ओरल सेक्स हो या एनल सेक्स, भूल कर भी कंडोम को न करें इग्नोर

कंडाेम आपको सिर्फ अनचाही गर्भावस्था से ही नहीं बचाती, बल्कि ये आपको कई तरह की यौन संक्रमणों से भी बचाती है। ये संक्रमण ओरल या एनल सेक्स से भी हो सकते हैं!
आपको एनल और ओरल सेक्स में कंडोम का उपयोग करना चाहिए। चित्र : शटरस्टॉक
ऐप खोलें

आजकल हर कोई अपनी सेहत के प्रति जागरूक हो गया है। अनवांटेड प्रेगनेंसी कोई नहीं चाहता है, इसलिए हर कोई सेफ सेक्स में विश्वास रखता है और सेक्स के दौरान प्रोटेक्शन (Protection – IUD, Birth Control Pills) या कंडोम (Condom) का इस्तेमाल करता है। मगर, क्या आप ओरल या एनल सेक्स के दौरान कंडोम का इस्तेमाल करती हैं? शायद नहीं! बता दें कि यदि आप अनप्रोटेक्टेड (Unprotected sex) एनल (Anal sex) या ओरल सेक्स (Oral Sex) कर रही हैं, तो आपको एसटीआई (STI) और यहां तक कि कैंसर (Cancer) होने का जोखिम बढ़ जाता है। और इन सबसे बचाने में आपकी मदद करती है कंडोम। आइए जानते हैं क्यों जरूरी है आपके लिए हर तरह के सेक्स में कंडोम (benefits of condoms) का इस्तेमाल।

क्या है ओरल सेक्स?

ओरल सेक्स किसी भी प्रकार की यौन गतिविधि है जिसमें किसी व्यक्ति का मुंह, होंठ या जीभ दूसरे व्यक्ति के जननांगों या गुदा के संपर्क में आता है। संभोग के विपरीत, गर्भावस्था मौखिक सेक्स करने से नहीं हो सकती है, लेकिन आपको फिर भी प्रोटेक्शन का उपयोग करना चाहिए। क्यों? क्वींसलैंड यूनिवर्सिटी (Queensland University) द्वारा किए गए एक शोध में सामने आया है कि – सबसे आम एसटीआई (Sexually Transmitted Diseases) में से कुछ, ओरल सेक्स के माध्यम से पारित किए जा सकते हैं।

ओरल में शामिल हैं कई रिस्क। चित्र : शटरस्टॉक

ओरल सेक्स से कौन से एसटीआई हो सकते हैं?

जबकि योनि या गुदा मैथुन यानि एनल और वेजाइनल सेक्स की तुलना में ओरल सेक्स से अधिकांश एसटीआई होने का जोखिम कम होता है, फिर भी संचरण का जोखिम होता है। क्लैमाइडिया, हर्पीज, गोनोरिया, सिफलिस और एचपीवी जैसे एसटीआई सभी को मौखिक रूप से प्रेषित किया जा सकता है, जिसका अर्थ है कि वे एक व्यक्ति के मुंह से अपने साथी के जननांगों या गुदा में जा सकते हैं।

इनमें से कुछ, जैसे क्लैमाइडिया, हमेशा सीधे लक्षण नहीं दिखाते हैं, लेकिन स्वास्थ्य और प्रजनन संबंधी मुद्दों का कारण बन सकते हैं। एचपीवी, या ह्यूमन पेपिलोमावायरस, असामान्य कोशिकाओं के विकास के लिए जाना जाता है जो गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर का कारण बन सकता है, लेकिन मुंह और गले के कैंसर का कारण भी बन सकता है।

इसी बारे में डॉ. क्यूटरस उर्फ डॉ. तनाया नरेंद्र अपने इंस्टाग्राम हैंडल पर कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां साझा कर रही हैं। उन्होनें अपनी पोस्ट को कैप्शन दिया – हैप्पी प्राइड! कंडोम सिर्फ गर्भनिरोधक के लिए नहीं है – ये आपको यौन संचारित संक्रमणों से भी बचाते हैं।

देखिये उनका वीडियो –

अपने इस वीडियो में वे कंडोम और डैंटल डैम के महत्व के बारे में बात कर रही हैं। कि कैसे बिना प्रोटेक्शन के लिए गया ओरल सेक्स और एनल सेक्स एसटीआई और कैंसर का कारण बन सकता है। इसलिए इस दौरान भी कंडोम और डैंटल डैम का इस्तेमाल करना चाहिए।

ओरल सेक्स के दौरान मैं खुद को एसटीआई से कैसे बचा सकती हैं?

कंडोम और डेंटल डैम का करें इस्तेमाल

मुख मैथुन में शामिल सभी लोगों की सुरक्षा के लिए कंडोम और डेंटल डैम का उपयोग किया जा सकता है। कंडोम को लिंग को पूरी तरह से ढक कर रखना चाहिए। प्रत्येक उपयोग के बाद कंडोम को फेंक देना चाहिए और ओरल सेक्स और एनल सेक्स के बीच इसे बदलना चाहिए।

डेंटल डैम का उपयोग योनि या गुदा को ढकने के लिए किया जा सकता है। डेंटल डैम खरीदे जा सकते हैं। डेंटल डैम को भी केवल एक बार इस्तेमाल किया जाना चाहिए और फिर फेंक दिया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें : स्तनों पर होने वाली इन 3 समस्याओं से परेशान न हों, बस बचाव और उपचार पर ध्यान दें

लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story