Vaginal atrophy : आपको जानना चाहिए योनि की इस दर्दनाक समस्‍या के बारे में

योनि शोष या वेजाइनल एंट्रोपी (Vaginal atrophy) किसी भी महिला को प्रभावित कर सकती है। लेकिन आप इन सरल उपायों को अपनाकर इसे अपने जीवन से दूर रख सकती हैं।
वेजाइनल एंट्रोपी में योनि में शुष्‍कता और जलन बढ़ जाती है। चित्र: शटरस्‍टाॅॅॅक
वेजाइनल एंट्रोपी में योनि में शुष्‍कता और जलन बढ़ जाती है। चित्र: शटरस्‍टाॅॅॅक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published: 13 Jan 2021, 08:37 pm IST
  • 101

योनि स्वास्थ्य समस्याओं पर अब भी खुल कर बात नहीं होती। इसलिए अधिकांश महिलाएं वेजाइनल एंट्रोपी (Vaginal atrophy) के बारे में नहीं जानती हैं। यह मूल रूप से एक ऐसी स्थिति है, जब योनि की दीवारें पतली होने लगती हैं और सूख जाती हैं। जिसके चलते संभोग वास्तव में काफी दर्दनाक हो सकता है। समय के साथ यह प्रजनन और मूत्र प्रणाली की समस्याओं का कारण भी बनता है। इसलिए यह जरूरी है कि आप इस रोग के बारे में ज्‍यादा से ज्‍यादा जानें।

हमने इस स्थिति को समझने के लिए गाजियाबाद के कोलंबिया एशिया अस्पताल की स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. रंजना बेकन से बात की। उनके अनुसार, “यह स्थिति ज्यादातर रजोनिवृत्ति के बाद होती है। शरीर में एस्ट्रोजन का स्तर कम होने से भी यह परिवर्तन हो सकता है।”

कैसे पता करें कि आपको वेजाइनल एंट्रोपी की समस्या है

डा. बेकन करहती हैं कि वेजाइनल एंट्रोपी (Vaginal atrophy) के कुछ सामान्य लक्षण होते हैं। अगर आपको लगातार योनि में सूखापन, जलन, योनि स्राव, जननांग में खुजली, पेशाब के दौरान जलन, बार-बार या अधिक पेशाब आना, मूत्र मार्ग में संक्रमण या मूत्र असंयम होता है, तो ऐसे में आपको इस समस्‍या की जांच करवानी चाहिए।

तो क्या आप इसके जोखिम में हैं?

रजोनिवृत्ति के बाद की महिलाओं में यह स्थिति अधिक सामान्य होती है, लेकिन जिन महिलाओं की योनि के जरिए डिलीवरी नहीं हुई है, उनमें भी वेजाइनल एंट्रोपी का जोखिम होता है। इसके अलावा, अपने साथी के साथ यौन गतिविधियों में कमी और धूम्रपान भी इसके जोखिम को बढ़ा सकते हैं।

वेजाइनल हाइजीन के लिए ज्‍यादातर महिलाएं यही जानना चाहती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
वेजाइनल हाइजीन के लिए ज्‍यादातर महिलाएं यही जानना चाहती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

वेजाइनल एंट्रोपी से बचने के लिए जरूरी है कि आप इन 5 चीजों का ध्‍यान रखें

1. धूम्रपान छोड़ दें

सिगरेट पीने से न केवल आपके फेफड़े प्रभावित होते हैं, बल्कि योनि शोष भी हो सकता है। धूम्रपान रक्त परिसंचरण को प्रभावित करता है। इसलिए, यह आपकी योनि में रक्त और ऑक्सीजन के प्रवाह को कम करता है। इसके अलावा, धूम्रपान भी एस्ट्रोजेन के कार्य में हस्तक्षेप करता है।

2. सेक्सुअली एक्टिव रहें

यौन गतिविधि आपकी योनि में रक्त के प्रवाह को बढ़ाती है और योनि के ऊतकों को स्वस्थ रखती है। इसलिए, यौन रूप से सक्रिय रहें। आप इसे अकेले कर सकती हैं या एक साथी के साथ भी यौन संबंध बना सकती हैं, लेकिन सुनिश्चित करें कि आप यौन रूप से सक्रिय हैं।

पॉज़िटिव सेक्स आपके लाइफ मे खुशियाँ बढ़ा देता है। चित्र: शटरस्टॉक
पॉज़िटिव सेक्स आपके लाइफ मे खुशियाँ बढ़ा देता है। चित्र: शटरस्टॉक

3. हाइड्रेटेड रहें

सुनिश्चित करें कि आप पर्याप्त पानी पी रहीं हैं और हाइड्रेटेड हैं। इससे योनि की शुष्कता को रोका जा सकेगा। इसलिए रोजाना कम से कम आठ गिलास पानी पीना न भूलें!

4. व्यायाम करना न भूलें

नियमित शारीरिक गतिविधि आपके शरीर में एक हार्मोनल संतुलन बनाने में मदद करती है। जब योनि में शुष्‍कता की बात आती है तो हार्मोन बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इसलिए, व्यायाम करने से आप इस स्थिति से बच सकती हैं।

5. फैंसी योनि उत्पादों से बचें

अपने निजी भागों पर आर्टीफिशियल कैमिकल वाले उत्पादों का उपयोग न करें। इंटीमेट वॉश, सैनिटरी नैपकिन, और टैम्पॉन जिसमें सुगंध होती है वे योनि बैक्टीरिया के सूखेपन और असंतुलन को जन्म दे सकते हैं।

तो लेडीज, अपनी योनि को ड्राईनेस और वेजाइनल एंट्रोपी जैसी समस्‍या से बचाने के लिए अपने प्राइवेट पार्ट की नियमित देखभाल करें।

यह भी पढ़ें – फेक ऑर्गेज्म शो कर रहींं हैं? एक्‍सपर्ट बता रहे हैं कि आपको ऐसा क्यों नहीं करना चाहिए

  • 101
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख