुए अपने प्यूबिक हेयर के एरिया को एक जेंटल मसाज दें। इसके साथ ही शेविंग के कुछ दिनों बाद तक टाइट अंडरगारमेंट्स न पहने।

bikini wax aapke liye ho sakti hai nuksandeh
बिकिनी वैक्स के वक़्त अधिक सावधानी बरतने की जरुरत होती है। चित्र शटरस्टॉक।

3. वैक्सिंग के वक्त सावधानी बरतना है जरूरी

डॉक्टर अंजलि कुमार के अनुसार यदि आप प्यूबिक हेयर को हटाने के लिए वैक्स का इस्तेमाल कर रही हैं, तो आपको विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। इसके साथ ही वैक्सिंग हमेशा किसी प्रोफेशनल के देखरेख में ही करवाएं। क्योंकि वैक्स काफी गर्म होता है, ऐसे में इसे खुद से करने से आपकी इंटिमेट एरिया जल सकती है।

इसके साथ ही वैक्सिंग आपके वेजाइनल इंफेक्शन और इनग्रोन हेयर्स का कारण बन सकता है। इसलिए यदि आप वैक्सिंग करवा रही हैं, तो कुछ साइड इफेक्ट्स को झेलने के लिए तैयार रहें।

इन बातों का रखें खास ध्यान

वैक्सिंग करवाने से पहले अपने प्यूबिक एरिया को अच्छी तरह साफ कर लें और साथ ही इसे एक्सफोलिएट भी करें। इसके साथ ही एक्सपर्ट हार्ड वैक्स का इस्तेमाल करने की सलाह देती हैं। क्योंकि हार्ड वैक्स केवल बालों पर चिपकती है।

वहीं पतली वैक्स स्किन पर चिपक कर उसे जला सकती है। वैक्सिंग के बाद फौरन अपने इंटिमेट एरिया पर बर्फ से सिकाई करें। इसके साथ ही प्राकृतिक मॉइश्चराइजर की मदद से जैंटल मसाज दें। हालांकि, एक सबसे जरूरी चीज है हाइजीन का ध्यान रखना। पार्लर में कई बार प्रोफेशनल्स हाइजीन को नजरअंदाज कर देते हैं। जिस वजह से एसटीआई और यूटीआई होने की संभावना बढ़ जाती है।

avoid kren hair removal creams
हेयर रिमूविंग क्रीम हो सकती है खतरनाक. चित्र शटरस्टॉक।

4. हेयर रिमूविंग क्रीम हो सकती है खतरनाक

हेयर रिमूवल क्रीम के इस्तेमाल से पूरी तरह परहेज करना ही उचित रहेगा। क्योंकि जब आप इसे इंटिमेट एरिया में अप्लाई करती हैं, तो जाहिर सी बात है कि यह वेजाइनल एरिया के आसपास लगेगा। ऐसे में कई तरह के एलर्जिक रिएक्शन होने की संभावना बनी रहती है।

इन्हें बनाने में केमिकल युक्त सब्स्टेंस का इस्तेमाल किया जाता है, जो बालों को सतह से तोड़ देते हैं। यही केमिकल वेजाइना की संवेदनशील त्वचा को प्रभावित कर सकती है। इसलिए इसके इस्तेमाल से जितना हो सके उतना परहेज करें।

यह भी पढ़ें : मक्खन सी मुलायम हो जाएगी त्वचा, जब इन 5 तरीकों से करेंगी मलाई का इस्तेमाल

  • 140
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory