और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

इन 5 कारणों से आपके मासिक धर्म चक्र को बाधित कर सकती है यात्रा 

Published on:2 March 2021, 12:00pm IST
यात्रा हार्मोनल परिवर्तनों में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है, जो आपके सर्कैडियन रिद्म और मासिक धर्म चक्र को प्रभावित करती है।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 81 Likes
यात्रा के दौरान आपको अपने मासिक धर्म चक्र में कुछ परिवर्तनों का अनुभव हो सकता है। चित्र-शटरस्टॉक।

किसी भी महिला से पूछें तो वह आपको बताएगी कि यात्रा के दौरान पीरियड्स कभी भी आ जाते हैं! आप देंखेंगी कि आपका शरीर कई परिवर्तनों से गुज़रता है और यही परिवर्तन आपके पीरियड्स को प्रभावित करते हैं। कभी-कभी हम पीरियड साइकिल में परिवर्तन की सही वजह बता सकते हैं जैसे हार्मोनल डिसऑर्डर लेकिन, कभी हम कारण सामने होते हुए भी नहीं पहचान पाते हैं।  

बहुत सी महिलाओं को इसका एहसास नहीं है, लेकिन यात्रा करने से मासिक धर्म चक्र पर काफी असर पड़ सकता है। फ्लो में परिवर्तन से लेकर पीरियड्स में परिवर्तन तक, यात्रा आपके पीरियड्स में कई बदलाव ला सकती है। इसलिए, यह समझना महत्वपूर्ण है कि यात्रा आपके मासिक धर्म चक्र को कैसे प्रभावित कर सकती हैं।

यात्रा के दौरान पीरियड्स में बदलाव होने के 5 मुख्य कारण:

1. आहार

जब आप बाहर यात्रा कर रही होती हैं तो आपके आहार में बदलाव आ जाता है। आप जिन पोषक तत्वों का सेवन कर रही हैं, उनके साथ कैलोरी का सेवन भी बदल जाता है और यह हमारे शरीर के अनुसार कार्य करता है। यह आपके हार्मोनल सिस्टम पर सीधा प्रभाव डाल सकता है। इसके परिणामस्वरूप, आपका मासिक धर्म चक्र परिवर्तन से गुजर सकता है।

यह भी पढ़ें: क्‍या पीसीओएस से निपटने में मदद कर सकते हैं सप्‍लीमेंट्स? जानिए क्‍या है इस पर विशेषज्ञों की राय

2. व्यायाम

यात्रा सामान्य आदतों में बदलाव लाती है और इसमें हमारी दिनचर्या शामिल है। शारीरिक गतिविधि के स्तर में बदलाव पीरियड्स के देर से आने के पीछे एक महत्वपूर्ण कारण है। हम में से अधिकांश लोग छुट्टी के दौरान काम नहीं करते। इसलिए मासिक धर्म चक्र में बदलाव देखने को मिलता हैं।

3. तनाव

तनाव भी पीरियड साइकिल को बदल सकता है। तनाव हमारे शरीर के हार्मोनल संतुलन को बाधित करता है, जिससे एस्ट्रोजन उत्पादन और ओव्यूलेशन प्रभावित होता है। जब हम यात्रा कर रहे होते हैं, तो ज्यादा पीने या नींद न लेने से अपने शरीर को तनाव में डाल सकते हैं।

4. विमान यात्रा से हुई थकान

जब हम यात्रा कर रहे होते हैं, तो स्लीप शेड्यूल में प्रमुख बदलाव हमारे मासिक धर्म चक्र को प्रभावित करते है। समय क्षेत्र में परिवर्तन और नींद की कमी आंतरिक शरीर की सर्कैडियन लय के साथ गड़बड़ कर सकती है।

पीरियड्स का पहला दिन काफी तनाव में गुज़रा। चित्र: शटरस्‍टॉक
पीरीयड्स के दौरान यात्रा आपकी परेशानियों को बढ़ा सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

5. हार्मोनल परिवर्तन

अमेरिका स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ जनरल मेडिकल साइंस के अनुसार, आपकी सर्कैडियन लय आपके शरीर के हार्मोनल उतार-चढ़ाव को नियंत्रित करने में मदद करती है। मासिक धर्म चक्र, यात्रा से प्रभावित होता है, क्योंकि यह हमारे सर्कैडियन लय के साथ जुड़ा होता है।

हालांकि, इसका मतलब यह नहीं है कि आपको घबरा जाना चाहिए या यात्रा बंद कर देनी चाहिए।

 यात्रा के कारण आपके मासिक धर्म में होने वाले परिवर्तन चिंता का एक बड़ा कारण नहीं है। जब आप अपनी दिनचर्या में वापस आ जाती हैं, तो सब कुछ सामान्य रूप से वापस आ जाता है। यदि आप अपने पीरियड्स में कोई भी बदलाव का अनुभव करती हैं, तो आपको घबराना नहीं चाहिए और अपना मूड भी खराब नहीं करना चाहिए।

यात्रा के दौरान आप अपने मासिक धर्म चक्र में किसी भी परिवर्तन के जोखिम को कैसे कम कर सकती हैं:

अपनी नियमित दिनचर्या को बनाये रखने की कोशिश करें। इसके लिए व्यायाम करें। अपने आंतरिक शरीर की घड़ी में किसी भी व्यवधान से बचने के लिए कम से कम 8 घंटे की नींद लें। किसी भी तरह के तनाव से बचें। यात्रा के दौरान हाइड्रेटेड रहने के लिए पर्याप्त पानी पिएं।

यात्रा आपके मासिक धर्म को बाधित कर सकती है, लेकिन इससे खुद को तनाव न दें! अगर, सामान्य दिनचर्या में वापस आने के बाद भी परिवर्तन जारी रहते हैं, तो आपको चिकित्सीय सलाह के लिए डॉक्टर से मिलना चाहिए।

यह भी पढ़ें: जानिए वह कारण जिससे आपका वेजाइनल डिस्‍चार्ज फीका कर देता है आपके अंडरवियर का रंग

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।