वैलनेस
स्टोर

पीरियड्स क्रेम्‍प्‍स से परेशान हैं, तो ये 4 तरह की चाय दे सकती हैं आपको इस दर्दनाक स्थिति में राहत

Published on:16 March 2021, 18:42pm IST
चाय का उपयोग पीरियड क्रेम्प्स से निपटने के लिए किया जा सकता है, जिसकी वजह से आप चिड़चिड़ापन महसूस कर सकती हैं। आइये जानते हैं 4 तरह की चाय के बारे में जो आपको ऐंठन से राहत दिलाएंगी।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 82 Likes
जी हां, चाय भी आपको पीरियड क्रेम्‍प्‍स में राहत दे सकती हैं। चित्र : शटरस्‍टॉक

एक कप चाय बहुत कुछ ठीक कर सकती है, चाहे वह गले की खराश हो या मूड स्विंग। लेकिन, क्या आपने इसका उपयोग मासिक धर्म की ऐंठन को शांत करने के लिए किया है?

किसी भी महिला से पूछें तो वह आपको बताएगी कि किस तरह पीरियड्स में बहुत ऐंठन होती है! वे केवल गतिशीलता में बाधा नहीं है, बल्कि चिड़चिड़ापन भी पैदा कर सकते हैं। हालांकि, नियमित मासिक धर्म चक्र अच्छे स्वास्थ्य का प्रमुख संकेत है।

हम पूरी तरह से ऐंठन से छुटकारा पाने में सक्षम नहीं हो सकते, लेकिन हम उसे मैनेज करने के लिए सही कदम उठा सकते हैं। चाय, जब सही सामग्री के साथ बनाई जाती है, तो उसका उपयोग पीरियड्स के दिनों में ऐंठन को कम करने के लिए किया जा सकता है।

ये 4 तरह की चाय आपको पीरियड क्रेम्प्स से निपटने में मदद करेंगी:

अदरक वाली चाय

भारतीय रसोई में पायी जाने वाली और सबसे अधिक पसंद किए जाने वाले अवयवों में से एक है अदरक। आप धीमी आंच पर सात से आठ मिनट तक अदरक और चाय की पत्तियों को गर्म पानी या दूध में डालकर अदरक वाली चाय तैयार कर सकती हैं।

एंटी इंंफ्लेलेमेटरी गुणों के कारण अदरक वाली चाय आपको राहत दे सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक
एंटी इंंफ्लेलेमेटरी गुणों के कारण अदरक वाली चाय आपको राहत दे सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

अदरक में एंटी-इन्फ्लामेट्री गुण होते हैं, और जब आप मासिक धर्म की परेशानी से जूझ रही होती हैं, तो इसे पीने के बाद आरामदायक महसूस कर सकती हैं। इसके अलावा, बायोमेड सेंट्रल में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार जिन लोगों ने दिन में तीन बार अदरक का सेवन किया, उन्हें मासिक धर्म के दौरान कम दर्द झेलना पड़ा था।

इसके अलावा, अदरक घबराहट दूर करने में भी मददगार साबित हो सकती है, जो पीरियड्स से जुड़ा एक और दुष्परिणाम है।

सौंफ की चाय

एक कप पानी में एक चम्मच पिसी हुई सौंफ और एक चौथाई चम्मच चाय की पत्ती डालें और इस मिश्रण को उबालें। इसे 8 से 10 मिनट के लिए उबलने दें। आप पानी की जगह दूध भी डाल सकती हैं। इसके अलावा, यदि आप स्‍ट्रॉन्‍ग टी की शौकीन नहीं हैं, तो आप चाय की पत्तियां डालने से भी बच सकती हैं।

पाचन क्रिया में मदद के लिए सौंफ का सेवन अक्सर भारी भोजन के बाद किया जाता है, लेकिन बहुत से लोग यह नहीं जानते कि इसकी चाय सूजन और ऐंठन दूर करने में मदद कर सकती है। इसमें एंटी-कार्मिनेटिव और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो मासिक धर्म के कारण होने वाले दर्द को कम करने में मदद कर सकतें है।

सौंफ की चाय के फायदे। चित्र- शटरस्टॉक

एएयू जर्नल में प्रकाशित शोध के अनुसार जो महिलाएं सौंफ का सेवन करती हैं, उनमें मासिक धर्म में परेशानी कम होती है।

कैमोमाइल टी

इस सुगंधित चाय को तैयार करने के लिए, दो से तीन चम्मच कैमोमाइल टी दो कप उबलते पानी में डालें। इसे पांच से आठ मिनट तक पकने दें, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप इसे कितना स्ट्रांग बनाना चाहती हैं। आप इसे मीठा करने के लिए इसमें शहद भी डाल सकती हैं।

कैमोमाइल पौधे के फूलों से तैयार की जाने वाली कैमोमाइल चाय, हमारे शरीर के लिए आरामदायक मानी जाती है। तो, पीएमएस के लक्षणों की बात आने पर यह बेहद फायदेमंद साबित हो सकती है।

ईरानी जर्नल ऑफ ऑब्सटेट्रिक्स, गायनोकोलॉजी और इनफर्टिलिटी में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार कैमोमाइल चाय दर्दनाक मासिक धर्म की ऐंठन से छुटकारा दिला सकती है।

ग्रीन टी

उबलते पानी में एक या दो चम्मच ग्रीन टी डालें और इसे 5 से 10 मिनट के लिए उबलनें दें। यदि आपको यह बहुत कड़वी लगती है, तो आप इसमें थोड़ा सा नींबू और शहद मिला सकती हैं।

ग्रीन टी गुणों की खान है। चित्र: शटरस्‍टॉक
ग्रीन टी गुणों की खान है। चित्र: शटरस्‍टॉक

ग्रीन टी को ब्लोटिंग को कम करने के लिए भी जाना जाता है, जो मासिक धर्म का एक सामान्य लक्षण है और आपको इससे असुविधा हो सकती है। इसके अलावा, इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो दर्दनाक ऐंठन से निपटने में भी मदद कर सकते हैं।

तो लेडीज, पीरियड्स क्रेम्प्स से छुटकारा पाने के लिए ये चाय ज़रूर ट्राई करें!

यह भी पढ़ें – क्या यूटीआई कर सकता है आपके पीरियड्स को प्रभावित, आइए पता करते हैं

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।