Vaginal Flatulence : क्या योनि में भी हवा भर सकती है? एक्सपर्ट से जानते हैं इसका कारण और बचाव के उपाय

वेजाइनल फ्लैटूलेंस या योनि फूलना योनि में हवा फंस जाने के कारण होती है। विशेषज्ञ बताते हैं कि यह कोई गंभीर योनि स्वास्थ्य समस्या नहीं है, पर हर महिला को इसके बारे में जानना चाहिए।
vaginal darkness kaise kam kre
वजाइना हो जाता है संवेदनशील। चित्र : अडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Published: 23 Jul 2023, 09:00 pm IST
  • 126

जब आप एक्सरसाइज कर रही होती हैं, तो आपको योनि में हवा ट्रैप करने का एहसास हो सकता है। इसे योनि का फूलना (Vaginal Flatulence) कहते हैं। यह सेक्सुअल एक्टिविटी के दौरान भी हो सकता है। इसके कारण आपको योनि में कुछ फंसा हुआ महसूस हो सकता है। विशेषज्ञ इसे बहुत बड़ी समस्या नहीं मानते हैं। इससे किसी भी प्रकार का स्त्री रोग संबंधी स्वास्थ्य जोखिम नहीं हो सकता है। असामान्य महसूस होने पर इससे मुक्त होने की जरूरत महसूस होती है। जानते हैं योनि का फूलना (Vaginal Flatulence) समस्या के बारे में।

जानकारी है जरूरी (vaginal flatus)

प्राइमस सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में कन्सल्टेंट गायनेकोलोजी डॉ. रश्मि बालियान बताती हैं, ‘योनि का फूलना (Vaginal Flatulence), जिसे योनि का पेट फूलना (vaginal flatus) या क्यूफ़ (queef) भी कहा जाता है। इससे योनि में फंसी हुई विंड पास होती है। इसे क्यूफ़, योनि फार्ट (vaginal fart), योनि गैस (Vaginal Gas) भी कहा जा सकता है। इसमें फार्ट की तरह योनि से निकलने वाली हवा में गंध नहीं होती है। यह कोई गंभीर समस्या नहीं है, लेकिन इसके बारे में हर महिला को जानना चाहिए।’

क्या हो सकते हैं कारण (Vaginal Flatulence causes)

वेजाइनल सेक्स या योनि में किसी चीज़ के डालने से अंदर की हवा ट्रांसफर हो सकती है या फंस सकती है।
पेल्विक टेस्ट कराए जाने के समय डॉक्टर के स्पेकुलम डालने के दौरान यह समस्या हो सकती है।
स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज मूवमेंट के कारण योनि के अंदर हवा फंस सकती है। कुछ फिजिकल एक्टिविटी के दौरान महिलाएं अक्सर इस समस्या से दो-चार होती हैं।

मेनोपॉज भी बन सकता है कारण (Pregnancy may be the cause)

गर्भावस्था या मेनोपॉज के दौरान भी यह हो सकता है। योनि के फिस्टुला से भी यह समस्या हो सकती है। फिस्टुला छेद के समान संरचना होती है, जो योनि को दूसरे अंग, जैसे मूत्राशय, बड़ी आंत या एनस से जोड़ता है। यदि फिस्टुला कोलन या मलाशय से जुड़ा हुआ है, तो यह योनि से मल के निकलने का कारण बन सकता है। प्रसव, कैंसर के उपचार, चोट और कुछ सर्जिकल प्रक्रियाओं के कारण फिस्टुला का निर्माण हो सकता है।

jaanen menoopause ke lakshan se nipatne ka tarika
मेनोपॉज के दौरान योनि फूलने या क्वीफ की समस्या हो सकती है। चित्र : अडोबी स्टॉक

वेजाइनल फ्लैटूलेंस का उपचार (Vaginal Flatulence Treatment)

योनि फूलने या क्वीफ आमतौर पर सेक्स के दौरान या व्यायाम के दौरान कुछ सेकंड तक रह सकता है। यह एक सामान्य समस्या है। इसलिए इसका बहुत अधिक कठिन इलाज करने की जरूरत नहीं पड़ती है। बहुत जटिल परिस्थितियों में डॉक्टर से संपर्क करने या सर्जरी कराने की जरूरत पड़ती है। सर्जरी के दौरान एक प्लास्टिक या रबर जैसा गोलाकार उपकरण योनि में फिट किया जाता है। यह ऊतकों को सहारा देता है।
योनि फूलने या क्वीफ को दूर करने के लिए केगेल एक्सरसाइज बेस्ट है। यह पैल्विक मांसपेशियों को मजबूत करता (Kegel Exercise for Pelvic Muscles) है।

क्वीफ दूर करने के लिए कैसे करें केगेल एक्सरसाइज (Kegel Exercise for Vaginal Flatulence or queef)

कीगल्स करने के लिए उन मांसपेशियों को सिकोड़ें, जिनका उपयोग यूरीन रोकने के लिए किया जाता है। इस संकुचन को 10 सेकंड तक रोककर रखें। फिर 10 सेकंड के लिए आराम करें। पेट की मांसपेशियों के विपरीत केवल पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियों के संकुचन पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। हर दिन 10 से 15 दोहराव के कम से कम तीन सेट तक करने का प्रयास करें। पेशाब करते समय कीगल्स नहीं करणा चाहिए। इससे यूरीनरी ब्लैडर में यूरीन जमा रह सकता है। इससे यूरीनरी ट्रैक्ट में संक्रमण (Urinary Tract Infection) होने की संभावना बढ़ सकती है

bar bar peshab aana bhi iska ek samanye lakshan ho sakta hai
अधिक देर तक यूरीन रोकने से यूरीनरी ट्रैक्ट में संक्रमण हो सकता है। चित्र: शटरस्टॉक

इन स्थितियों में करवानी पड़ सकती है सर्जरी (Surgery for vaginal Flatulence)

यदि वेजाइनल फ्लैटूलेंस के साथ कुछ गंभीर लक्षण हों, तो डॉक्टर से जरूर संपर्क करना चाहिए।
योनि से मल या मवाद (Pus) आना
योनि स्राव, जिससे बदबू आती हो
बार-बार योनि या यूरीनरी ट्रैक्ट में संक्रमण होना
योनि या योनि और गुदा के बीच के क्षेत्र में जलन या दर्द का अनुभव होना
सेक्स के दौरान दर्द होने पर तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए।

यह भी पढ़ें :-Delayed Puberty : जानिए क्यों कुछ लड़कियों को देरी से शुरू होते हैं पीरियड, क्या है पीरियड शुरू होने की सही उम्र

  • 126
लेखक के बारे में

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख